Saturday, Nov 17 2018 | Time 20:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सबरीमला में तनाव के बीच श्रद्धालुओं का सालाना व्रत शुरू
  • बस की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत
  • संसद अखाड़े जैसा, लोकतांत्रिक संस्थाएं कर रही है विश्वसनीयता की कमी का सामना - पूर्व राष्ट्रपति मुखर्जी
  • झारखंड के मूल निवासियों का हक छीन रही रघुवर सरकार : हेमंत
  • अमित शाह ने रोड शो कर भाजपा प्रत्याशियों के लिए मांगे वोट
  • अमित शाह ने रोड शो कर भाजपा प्रत्याशियों के लिए मांगे वोट
  • सोनिया और रानी पिंकी प्री क्वार्टरफाइनल में
  • सोनिया और रानी पिंकी प्री क्वार्टरफाइनल में
  • दानापुर नगर परिषद् के प्रमुख सहायक रिश्वत लेते गिरफ्तार
  • राष्ट्रवादी कांग्रेस की छत्तीसगढ़ इकाई के अध्यक्ष कांग्रेस में शामिल
  • राष्ट्रवादी कांग्रेस की छत्तीसगढ़ इकाई के अध्यक्ष कांग्रेस में शामिल
  • घायल शेर शावक की मौत
  • हरमोहन धवन अब जाएंगे आप में, बोले भाजपा ने जलील किया
  • कश्मीर में प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थियाें नि:शुल्क कोचिंग
  • सिग्नेचर ब्रिज मामले में अमानतुल्ला खां को अग्रिम जमानत
दुनिया Share

ईरानी माैलवी ने अमेरिका को दी चेतावनी

लंदन 22 अगस्त (वार्ता) ईरान के एक वरिष्ठ मौलवी अहमद खतामी ने अमेरिका को चेतावनी दी है कि अगर उनके देश पर हमला हुआ तो इसका परिणाम युद्ध होगा तथा अमेरिका और उसके सहयोगी देश इजरायल उनके निशाने पर होंगे।
श्री खतामी बुधवार को ईद की नमाज में शामिल लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अमेरिका चाहता है कि ईरान अपने मिसाइल कार्यक्रमों और क्षेत्रीय प्रभुत्व को लेकर उसके सामने झुक जाये , इसलिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का ईरानी नेताओं के साथ वार्ता संबंधी प्रस्ताव अस्वीकार्य है।
मिजान न्यूज एजेंसी ने श्री खतामी के हवाले से कहा , “ अमेरिका कहता है कि हमें प्रस्ताव स्वीकार कर लेना चाहिए। यह समझौता वार्ता नहीं है , बल्कि तानाशाही है और ईरान इस तानाशाही के खिलाफ खड़ा होगा ।” उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा, “ अमेरिका को ईरान के साथ युद्ध की भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। वे जानते हैं कि अगर ईरान को नुकसान पहुंचाया गया तो अमेरिका और इजरायल उनके निशाने पर होंगे।”
इससे पहले ईरानी राष्ट्रपति हसन रौहानी ने मंगलवार को कहा था कि ईरान की सामर्थ्य को देखकर ही अमेरिका उस पर हमला नहीं कर पा रहा है । उन्होंने ईरानी सेना को और मजबूत करने की प्रतिबद्धता भी व्यक्त की।
उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने ईरान के साथ 2015 में किये गये अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते से जून में पीछे हटते हुए इसी महीने फिर से ईरान में प्रतिबंध लगाया है। ईरान के कार उद्योग, आभूषणों के व्यापार और अमेरिकी डॉलर की खरीद को प्रतिबंधित किया गया है। अमेरिका ने यह भी कहा है कि आगामी नवम्बर में ईरान के खिलाफ प्रतिबंधों का विस्तार करते हुए वहां के तेल और बैंकिंग सेक्टर को भी इस दायरे में लाया जायेगा।
टंडन जितेन्द्र
वार्ता
More News
सोलिह के शपथ ग्रहण समारोह के लिए मालदीव पहुंचे मोदी

सोलिह के शपथ ग्रहण समारोह के लिए मालदीव पहुंचे मोदी

17 Nov 2018 | 5:59 PM

माले 17 नवंबर(वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मालदीव के नव निर्वाचित राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह के शपथ ग्र्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए आज यहां पहुंचे।

 Sharesee more..
नेतृत्व में ‘यू टर्न’ आवश्यक है : इमरान

नेतृत्व में ‘यू टर्न’ आवश्यक है : इमरान

17 Nov 2018 | 4:49 PM

इस्लामाबाद 17 नवंबर (वार्ता) पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि किसी देश के वास्तविक नेता को हमेशा ‘यू टर्न’ लेना पड़ता है तथा स्थिति के अनुरूप और समय की जरूरत के आधार पर नेता अपनी रणनीति में बदलाव करते हैं।

 Sharesee more..
अफगानिस्तान में 70 तालिबान आतंकवादी मारे गये

अफगानिस्तान में 70 तालिबान आतंकवादी मारे गये

17 Nov 2018 | 3:34 PM

काबुल 17 नवंबर (वार्ता) अफगानिस्तान के विभिन्न प्रांतों में पिछले 24 घंटे के दौरान चलाये गये सेना के अभियान के दौरान करीब 70 तालिबान आतंकवादियों को मार गिराया गया जबकि 15 अन्य घायल हो गये।

 Sharesee more..
image