Saturday, Nov 17 2018 | Time 18:35 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • छत्तीसगढ़ के आखिरी चरण की 72 सीटो पर कल शाम होगा प्रचार समाप्त
  • खरखौदा में बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा फुटवियर पार्क
  • भाजपा सरकार ने एमपी को ‘बीमारू’ से विकसित राज्य बनाया : जेटली
  • लक्ष्य सेन सेमीफाइनल में
  • लक्ष्य सेन सेमीफाइनल में
  • नवाब नगरी में दिखेगा सिंधू और सायना का जलवा
  • नवाब नगरी में दिखेगा सिंधू और सायना का जलवा
  • लालजी टंडन से महाराष्ट्र भाजपा के महामंत्री ने की मुलाकात
  • सीबीआई ने जीएसटी के तीन अधिकारियों को रिश्वत लेते किया गिरफ्तार
  • किसान का अपमान कर रहे हैं मोदी : राहुल
  • पटना में खुले नाले में गिरा दस वर्षीय दीपक
  • सीबीआई को प्रवेश नहीं करने देने के निर्णय पर जेटली की आपत्ति
  • द अफ्रीका ने 10 ओवर मुकाबले में आस्ट्रेलिया को हराया
  • रिश्वत लेते हुए सिपाही गिरफ्तार
  • सोलिह के शपथ ग्रहण समारोह के लिए मालदीव पहुंचे मोदी
दुनिया Share

राखिने प्रांत में आतंकवाद बड़ा खतरा बना हुआ है: सू की

सिंगापुर 21 अगस्त (रायटर) म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की ने कहा है कि उनके देश के राखिने प्रांत में आतंकवाद का खतरा बना हुआ है जिसके क्षेत्र के लिए गंभीर नतीजे हो सकते हैं।
सुश्री सू की ने सिंगापुर में मंगलवार को एक व्याख्यान में कहा कि राखिने प्रांत में आतंकवादी गतिविधियां, जो मानवीय संकट के शुरुआती कारण के रूप में सामने आयीं, वास्तविक हाेने के साथ ही आज भी बरकरार हैं। इस सुरक्षा चुनौती से जब तक निपटा नहीं जायेगा तब तक साम्प्रदायिक हिंसा का खतरा बना रहेगा। यह ऐसा खतरा है जिसके गंभीर दुष्परिणाम हो सकते हैं जो न केवल म्यांमार बल्कि इस क्षेत्र के अन्य देशों के लिए भी संकट का कारण बनेगा।
नोबेल पुरस्कार से सम्मानित सुश्री सू की को म्यांमार में लोकतंत्र के लिए संघर्ष करने वाली महिला के रूप में जाना जाता रहा है लेकिन उत्तरी राखिने प्रांत में राेहिंग्या मुसलमानों पर सैन्य कार्रवाई को लेकर उनकी काफी आलोचना हुई है। उन घटनाओं को संयुक्त राष्ट्र ने ‘समूह विशेष का सफाया’ करार दिया है।
गौरतलब है कि पिछले वर्ष करीब 700000 रोहिंग्या मुसलमान सुरक्षा चौकियों पर हमले के बाद सेना की जवाबी कार्रवाई के पश्चात पड़ोसी देश बंगलादेश चले गये थे। म्यांमार बौद्ध बहुल देश है। म्यांमार ने हालांकि ‘समूह विशेष का सफाये’ से इन्कार किया है और उसका कहना है कि रोहिंग्या मुसलमानों पर कोई अत्याचार नहीं किये गये। म्यांमार का आरोप है कि रोहिंग्या आतंकवादी हरकतों में शामिल रहे हैं।
श्रवण, यामिनी
रायटर
More News
नेतृत्व में ‘यू टर्न’ आवश्यक है : इमरान

नेतृत्व में ‘यू टर्न’ आवश्यक है : इमरान

17 Nov 2018 | 4:49 PM

इस्लामाबाद 17 नवंबर (वार्ता) पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि किसी देश के वास्तविक नेता को हमेशा ‘यू टर्न’ लेना पड़ता है तथा स्थिति के अनुरूप और समय की जरूरत के आधार पर नेता अपनी रणनीति में बदलाव करते हैं।

 Sharesee more..
अफगानिस्तान में 70 तालिबान आतंकवादी मारे गये

अफगानिस्तान में 70 तालिबान आतंकवादी मारे गये

17 Nov 2018 | 3:34 PM

काबुल 17 नवंबर (वार्ता) अफगानिस्तान के विभिन्न प्रांतों में पिछले 24 घंटे के दौरान चलाये गये सेना के अभियान के दौरान करीब 70 तालिबान आतंकवादियों को मार गिराया गया जबकि 15 अन्य घायल हो गये।

 Sharesee more..
image