Wednesday, Nov 14 2018 | Time 04:15 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
दुनिया Share

अमेरिका ने रूस और चीन की कंपनियों पर लगाई पाबंदी

वाशिंगटन 15 अगस्त (रायटर) अमेरिका ने उत्तर कोरिया के खिलाफ लगाये गये उसके प्रतिबंधों को उल्लंघन करने के आरोप में रूस और चीन को आड़े हाथों लेते हुए उनकी कुछ कम्पनियों को प्रतिबंधित कर दिया है।
वित्त मंत्रालय के अनुसार उत्तर कोरिया के जहाजों को मदद पहुंचाने तथा शराब और तम्बाकू की बिक्री के कारण रूस की एक बंदरगाह सेवा एजेंसी तथा चीन की कुछ कंपनियों पर बुधवार को प्रतिबंध लगा दिया।
अमेरिका के वित्त मंत्रालय ने एक बयान जारी करके कहा कि चीन स्थित डालियान सून मून स्टार इंटरनेशनल लॉजिस्टिक्स ट्रेडिंग को. लिमिटेड और इसके सिंगापुर स्थित एसआईएनएसएमएस प्राइवेट लिमिटेड उत्तर कोरिया को हर साल लगभग एक अरब डॉलर से अधिक की शराब तथा सिगरेट की आपूर्ति करती है।
इसके अलावा अमेरिका ने रूस के प्रोफिनेट प्राइवेट लिमिटेड तथा इसके महानिदेशक वसिलि अलेक्संड्रोविंच कोल्चनोव को उत्तर कोरिया के जहाजों के लिए कम से कम छह बार बंदरगाह उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबंधित किया है।
मंत्रालय ने बताया कि कोल्चनोव निजी तौर पर उत्तर कोरिया से संबंधित समझौतों तथा रूस में उत्तर कोरिया के प्रतिनिधित के तौर पर काम कर रहे थे।
अमेरिका के वित्त मंत्री स्टीवन मनुचिन ने कहा, “चीन, सिंगापुर तथा रूस स्थित इन कंपनियों पर प्रतिबंध अमेरिकी कानून के तहत लगाया गया है।उत्तर कोरिया शिपिंग उद्योग से जुड़ी हुई ये कंपनियां उत्तर कोरिया को मदद पहुंचाने के लिए जिम्मेदार है।”
संतोष आशा
रायटर
More News
श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

13 Nov 2018 | 7:48 PM

कोलंबो 13 नवंबर (शिन्हुआ) श्रीलंका के सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के संसद भंग करने के फैसले पर मंगलवार को रोक लगा दी, सुप्रीम कोर्ट के तीन न्यायाधीशों की खंडपीठ ने यह रोक लगाकर विपक्ष समेत विभिन्न वर्गाें को अंतरिम राहत प्रदान की।

 Sharesee more..
नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

13 Nov 2018 | 2:25 PM

इस्लामाबाद 13 नवंबर (वार्ता) पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (नेब) की पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज की एवेन्यू फील्ड अपार्टमेंट मामले में रिहाई के इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ याचिका स्वीकार करते हुए मामले की नियमित सुनवायी के लिए बड़ी पीठ के गठन का आदेश दिया।

 Sharesee more..
image