Monday, Nov 19 2018 | Time 23:29 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मुख्यमंत्री ने सूखाग्र्रस्त कच्छ का दौरा किया, की समीक्षा बैठक
  • प्रेमी युगल ने की आत्महत्या
  • गांवों में बदलाव का वाहक बनेगा कृषि विश्वविद्यालय : रघुवर
  • गुजरात सरकार बीएसएनएल की बजाय वोडाफोन की महंगी सेवाएं क्यों ले रही - कांग्रेस
  • डेयरी इंजीनियरिंग कॉलेज में नये साल से शुरू होगी पढ़ाई
  • आरबीआई के इकोनाॅमिक कैपिटल फ्रेमवर्क के परीक्षण के लिए विशेषज्ञ समिति बनाने का निर्णय
  • कृषि ऋण को लेकर मोदी की टिप्पणी हैरत करने वाली :कुमारस्वामी
  • गोरखपुर के पुलिस क्षेत्राधिकारी यातायात संतोष कुमार सिंह निलंबित
  • सांबा में ग्रेनेड विस्फोट में बीएसएफ जवान शहीद
  • फोटो कैप्शन तीसरा सेट
  • मऊ में सरे शाम बंगाली चिकित्सक की गोली मारकर हत्या से सनसनी
  • फोटो कैप्शन-दूसरा सेट
  • बिहार की समृद्धि का आधार कृषि : लालजी
  • वाराणसी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आग लगाने वाला आरोपी गिरफ्तार
  • शुभंकर को यूरोपीय टूर में रूकी ऑफ द ईयर अवार्ड
दुनिया Share

ईरान के धार्मिक नेता को‘ इस्लाम का अपमान’ करने पर पांच वर्ष जेल की सजा

लंदन, 18 अगस्त(रायटर) ईरान में एक धार्मिक आंदोलन के संस्थापक नेता मोहम्मद अली ताहिरी को इस्लाम का अपमान करने के मामले में पांच वर्ष जेल की सजा सुनाई गई है। उनके वकील ने संवाद समिति आईएलएनए को शनिवार को यह जानकारी दी है।
उनके वकील माेहम्मद अलीजादेह तबाताबाई ने बताया कि धार्मिक आंदोलन एरफान हालघे के संस्थापक ताहिरी को 2011 में गिरफ्तार किया गया था और उन्हें ‘ इस्लाम का अपमान करने तथा धरती पर भ्रष्टाचार फैलाने का दोषी पाया गया है।
इससे पहले उन्हें 2015 में रिवोल्यूशनरी कोर्ट ने मौत की सजा सुनाई थी लेकिन उन्हें 2016 में बरी कर दिया गया था। इसके बाद अदालत ने 2017 में फिर उन्हें मौत की सजा सुनाई और अब इसके स्थान पर पांच वर्ष कैद की सजा सुनाई गई है।
वकील ने बताया कि वह इस फैसले के खिलाफ अपील करेंगें। उनका कहना है “ हमें उम्मीद है कि वादे के अनुसार इस हफ्ते उनकी रिहाई हो जाएगी क्याेंकि वह आधी सजा तो भुगत चुके हैं।”
उनकी सजा को लेकर एक मानवाधिकार कार्यकर्ता ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद से वह अपना अधिक समय अकेले ही व्यतीत कर रहे हैं।
उन्हाेंने परिवार अौर वकीलों से नहीं मिलने दिए जाने तथा उन्हें और परिवार को मौत की धमकी दिए जाने के विरोध में कईं बार भूख हड़ताल की है ।
एमनेस्टी इंटरनेशनल ने कहा है कि वह “सच्चाई के कैदी” हैं जिन्हें अपनी बातों और विचारों तथा अभिव्यक्ति के अधिकारों के इस्तेमाल को लेकर निशाना बनाया गया है।
जितेन्द्र
रायटर
More News
इमरान ने बानी गाला संपत्तियों को नियमित कराने के लिए किया आवेदन

इमरान ने बानी गाला संपत्तियों को नियमित कराने के लिए किया आवेदन

19 Nov 2018 | 6:05 PM

इस्लामाबाद 19 नवंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री इमरान खान ने बानी गाला में अपनी दो संपत्तियों के नियमितीकरण के लिए प्राधिकरण के पास आवेदन किया है।

 Sharesee more..
image