Friday, Apr 26 2019 | Time 17:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चुनाव में भगवा की लहर: ठाकरे
  • अकाली दल के शासन में नशे के कारण हजारों युवकों की मौत: औजला
  • अवकाश के दिन नहीं होगा नामांकन:शर्मा
  • प्रधानमंत्री, भाजपा और कांग्रेस पर जमकर बरसे बुआ -बबुआ
  • आचार संहिता उल्लंघन मामला: खड़गे को क्लीन चिट
  • जनता के मुद्दे उठाने के लिए वाम ताकतों का मजबूत होना जरूरी-करात
  • चीनी, चावल में नरमी; गुड़ महँगा; खाद्य तेलों, दालों में टिकाव
  • आलू के किसानों पर पेप्सी के झूठे मुकदमे वापस हो
  • अहमदाबाद में दुष्कर्म पीड़िता की मौत
  • विश्वकप में सुंदरम रवि एकमात्र भारतीय अंपायर
  • मध्य युगांडा में सड़क दुर्घटना में छह लोगों की मौत
  • गड़चिरोली में दो खूंखार नक्सलियों का आत्मसमर्पण
  • पंजाबी पॉप गायक दलेर मेहंदी भाजपा में शामिल
  • रुपया 23 पैसे मजबूत
  • विमानवाहक पोत विक्रमादित्य में आग , नौसेना अधिकारी की मौत
दुनिया


पाकिस्तान में आम चुनाव में सेना को मिली अहम भूमिका

इस्लामाबाद 20 जुलाई (रायटर) पाकिस्तान की सेना अगले सप्ताह देश में होने वाले आम चुनाव में अहम भूमिका निभायेगी। चुनाव आयोग ने सेना को मतदान केंद्रों पर तैनाती के दौरान व्यापक अधिकार दिये हैं।
आगामी 25 जुलाई को पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ जो अब जेल में बंद हैं, उनके नेतृत्व वाली पार्टी और क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान की पार्टी के बीच कांटे की टक्कर है। शरीफ ने सेना पर इमरान खान का पक्ष लेने का आरोप लगाया है जिससे सेना ने इन्कार कर दिया है।
आम चुनाव के दौरान तीन लाख 71 हजार से अधिक जवानों को तैनात किया जायेगा जो 2013 को होने वाले चुनाव से तीन गुना से अधिक है।
इस माह नोटिस में चुनाव आयोग ने सेना को यह अधिकार दिया है कि मतदान के दिन मतदान केन्द्रों में यदि कोई कानून को उल्लंघन करता हुआ पाया जाये तो उसे तुरंत गिरफ्तार कर लिया जाये और सजा दी जाये। दोषी को छह महीने की सजा हो सकती है।
कुछ राजनीतिक पार्टियों ने इस पर आपत्ति जताई है और कहा कि चुनाव में सेना को केवल सुरक्षा व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के लिए तैनात किया जाता है।
पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सांसद फरहातुल्लाह बाबर ने रायटर से कहा, “ यह पहली बार हुआ है। चुनाव आयोग ने पाकिस्तान में अगले सप्ताह होने वाले चुनाव में सेना को व्यापक शक्तियां दे दी हैं।”
सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘पाकिस्तानी सेना की भूमिका चुनाव आयोग को उन कार्यों के साथ समर्थन देना है जिनका उन्होंने मदद करने के लिए कहा है।”
चुनाव आयोग ने टिप्पणी के अनुरोध का जवाब नहीं दिया, लेकिन सेना को आदेशों के लिए सैनिकों को तटस्थ रहने की आवश्यकता है।
पाकिस्तान के स्वतंत्र मानवाधिकार आयोग ने कहा कि आम चुनाव के दौरान सेना को दी गयी शक्तियां चिंताजनक हैं।
इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ने चुनाव आयोग के इस आदेश का स्वागत किया है। पार्टी के प्रवक्ता नईम उल हक ने कहा, “ चुनाव आयोग से स्वतंत्र चुनाव कराने की उम्मीद है और यह उसी दिशा में उठाया गया कदम है।”
उप्रेती.श्रवण
रायटर
More News
नीरव मोदी की जमानत याचिका फिर खारिज

नीरव मोदी की जमानत याचिका फिर खारिज

26 Apr 2019 | 4:34 PM

लंदन, 26 अप्रैल (वार्ता) लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने भगोड़े भारतीय हीरा व्यापारी नीरव मोदी को झटका देते हुए शुक्रवार को एक बार फिर उसकी जमानत याचिका नामंजूर कर दी।

see more..
image