Monday, Feb 18 2019 | Time 22:10 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भाजपा आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई का राजनीति फायदा लेने के प्रयास में-कांग्रेस
  • अमृतसर के निगम आयुक्त पर किया जाए मामला दर्ज: भोला
  • अल-जुबेर ने ईरान पर आतंकवाद प्रायोजक होने का आरोप लगाया
  • पंजाब का आम बजट मोदी सरकार की योजनाओं का प्रतिबिंव: कालिया
  • पाकिस्तान ने सऊदी शाहज़ादे को सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से नवाज़ा
  • पंजाब का आम बजट दिशाहीन: छीना
  • कौशल विकास योजनाओं के लाभार्थी युवा हो रहे आत्मनिर्भर: अनिल जोशी
  • राज्यपाल ने दी प्रदेशवासियों को संत रविदास जयंती की शुभकामनाएं
  • राज्यपाल ने मेजर ढौंढियाल और मेजर बिष्ट की शहादत पर शोक व्यक्त किया
  • कुम्भ स्नान के लिए जा रही बस दुर्घटनाग्रसत,दो महिला श्रद्धालुओं की मृत्यु
  • त्रिवेन्द्र ने मेजर विभूति कुमार ढौंडियाल की शहादत पर शोक व्यक्त किया
  • कुपवाड़ा में अनुपस्थित पाये जाने पर 70 कर्मचारी निलंबित
  • सवर्ण आरक्षण विधेयक पर राजद-कांग्रेस का चेहरा बेनकाब : सुशील
  • उप्र पुलिस का भर्ती परिणाम घोषित,महिलाओं में प्रथम स्थान पर बागपत की प्रिन्सी
  • आईसीजे में भारत ने किया जाधव की रिहाई का आग्रह
दुनिया Share

इराक में आत्मघाती हमले में छह सुन्नी लड़ाके मारे गये

तिकरित 22 अगस्त (रायटर) इराक के उत्तर में स्थित एक सुन्नी मुस्लिम गांव में एक पूर्व सांसद के घर पर बुधवार को हुए आत्मघाती हमले में छह कबीलाई लडाके मारे गये तथा सात अन्य घायल हो गये। पुलिस ने यह जानकारी दी है।
इस हमले की जिम्मेदारी अभीतक किसी संगठन ने नहीं ली है लेकिन उस इलाके में खूंखार आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के आतंकवादी सक्रिय हैं।
शिरकत जिला पुलिस प्रमुख कर्नल खलिल अल साह्न ने बताया कि अस्दिरा गांव में पूर्व सांसद अदनान अल-गनाम के घर पर कल मध्यरात्रि के बाद आत्मघाती जैकेट पहने एक आतंकवादी घुस गया और उसने विस्फोट कर खुद को भी उड़ा लिया। मारे गये लोगों में आदिवासी मोबलाइजेशन बल के सदस्य हैं। यह संगठन सुन्नी मिलिशिया से जुड़ा है जो आईएस के खिलाफ लड़ाई में सरकार का समर्थन करता है।
यह गांव सलाहउद्दीन प्रांत की राजधानी तिकरित के उत्तर में स्थित है। वर्ष 2014 में आईएस ने इराक के अधिकांश उत्तरी हिस्से पर कब्जा कर लिया था लेकिन वर्ष 2016 में अमेरिका समर्थित इराकी सुरक्षा बलों ने सुन्नी आदिवासी लड़ाकों की मदद से शिरकत क्षेत्र पर फिर से कब्जा कर लिया था।
सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि क्षेत्र में इस समय काफी कम संख्या में आतंकवादी बचे हैं और छिटपुट हमलों को जारी रखने में सक्षम हैं।
इराक ने दिसंबर में आईएस पर विजय की घोषणा की थी लेकिन सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि आतंकवादियों के अपने स्व घोषित खलीफाओं के खत्म होने के बाद मुहिम तेज करने की आशंका है। हालांकि वे अपने कब्जे वाले सभी क्षेत्रों में बिखर चुके थे। आईएस के आतंकियों ने मुख्य रूप से किर्कुक, दीयाला और सलाहुद्दीन के प्रांतों में अपहरण और हत्या का अभियान जारी रखा है।
संजय जितेन्द्र
रायटर
More News
जाधव मामले में पाकिस्तान की विसंगतियां भारत ने की उजागर

जाधव मामले में पाकिस्तान की विसंगतियां भारत ने की उजागर

18 Feb 2019 | 9:02 PM

द हेग, 18 फरवरी (वार्ता) पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को आतंकवादी घोषित करने और उनके मामले की सुनवाई प्रकिया में वहां की सरकार की विसंगतियों को भारत ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में उजागर करते हुए कहा कि राजनयिक संपर्क के बिना उन्हें लगातार हिरासत में रखे जाने को अवैध ठहराया जाना चाहिए।

 Sharesee more..

सीरिया में आतंकवादी हमला, कम से कम 15 मरे

18 Feb 2019 | 8:38 PM

 Sharesee more..
image