Wednesday, Nov 14 2018 | Time 05:40 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
दुनिया Share

श्री रूहानी ने कहा यूरोपीय सहयोगी राष्ट्र श्री ट्रंप को 2015 के परमाणु समझौते से पीछे हटने से रोकने में असफल रहे जिसके अंतर्गत ईरान अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध हटाने के बदले अपने परमाणु कार्यक्रमों को रोकने पर सहमत हुआ था। अमेरिका को अपने इस कदम के लिए पछताना पड़ेगा। अमेरिका के इस कदम को अन्य देशों ने खारिज कर दिया है।
उन्होंने कहा, “अमेरिका को ईरान पर प्रतिबंध लगाने के लिए पछताना पड़ेगा। अमेरिका पहले ही विश्व में अलग-थलग पड़ चुका है। अमेरिका ईरान के बच्चों, मरीजों और पूरे राष्ट्र प्रतिबंध थोप रहा है।”
श्री रूहानी ने ईरान के लोगों से अपील की कि एकजुट होकर मुश्किल हालतों का सामना करें। उन्होंने कहा, “हम पर प्रतिबंधों का दबाव है लेकिन हम एकजुटता के साथ इससे पार पा सकते हैं।”
प्रतिबंधों के कारण ईरान की अर्थव्यवस्था कमजोर हो रही है। ईरान की मुद्रा रियाल अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिर रही है और सरकार प्रदर्शनों का दमन कर रही है।
ईरान के वरिष्ठ अधिकारियों और सैन्य कमांडरों ने श्री ट्रंप के बातचीत के प्रस्ताव को मूल्यहीन करार देते हुए खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि श्री ट्रंप की कथनी और करनी में विरोधाभास है।
दिनेश
रायटर
More News
श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

13 Nov 2018 | 7:48 PM

कोलंबो 13 नवंबर (शिन्हुआ) श्रीलंका के सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के संसद भंग करने के फैसले पर मंगलवार को रोक लगा दी, सुप्रीम कोर्ट के तीन न्यायाधीशों की खंडपीठ ने यह रोक लगाकर विपक्ष समेत विभिन्न वर्गाें को अंतरिम राहत प्रदान की।

 Sharesee more..
नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

13 Nov 2018 | 2:25 PM

इस्लामाबाद 13 नवंबर (वार्ता) पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (नेब) की पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज की एवेन्यू फील्ड अपार्टमेंट मामले में रिहाई के इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ याचिका स्वीकार करते हुए मामले की नियमित सुनवायी के लिए बड़ी पीठ के गठन का आदेश दिया।

 Sharesee more..
image