Saturday, Nov 17 2018 | Time 16:40 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भाजपा ने गोवा में खड़ा कर दिया संवैधानिक संकट : कांग्रेस
  • नेतृत्व में ‘यू टर्न’ आवश्यक है : इमरान
  • लगातार तीसरे दिन घटे पेट्रोल-डीजल के दाम
  • सोनिया ने मोरक्को की दोआ को धो डाला
  • सीट बंटवारे के लिए रालोसपा ने भाजपा को दी 30 नवंबर की डेडलाइन
  • अयोध्या में चौदह कोसी परिक्रमा सम्पन्न
  • खरसिया का गढ़ बचाने कांग्रेस को बहाने पड़ रहे आंसू
  • बादल जत्थेदारों को अपने सरकारी निवास पर तलब करने का मकसद बतायें
  • 45 तालुका आंशिक सूखाग्रस्त घोषित
  • वित्त मंत्रालय में अपने काम से संतुष्ट : अधिया
  • सरकार की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाने के लिये भाजपा ने निकाली कमल संदेश बाइक रैली
  • गुजरात में समुद्र के खारे पानी को पीने योग्य बनाने वाले संयंत्र के लिए समझौता
  • बिस्कुट ट्रॉफी के बाद पाकिस्तान खेलेगा ‘ओये होये ट्रॉफी’
  • बिस्कुट ट्रॉफी के बाद पाकिस्तान खेलेगा ‘ओये होये ट्रॉफी’
  • रामाराव की पौत्री सुहासिनी ने दाखिल किया नामांकन पत्र
दुनिया Share

इराक में आत्मघाती हमले में छह सुन्नी लड़ाके मारे गये

तिकरित 22 अगस्त (रायटर) इराक के उत्तर में स्थित एक सुन्नी मुस्लिम गांव में एक पूर्व सांसद के घर पर बुधवार को हुए आत्मघाती हमले में छह कबीलाई लडाके मारे गये तथा सात अन्य घायल हो गये। पुलिस ने यह जानकारी दी है।
इस हमले की जिम्मेदारी अभीतक किसी संगठन ने नहीं ली है लेकिन उस इलाके में खूंखार आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के आतंकवादी सक्रिय हैं।
शिरकत जिला पुलिस प्रमुख कर्नल खलिल अल साह्न ने बताया कि अस्दिरा गांव में पूर्व सांसद अदनान अल-गनाम के घर पर कल मध्यरात्रि के बाद आत्मघाती जैकेट पहने एक आतंकवादी घुस गया और उसने विस्फोट कर खुद को भी उड़ा लिया। मारे गये लोगों में आदिवासी मोबलाइजेशन बल के सदस्य हैं। यह संगठन सुन्नी मिलिशिया से जुड़ा है जो आईएस के खिलाफ लड़ाई में सरकार का समर्थन करता है।
यह गांव सलाहउद्दीन प्रांत की राजधानी तिकरित के उत्तर में स्थित है। वर्ष 2014 में आईएस ने इराक के अधिकांश उत्तरी हिस्से पर कब्जा कर लिया था लेकिन वर्ष 2016 में अमेरिका समर्थित इराकी सुरक्षा बलों ने सुन्नी आदिवासी लड़ाकों की मदद से शिरकत क्षेत्र पर फिर से कब्जा कर लिया था।
सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि क्षेत्र में इस समय काफी कम संख्या में आतंकवादी बचे हैं और छिटपुट हमलों को जारी रखने में सक्षम हैं।
इराक ने दिसंबर में आईएस पर विजय की घोषणा की थी लेकिन सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि आतंकवादियों के अपने स्व घोषित खलीफाओं के खत्म होने के बाद मुहिम तेज करने की आशंका है। हालांकि वे अपने कब्जे वाले सभी क्षेत्रों में बिखर चुके थे। आईएस के आतंकियों ने मुख्य रूप से किर्कुक, दीयाला और सलाहुद्दीन के प्रांतों में अपहरण और हत्या का अभियान जारी रखा है।
संजय जितेन्द्र
रायटर
More News
अफगानिस्तान में 70 तालिबान आतंकवादी मारे गये

अफगानिस्तान में 70 तालिबान आतंकवादी मारे गये

17 Nov 2018 | 3:34 PM

काबुल 17 नवंबर (वार्ता) अफगानिस्तान के विभिन्न प्रांतों में पिछले 24 घंटे के दौरान चलाये गये सेना के अभियान के दौरान करीब 70 तालिबान आतंकवादियों को मार गिराया गया जबकि 15 अन्य घायल हो गये।

 Sharesee more..
image