Monday, Nov 19 2018 | Time 09:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इजरायली प्रधानमंत्री ने रक्षा मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार लेने की घोषणा की
  • अलीगढ़ में भीषण सड़क हादसा, छह बस यात्रियों की मृत्यु, 10 घायल
  • मोदी ने इंदिरा गांधी को किया याद
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 20 नवंबर)
  • एटा में भागवत कथा के दौरान फायरिंग में किशोर की मृत्यु
  • फ्रांस में देशव्यापी विरोध प्रदर्शन के बावजूद पेट्रोल, डीजल की बढ़ी कीमतें रहेंगी बरकरार
  • ट्रंप नहीं सुनेंगे खशोगी की हत्या का ऑडियो टेप
  • तालिबान के साथ शांति समझौता चाहते हैं खलिलजाद
  • इजरायल में जल्द चुनाव संभव नहीं : नेतन्याहू
  • सबरीमला : श्रद्धालु गिरफ्तार, विजयन के निवास के बाहर प्रदर्शन
  • विजयन के निवास के बाहर श्रद्धालुओं ने किया प्रदर्शन
  • सबरीमला में तनाव बरकरार, भक्ति गीत गाने पर श्रद्धालु गिरफ्तार
  • एचएएल बनायेगा स्वदेशी तेजस लड़ाकू विमान: भामरे
  • सबरीमला मेें मानवाधिकारों का गंभीर उल्लंघन: केरल मानवाधिकार आयोग
  • कांग्रेस ने राजस्थान के लिए सभी उम्मीदवार किये घोषित
दुनिया Share

महात्मा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय (वर्धा) से पीएचडी कर चुके बुडापेस्ट (हंगरी) के पीटर शागी ने कहा कि हिंदी सीखने के बाद वह अब अपने देश के एल्ते विश्वविद्यालय में हिंदी पढ़ाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय में करीब 30 छात्र स्थानीय हैं और वे भारतीय मूल के नहीं हैं। वे हिंदी और भारतीय अध्ययन की पढ़ाई कर रहे हैं।
श्री शागी ने कहा कि उनके देश के युवाओं में भी भारत और उसकी संस्कृति को जानने की रूचि काफी बढ़ी है। उन्होंने कहा कि हिंदी सीखकर ही हम भारत को अच्छी तरह से जान सकते हैं।
इंडोनेशिया के रहने वाले और विश्व रामायण सम्मेलन के समन्वयक रहे धर्मयश ने कहा कि हिंदी भारत की सभ्यता और संस्कृति से जुड़ी एक भाषा है। इसे युवाओं को सिखाना चाहिए नहीं तो आधुनिकता के दौर में नयी पीढ़ी अपनी सभ्यता और संस्कृति से दूर हो जाएगी। तीस से अधिक पुस्तक लिख चुके धर्मयश भारतीय ग्रंथ गीता, रामायण और रामचरितमानस का इंडोनेशियाई भाषा बहासा में अनुवाद कर चुके हैं। इनके द्वारा अनुवादित गीता के छह संस्करण अबतक प्रकाशित हो चुके हैं। इनके पंचतंत्र एवं हितोपदेश के अनुवाद को सर्वाधिक बिकने वाली पुस्तक के सम्मान से नवाजा जा चुका है। उन्होंने कहा कि हिंदी के साथ ही भारत की मूल भाषा संस्कृत सीखने का ही परिणाम है कि उन्होंने यह उपलब्धियां हासिल की हैं।
शिवा सूरज
वार्ता
More News
ट्रंप नहीं सुनेंगे खशोगी की हत्या का ऑडियो टेप

ट्रंप नहीं सुनेंगे खशोगी की हत्या का ऑडियो टेप

19 Nov 2018 | 8:53 AM

मास्को 19 नवंबर (स्पूतनिक) अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तय किया है वह सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी की निर्दयतापूर्वक हत्या का ऑडियो टेप नहीं सुनेंगे, लेकिन इसके बारे उनको पूरी जानकारी दे दी गयी है।

 Sharesee more..
इजरायल में जल्द चुनाव संभव नहीं : नेतन्याहू

इजरायल में जल्द चुनाव संभव नहीं : नेतन्याहू

19 Nov 2018 | 8:30 AM

तेल अविव 19 नवंबर (स्पूतनिक) इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने रविवार को कहा कि देश में सुरक्षा कारणों से जल्द चुनाव करवाना संभव नहीं है उन्होंने गठबंधन के साझेदार दलों से सरकार को भंग होने बचाने की अपील की।

 Sharesee more..
image