Wednesday, Sep 26 2018 | Time 16:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • न्यायालय के निर्णय से आधार की उपयोगिता हुई प्रमाणित: जेटली
  • गांधी जयंती पर वर्धा में होगी कांग्रेस कार्य समिति की बैठक
  • परिवार को खबर नहीं, यशपाल बन गया मिक्स्ड मार्शल का हीरो
  • चीनी मिलों को फिर मिला 5538 रुपये का पैकेज
  • भूमि विवाद में कमी लाने के लिए प्रयास की जरूरत :नीतीश
  • जीएसटीएन पूरी तरह से सरकारी कंपनी होगी
  • सायना और परूपल्ली करेंगे विवाह
  • चीनी मिलाें के लिए 5538 करोड़ रुपये के पैकेज को मंजूरी
  • आधार पर न्यायालय का फैसला हमारी जीत : कांग्रेस
  • मजदूरों की मदद वाला उपकरण बनाने वाले छात्र सम्मानित
  • बंगाल में भाजपा के बंद से जनजीवन प्रभावित
  • माडल टाउन मामले में नवाज शरीफ को तलब करने की याचिका खारिज
  • अफगानिस्तान से टाई हम नहीं भूल पाएंगे: राहुल
  • हाउसिंग सोसायटी घोटाला मामले में पाकिस्तान के पूर्व मुख्य न्यायाधीश का दामाद गिरफ्तार
दुनिया Share

म्यांमार में बाढ़ से बिगड़ी स्थिति, 100,000 से अधिक लोग हुए बेघर

यांगून 30 जुलाई (रायटर) म्यांमार में बाढ़ के कारण कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई तथा 100,000 से अधिक लोग अपने घर को छोड़कर सुरक्षित जगहों पर जाने के लिए मजबूर हुए हैं।
सरकारी अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि राहत एवं बचावकर्मियों ने नावों के जरिए बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। आपदा प्रबंधन विभाग की सहायक निदेशक न्वाय न्वाय सोई ने बताया कि इस आपदा में तीन सैनिकों समेत 11 लोगों की मौत हुई है। राहत एवं बचाव कार्य में जुटे इन सैनिकों की पिछले सप्ताह के आखिर में लापता होने की सूचना मिली थी।
उन्होंने कहा, “अभी तक 11 लोगों की मौत हुई है। मौजूदा समय में 119,000 लोग विस्थापित हुए हैं। आपदा प्रबंधन विभाग बाढ़ पीड़ितों को चावल तथा नूडल्स एवं डिब्बाबंद मछलियां जैसे सूखी खाद्य सामग्रियां मुहैया करा रहा है।”
म्यामांर के समाज कल्याण मंत्री विन म्याट आये ने बताया कि दक्षिणी मोन राज्य में सोमवार को तीन डूब गए। उन्होंने कहा, कि वे लोग पानी में बह गए थे। उन्होंने कहा कि सरकार ने निचले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों से सुरक्षित स्थानाें पर जाने की गुजारिश की है। उन्होंने कहा, “हम उन लोगों को जागरूक करने की कोशिश कर रहे हैं जो यह सोचते हैं कि बाढ़ का पानी तीन या चार दिन में कम हो जाएगा। हम उन्हें अधिक सावधान करने के लिए कह रहे हैं।”
म्यांमार रेड क्रॉस सोसाइटी ने कर्मचारियों को छोटी नौकाओं से लोगों को बाढ़ से सुरक्षित निकालने तथा प्राथमिक चिकित्सा किटों और जल शोधन गोलियों को वितरित करने के लिए भेजा है। रेड क्रॉस सोसाइटी के संचार निदेशक ये विंट आंग ने कहा, “हम असहाय लोगों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं और हमारे पास इसकी क्षमता है।”
इससे पहले वर्ष 2015 में म्यांमार में भयंकर बाढ़ आई थी जिसमें सौ लोगों मारे गए थे और 330,000 से अधिक विस्थापित हुए थे।
संयुक्त राष्ट्र ने रविवार को म्यांमार के बाढ़ को ‘बड़ी चिंता’ करार दिया। संरा के अनिवासी एवं मानवाधिकार मामलों के समन्वयक नट ओस्टबी ने कहा, “संरा म्यांमार में अपने भागीदारों, संसाधनों तथा क्षमताओं को संगठित कर रहा है और म्यांमार सरकार द्वारा बाढ़ पीड़ितों की निरंतर की जा रही सहायता में सहयोग करने की पेशकश कर रहा है।”
संतोष जितेन्द्र
रायटर
More News

ताइ‌वान को हथियार ना बेचे अमेरिका: चीन

26 Sep 2018 | 1:42 PM

 Sharesee more..
सुषमा ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा सुधार पर की चर्चा

सुषमा ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा सुधार पर की चर्चा

26 Sep 2018 | 9:28 AM

न्यूयार्क 26 सितम्बर(वार्ता) विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जी-4 देशों के विदेश मंत्रियों के साथ बुधवार को यहां एक बैठक की और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा सुधारों पर प्रगति को लेकर चर्चा की।

 Sharesee more..
image