Wednesday, Sep 19 2018 | Time 02:33 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अमेरिका और पोलैंड करेंगे सैन्य और खुफिया संबंधों को सुदृढ़
  • आईसीसी ने शुरू की म्यांमार से रोहिंग्याओं के पलायन की जांच
  • हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे
  • गाजा में प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी, दो की मौत 46 घायल
  • प्रधानमंत्री से सिक्किम दौरा स्थगित करने की मांग
दुनिया Share

अफगान उपराष्ट्रपति के स्वदेश लौटते ही बम विस्फोट, 14 मरे

काबुल 22 जुलाई (रायटर) अफगानिस्तान के निर्वासित उप राष्ट्रपति अब्दुल राशिद दोस्तम रविवार को स्वदेश लौटने के कुछ ही समय बाद राजधानी काबुल के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास एक आत्मघाती हमला हुआ, जिसमें कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई और 50 से अधिक घायल हो गए। श्री दोस्तम हमले में बाल-बाल बच गये।
पुलिस ने बताया कि इस विस्फोट में कम से कम 14 लोग मारे गये और 50 से अधिक घायल हो गये। यह बम विस्फोट काबुल के हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास हुआ। हवाई अड्डे पर जिस समय विस्फोट हुआ, उस समय श्री दोस्तम सरकारी अधिकारियों और समर्थकों की एक बड़ी भीड़ के साथ हवाई अड्डे से निकल रहे थे।
आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने हमले की जिम्मेेदारी ली है। संगठन की अमाक संवाद समिति ने बताया कि उसने फिदायीन हमलावर ने श्री दोस्तम के आगमन के अवसर पर मनाये जा रहे जश्न के बीच विस्फोट करके खुद को उड़ा लिया।
श्री दोस्तम के प्रवक्ता बशीर अहमद तयांज ने बताया कि दोस्तम का काफिला निकलने के दौरान विस्फोट की आवाज सुनाई दी। वह बख्तरबंद वाहन से चल रहे थे और सुरक्षित हैं।
गौरतलब है कि श्री दोस्तम मानवाधिकार उल्लंघन के आरोपों के कारण पिछले साल के मई से तुर्की में निर्वासन में रह रहे थे। उन पर अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के साथ दुर्व्यवहार और उत्पीड़न का आराेप है। उज्बेक मूल के उपराष्ट्रपति का अफगानिस्तान के उत्तरी प्रांत में दबदबा है। उनके स्वदेश लौटने के फैसले के बाद से ही अफगानिस्तान में हिंसा की आशंका जतायी जा रही थी।
यामिनी, नीरज
रायटर
image