Wednesday, Nov 14 2018 | Time 01:33 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
दुनिया Share

नयी दिशा, नया भविष्य’ तलाशना जरूरी: बिसारिया

इस्लामाबाद 15 अगस्त (वार्ता) पाकिस्तान में भारत के राजदूत अजय बिसारिया ने बुधवार को भारत के 72 वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आने वाले दिनों में दोनों देशों के बीच कुछ सकारात्मक गतिविधियों के संकेत दिये।
श्री बिसारिया ने यहां कहा कि भारत और पाकिस्तान ‘नये भविष्य’ के लिए ‘नयी दिशा’ में आगे बढ़ रहे हैं, जो गत 71 वर्षों की गतिविधियों से पृथक हैं।
उन्होंने विवोन टेलीविजन चैनल से बातचीत करते हुए कहा, “ भारत के लिए यह एक महत्वपूर्ण क्षण है। हम आगे बढ़ रहे हैं और भारत वसुधैव कुटुम्बकम के अंतर्निहित दर्शन के साथ दुनिया के बाकी देशों से रिश्ते स्थापित कर रहा है जिसका मतलब है कि पूरी दुनिया एक परिवार है। ”
श्री बिसारिया ने कहा, “ हम आगे बढ़ने की उम्मीद करते हैं। नया पाकिस्तान जो नये भारत के साथ ही बनाया जा रहा है, आगे बढ़ेगा और गत 71 वर्षों से भिन्न होगा।” उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के भावी प्रधानमंत्री इमरान खान ने नया पाकिस्तान का नारा दिया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘न्यू इंडिया’ का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं।
उन्होंने कहा, “इस पृष्ठभूमि पर दोनों देशों को इस उम्मीद के साथ आगे बढ़ना चाहिए कि हम समृद्ध, शांतिपूर्ण और हिंसा से मुक्त दक्षिण एशिया विकसित कर रहे हैं और हम (दोनों देश) एक नयी दिशा की ओर बढ़ रहे हैं। ”
संतोष.श्रवण
वार्ता
More News
श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

13 Nov 2018 | 7:48 PM

कोलंबो 13 नवंबर (शिन्हुआ) श्रीलंका के सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के संसद भंग करने के फैसले पर मंगलवार को रोक लगा दी, सुप्रीम कोर्ट के तीन न्यायाधीशों की खंडपीठ ने यह रोक लगाकर विपक्ष समेत विभिन्न वर्गाें को अंतरिम राहत प्रदान की।

 Sharesee more..
नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

13 Nov 2018 | 2:25 PM

इस्लामाबाद 13 नवंबर (वार्ता) पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (नेब) की पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज की एवेन्यू फील्ड अपार्टमेंट मामले में रिहाई के इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ याचिका स्वीकार करते हुए मामले की नियमित सुनवायी के लिए बड़ी पीठ के गठन का आदेश दिया।

 Sharesee more..
image