Monday, Sep 24 2018 | Time 09:56 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इम्फाल में विस्फोट, तीन घायल
  • अमेरिका और चीन के बीच तेज हुयी व्यापारिक जंग
  • क्यूबा के नए राष्ट्रपति अमेरिकी प्रतिबंध का करेंगे विरोध
  • मैक्रों की लोकप्रियता में आैर गिरावट : सर्वे
  • स्विट्जरलैंड के दूसरे प्रांत में भी बुर्का पर लगा प्रतिबंध
  • अपहृत नौका चालक दल के सदस्यों की हुई पहचान
  • मालदीव के राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार सोलिह जीते
  • मालदीव राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार की जीत
  • गब्बर और हिटमैन ने पाकिस्तान को धो डाला, भारत फाइनल में
  • गब्बर और हिटमैन ने पाकिस्तान को धो डाला, भारत फाइनल में
  • अफगानिस्तान बाहर, बंगलादेश-पाकिस्तान में होगा सेमीफाइनल
  • कांगो में विद्रोहियों के हमले में 14 नागरिक मारे गये
  • हिमाचल में सड़क हादसों में छह की मौत,38 घायल
  • भाजपा के शीर्ष नेताओं में पर्रिकर से इस्तीफा मांगने का साहस नहीं : कांग्रेस
दुनिया Share

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर देश-विदेश में हिंदी से जुड़े संस्थान और पुरस्कार शुरू करने की अनुशंसा की गयी। ग्रामीण पृष्ठभूमि से आने वाले फिल्मकारों को प्रोत्साहन देने पर बल दिया गया ताकि फिल्मों के माध्यम से असल भाषा सामने आ सके। साथ ही बाल साहित्य को बढ़ावा देने के लिए बाल साहित्य अकादमी बनाने और पत्रिकाओं एवं मीडिया में अधिक से अधिक बाल साहित्य को शामिल करने की अनुशंसा की गई।
समापन समारोह के मुख्य अतिथि और मॉरीशस के कार्यवाहक राष्ट्रपति परमशिवम पिल्लै वायापुरी ने हिन्दी को संयुक्त राष्ट्र की सातवीं आधिकारिक भाषा के रूप में स्थान दिलाने की मांग को तर्कसंगत बताया और कहा कि सम्मलेन ने इस उद्देश्य की प्राप्ति की इच्छा और प्रतिबद्धता को काफी मजबूत किया है। उन्होंने कहा कि मॉरीशस के राष्ट्रीय पक्षी ‘डोडो’ के समान हिन्दी लुप्त नहीं होगी और संयुक्त राष्ट्र में अपना स्थान पाकर रहेगी। इसके लिए सभी को एकसाथ खड़ा होना होगा। मॉरीशस इस उद्देश्य में भारत के सहयोगी के तौर पर सबसे अग्रिम पंक्ति में खड़ा होगा।
श्री वायापुरी ने कहा कि फिल्मों के माध्यम से भारतीय संस्कृति का संरक्षण विषय पर कल आयोजित सत्र काफी सकारात्मक रहा। उन्होंने कहा कि उनका मत है कि हिन्दी विश्व में केवल भाषा का ही नहीं बल्कि भारतीय संस्कृति एवं मूल्यों का भी प्रचार करती है। सत्र के दौरान विरोध करने वालों के मत से भी वह कुछ हद तक सहमत हैं। उन्होंने कहा कि हिन्दी फिल्मों में ऐसे दृश्य दिखाये जाते हैं, जो भारतीय मूल्यों से मेल नहीं खाते। इनमें अनावश्यक हिंसा होती है। इसे तर्कसंगत बनाया जाना चाहिए।
कार्यवाहक राष्ट्रपति ने कहा कि फिल्मों में मानवीय व्यवहार पर ध्यान दिया जाना चाहिए। साथ ही आलोचनाओं पर ध्यान देते हुए अनावश्यक हिंसा और भारतीय मूल्यों से मेल नहीं खाने वाली स्थिति को कम करना या हटाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाषा बोलना ही पर्याप्त नहीं है। लाखों लोग जो इस भाषा को बोलते नहीं हैं लेकिन वे इसका संदेश ग्रहण करने को इच्छुक हैं, उनकी भावनाओं का भी ख्याल रखा जाना चाहिए।
शिवा उपाध्याय सतीश
जारी वार्ता
More News
मैक्रों की लोकप्रियता में आैर गिरावट : सर्वे

मैक्रों की लोकप्रियता में आैर गिरावट : सर्वे

24 Sep 2018 | 9:20 AM

पेरिस 24 सितंबर (रायटर) फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की लोकप्रियता में सितंबर में और गिरावट दर्ज की गयी है।

 Sharesee more..
क्यूबा के नए राष्ट्रपति अमेरिकी प्रतिबंध का करेंगे विरोध

क्यूबा के नए राष्ट्रपति अमेरिकी प्रतिबंध का करेंगे विरोध

24 Sep 2018 | 9:05 AM

हवाना 24 सितंबर (रायटर) क्यूबा के नए राष्ट्रपति मिगुएल डायज कैनेल अमेरिका के अपने पहले दौरे पर रविवार को न्यूयॉर्क पहुंचे जहां वह संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने देश पर दशकों पुराने अमेरिकी व्यापार प्रतिबंध की निंदा करेंगे।

 Sharesee more..

अपहृत नौका चालक दल के सदस्यों की हुई पहचान

24 Sep 2018 | 5:36 AM

 Sharesee more..
image