Tuesday, Nov 20 2018 | Time 20:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रायबरेली से अपहृत युवक मुक्त, चार बदमाश गिरफ्तार
  • अजय राजनीतिक नहीं पुत्र मोह दल बना रहे हैं:अभय चौटाला
  • दुमका में चार कट्टर नक्सली गिरफ्तार,भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद
  • नोटबंदी की दवाई से भ्रष्टाचार का दीमक नहीं बल्कि निर्दोष मरे: कमलनाथ
  • बिलासपुर जिले की मरवाही में सर्वाधिक मतदान
  • सबरीमला मामले में केरल सरकार महिलाओं पर अत्याचार कर रही है: विहिप
  • सेना का मनोबल तोड़ने वाले आप नेता पाकिस्तान से मिले: विज
  • बेटियों को ‘सम्मान’ समझने के लिए कन्या उत्थान योजना : नीतीश
  • राहुल ने मिजोरम के लोगों से की भावनात्मक अपील
  • यूपी के खिलाफ सर्विसेज के पहली पारी में आठ विकेट पर 256 रन
  • शाश्वत का पंच बेअसर, यूपी ने हासिल की 147 रनों की बढ़त
  • रंगारंग कार्यक्रम के बीच सैयद मोदी टूर्नामेंट का शुभारम्भ
  • ड्राइविंग लाइसेंस, वाहन पंजीकरण तथा प्रदूषण सर्टिफिकेट साथ रखने से अब मुक्ति
  • अापसी झगड़े में आप के जिला प्रधान गोली लगने से घायल
दुनिया Share

राष्ट्रपति हसन रुहानी के समर्थन में उतरे खमैनी

तेहरान 21 जुलाई (रायटर) ईरान के बड़े नेता अयातुल्ला अली खमैनी ने शनिवार को ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी के उस बयान का समर्थन किया जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके तेल निर्यात को रोका जाता है तो ईरान खाड़ी देशों के तेल निर्यात को बंद कर सकता है।
श्री खमैनी ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर लिखा, “ राष्ट्रपति की टिप्पणी कि ‘अगर ईरान का तेल निर्यात नहीं होता है तो किसी क्षेत्रीय देश का तेल निर्यात नहीं होगा’ एक महत्वपूर्ण टिप्पणी थी जो ईरान की नीति तथा दृष्टिकोण को प्रतिबिंबित करती है।”
उन्होंने अपने बयान में ईरान के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के उस बयान का भी जिक्र किया जिसमें ईरान के परमाणु कार्यक्रम के मुद्दे पर वर्ष 2015 के अंतरराष्ट्रीय संधि से अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के हटने के फैसले के बाद अमेरिका के साथ वार्ता करने से इन्कार कर दिया था।
श्री खमैनी ने कहा, “ शब्द और यहां तक की अमेरिका के हस्ताक्षरों पर विश्वास नहीं किया जा सकता है। अत: अमेरिका के साथ वार्ता संभव नहीं है।”
उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ वार्ता ‘स्पष्ट गलती’ होगी क्योंकि वह भरोसेमंद नहीं है।
उल्लेखनीय है कि सभी देशों पर ईरान से तेल खरीदना बंद करने को लेकर अमेरिका के दबाव तथा अन्य प्रयास किये जाने के बाद ईरान के पड़ोसी देशों ने इस महीने के शुरू में उसके तेल पोतों को रोकने की धमकी दी थी।
इससे पहले ईरान के अधिकारियों ने होर्मुज जलमार्ग को बंद करने की धमकी दी थी। होर्मुज एक महत्वपूर्ण तेल पोत मार्ग है।
संतोष.श्रवण
रायटर
More News
अफगानिस्तान हवाई हमले में 14 आतंकवादी ढेर

अफगानिस्तान हवाई हमले में 14 आतंकवादी ढेर

20 Nov 2018 | 4:06 PM

मजार-ए-शरीफ 20 नवंबर (शिन्हुआ) अफगानिस्तान की उत्तरी प्रांत के चारबोलक और बलख जिलों में पिछले 24 घंटों के दौरान हवाई हमलों में कम से कम 14 आतंकवादी मारे गये और 20 अन्य घायल हो गये।

 Sharesee more..

चीन में सड़क हादसे में नौ मरे, नौ घायल

20 Nov 2018 | 4:13 PM

 Sharesee more..

पाकिस्तान को यूएई से मिले एक अरब डालर

20 Nov 2018 | 4:13 PM

 Sharesee more..
image