Monday, Sep 24 2018 | Time 15:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जीवन सुगमता में प्रथम रहा पुणे
  • कांग्रेस की सीवीसी से राफेल मामले की जांच की गुहार
  • पितृऋण से मुक्त होने का अवसर देता है “ पितृपक्ष”
  • टैफ़े ने लॉँन्च किया ट्रैक्टर रेंटल प्‍लेटफॉर्म ‘जेफार्म सर्विसेज’
  • राहुल भारत के अगले प्रधानमंत्री: रहमान मलिक
  • मुंबई में पेट्रोल 90 के पार दिल्ली में 83 रुपये के निकट
  • टीवीएस स्टार सिटी प्लस का नया संस्करण लांच
  • अपराधियों ने किराना व्यवसायी को मारी गोली
  • भारती एक्सा लाईफ ने व्हाट्सऐप के जरिये की क्लेम प्रोसेसिंग की शुरुआत
  • प्रमुख मुद्राओं में तेजी
  • सोना 100 रुपये चमका;चांदी 50 रुपये फिसली
  • कुपवाड़ा में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, दो आतंकवादी ढेर
  • त्रिपुरा हथियारों के साथ तीन लोग गिरफ्तार
  • सरकार का मकसद आम जनता का जीवन सरल बनाना: पुरी
  • राफेल को लेकर राहुल का मोदी पर फिर हमला
दुनिया Share

इसी बीच, ईरान की शक्तिशाली सेना रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के प्रमुख मेजर जनरल मोहम्मद अली जाफरी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की तेहरान के साथ बातचीत की पेशकश को खारिज कर दिया है।
ईरान की फार्स समाचार एजेंसी से मंगलवार को बातचीत के दौरान रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर मेजर जनरल मोहम्मद अली जाफरी ने कहा, “श्री ट्रम्प। ईरान उत्तर कोरिया नहीं है जो बैठक के लिए आपके प्रस्ताव को स्वीकार कर ले। आपके बाद बनने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति भी वो दिन नहीं देख पायेंगे।”
अमेरिका के ईरान परमाणु समझौते से अलग होने के बाद दोनों देशों के बीच रिश्ते काफी तल्ख हुए हैं। मई में श्री ट्रम्प ने इस अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते से अमेरिका के अलग होने की घोषणा की थी।
उल्लेखनीय है कि 22 जुलाई को श्री ट्रम्प ने एक ट्वीट कर ईरानी राष्ट्रपति को चेतावनी देते हुए कहा,“अमेरिका को कभी भी धमकी न दें अथवा आप ऐसे परिणामों का सामना करेंगे, जिससे अब तक इतिहास में कुछ ही पीड़ित हुए हैं। अब हम एक ऐसा देश नहीं हैं जो हिंसा और मृत्यु के आपके विक्षिप्त शब्दों के लिए खड़े रहेंगे। सचेत रहो।”
ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने भी एक ट्वीट कर अमेरिकी राष्ट्रपति को चेतावनी दी थी कि अमेरिका ईरान के खिलाफ शत्रुतापूर्ण नीतियां न अपनाये अन्यथा ‘ईरान के साथ युद्ध नहीं महायुद्ध’ के लिए तैयार रहे।
गौरतलब है कि वर्ष 2015 में ईरान ने अमेरिका, चीन, रूस, जर्मनी, फ्रांस और ब्रिटेन के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इस समझौते के तहत ईरान ने उस पर लगे आर्थिक प्रतिबंधों को हटाने के बदले अपने परमाणु कार्यक्रम को सीमित करने पर सहमति जताई थी।
रवि
रायटर
More News
संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में कश्मीर मामले को उठायेगा पाकिस्तान

संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में कश्मीर मामले को उठायेगा पाकिस्तान

24 Sep 2018 | 1:47 PM

संयुक्त राष्ट्र 24 सितंबर (वार्ता) पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के नेतृत्व में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल इस सप्ताह से शुरू हो रही संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में भाग लेने के लिए न्यूयॉर्क पहुंच चुका है।

 Sharesee more..
इमरान खान को अयोग्य ठहराने वाली याचिका खारिज

इमरान खान को अयोग्य ठहराने वाली याचिका खारिज

24 Sep 2018 | 1:38 PM

इस्लामाबाद 24 सितंबर(वार्ता) पाकिस्तान उच्च न्यायालय से प्रधानमंत्री इमरान खान को बड़ी राहत मिली है। शीर्ष न्यायालय ने उन्हें अयोग्य ठहराने के लिए दायर याचिका को सोमवार को निरस्त कर दिया।

 Sharesee more..
पाकिस्तान के दो मुख्य दल हो रहे हैं एकजुट

पाकिस्तान के दो मुख्य दल हो रहे हैं एकजुट

24 Sep 2018 | 11:08 AM

इस्लामाबाद 24 सितम्बर (वार्ता) पाकिस्तान में हाल ही में हुए राष्ट्रपति पद और नेशनल असेंबली के चुनावों में एक दूसरे की धुर विरोधी रहीं पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) उप चुनाव में हाथ मिलाने की तैयारी कर रही हैं।

 Sharesee more..

24 Sep 2018 | 11:01 AM

 Sharesee more..
image