Tuesday, Apr 23 2019 | Time 17:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विशेष दस्ते ने किया एक क्विंटल फल और सब्जियां को नष्ट
  • मोदी सरकार की उद्योग, कृषि विकास की कोई नीति नहीं: पवार
  • हरियाणा पुलिस का छह बदमाशों पर एक-एक लाख रुपये का ईनाम घोषित
  • मोदी सरकार ने राजनीतिक परिभाषा बदलने का काम किया - बृजेंद्र सिंह
  • मध्य फिलीपींस में छह सैनिक मरे
  • वियतनाम में सैन्य विमान दुर्घटनाग्रस्त, सैनिक घायल
  • बैंकिंग, ऑटो में बिकवाली से तीसरे दिन टूटा बाजार
  • कांग्रेस प्रत्याशी औजला ने दाखिल किया नामांकन
  • उम्मीदवारों को चुनावी नैया पार लगाने के लिये डेरों का सहारा
  • पीयरलेस से 1514 करोड़ रुपए की वसूली
  • कांग्रेस की न्याय योजना करेगी गरीबी का खात्मा : कुलदीप बिश्नोई
  • कांग्रेस ने शिवराज सहित भाजपा के चार नेताओं के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत
  • आईएस ने श्रीलंका हमले की ली जिम्मेदारी
  • शारदा चिट फंड घोटाले का मुख्य आरोपी अस्पताल में भर्ती
  • मराठवाडा में अपराह्न तीन बजे तक 47़ 5 फीसदी मतदान
दुनिया


शपथ ग्रहण समारोह के आमंत्रण को लेकर अपनी पसंद को तरजीह देंगे इमरान

इस्लामाबाद 02 अगस्त (वार्ता) पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ अध्यक्ष इमरान खान ने अपने शपथ ग्रहण समारोह में विदेशी नेताओं अथवा हस्तियों को आमंत्रित करने के बजाय अपनी पसंद की हस्तियों को बुलाने का निर्णय लिया है।
पाकिस्तान के समाचारपत्र द डान की गुरुवार को प्रसारित रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी।
इससे पहले रिपोर्ट आयी थी कि श्री खान ने पूर्व भारतीय क्रिकेट हस्तियों सुनील गावस्कर, कपिल देव और नवजोत सिंह सिद्धू को शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रित किया है। सिद्धू ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा था कि यह निजी आमंत्रण है और वह इसका सम्मान करेंगे।
द डान की रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी ने पहले बहुत सी विदेशी हस्तियों को आमंत्रित किया था, जिनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों तथा बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान के नाम शामिल थे।
पार्टी प्रवक्ता फवाद चौधरी के मुताबिक श्री खान ने शपथ ग्रहण को भव्य समारोह के बजाय सादे रूप से आयोजित किये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा,“ श्री खान ऐवान-ए-सदर (राष्ट्रपति आवास) में एक सादे समारोह में शपथ लेंगे। इसके अलावा यह भी निर्णय लिया गया है कि समारोह में किसी विदेशी अथिति को आमंत्रित नहीं किया जायेगा। यह पूरी तरह राष्ट्रीय कार्यक्रम होगा। श्री खान के सिर्फ कुछ करीबी मित्रों को ही बुलाया जायेगा।”
पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने हाल में संपन्न संसदीय चुनावों में 115 सीटें हासिल की हैं और उसके सहयोगी दलों एवं चुनाव में विजयी निर्दलीय सदस्यों की ओर से समर्थन जताये जाने के बाद नयी सरकार के गठन के साथ ही पार्टी अध्यक्ष के अगले प्रधानमंत्री बनने की संभावनायें प्रबल हो रही हैं।
टंडन.श्रवण
वार्ता
image