Sunday, Feb 24 2019 | Time 08:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चीन में खनन कंपनी में दुर्घटना, 21 की मौत
  • मानवीय सहायता लेकर वेनेजुएला पहुंचा ब्राजील का ट्रक
  • एसडीएफ ने आईएस के 180 आतंकवादियों को भेजा इराक
  • सूडान के राष्ट्रपति ने ताहिर ईल्ला को प्रधानमंत्री नियुक्त किया
दुनिया Share

राष्ट्रपति हसन रुहानी के समर्थन में उतरे खमैनी

तेहरान 21 जुलाई (रायटर) ईरान के बड़े नेता अयातुल्ला अली खमैनी ने शनिवार को ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी के उस बयान का समर्थन किया जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके तेल निर्यात को रोका जाता है तो ईरान खाड़ी देशों के तेल निर्यात को बंद कर सकता है।
श्री खमैनी ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर लिखा, “ राष्ट्रपति की टिप्पणी कि ‘अगर ईरान का तेल निर्यात नहीं होता है तो किसी क्षेत्रीय देश का तेल निर्यात नहीं होगा’ एक महत्वपूर्ण टिप्पणी थी जो ईरान की नीति तथा दृष्टिकोण को प्रतिबिंबित करती है।”
उन्होंने अपने बयान में ईरान के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के उस बयान का भी जिक्र किया जिसमें ईरान के परमाणु कार्यक्रम के मुद्दे पर वर्ष 2015 के अंतरराष्ट्रीय संधि से अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के हटने के फैसले के बाद अमेरिका के साथ वार्ता करने से इन्कार कर दिया था।
श्री खमैनी ने कहा, “ शब्द और यहां तक की अमेरिका के हस्ताक्षरों पर विश्वास नहीं किया जा सकता है। अत: अमेरिका के साथ वार्ता संभव नहीं है।”
उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ वार्ता ‘स्पष्ट गलती’ होगी क्योंकि वह भरोसेमंद नहीं है।
उल्लेखनीय है कि सभी देशों पर ईरान से तेल खरीदना बंद करने को लेकर अमेरिका के दबाव तथा अन्य प्रयास किये जाने के बाद ईरान के पड़ोसी देशों ने इस महीने के शुरू में उसके तेल पोतों को रोकने की धमकी दी थी।
इससे पहले ईरान के अधिकारियों ने होर्मुज जलमार्ग को बंद करने की धमकी दी थी। होर्मुज एक महत्वपूर्ण तेल पोत मार्ग है।
संतोष.श्रवण
रायटर
image