Tuesday, Jan 22 2019 | Time 17:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सिम्स पीडियाट्रिक्स आईसीयू में लगी आग, बच्चे की मौत
  • प्रधानमंत्री परीक्षाओं के बारे में छात्रों, अभिभावकों से बात करेंगे
  • ईवीएम हैकिंग पर प्रेस कांफ्रेंस कांग्रेस की साजिश : भाजपा
  • बीएसएफ ने 31 रोहिंग्या सौंपे पुलिस को त्रिपुरा जेल भेजे गए
  • निजी हैसियत से गया था लंदन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में: सिब्बल
  • लीजेंड नडाल और जायंट किलर सितसिपास सेमीफाइनल में
  • नैनीताल में पत्नी को मारने के बाद पति ने की आत्महत्या
  • लगातार तीसरे दिन टूटा रुपया
  • जींद की जनता बाहरियों को नहीं बल्कि स्थानीय उम्मीदवार को वोट करेगी: अरोड़ा
  • चेन्नई सर्राफा के भाव
  • नीतीश ने महत्वपूर्ण योजनाओं में तेजी लाने के दिये निर्देश
  • उत्तराखंड में बारिश, हिमपात से जनजीवन प्रभावित
  • लाेकसभा चुनाव के बाद पता चल जायेगा सबसे बड़ा डकैत कौन : अखिलेश
  • अरहर दाल,चावल उछला;चीनी गिरी
दुनिया Share

राहुल की लेबर पार्टी नेताओं से वैश्विक मुद्दों पर चर्चा

लंदऩ 24 अगस्त (वार्ता) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ब्रिटेन में आज लेबर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की और बेरोजगारी, व्यापारिक टकराव , आतंकवाद तथा विभिन्न क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर विचार विमर्श किया।
श्री गांधी ने लंदन की अपनी यात्रा के दौरान असमानता तथा युवाओं में बेरोजगारी जैसे मुद्दों के साथ ही भारतीय पेशेवरों और छात्रों के लिए ब्रिटेन की वीजा नीति में बदलाव के बाद उपजी स्थिति को भी उठाया और कहा कि नयी वीजा नीति के बाद लंदन में भारतीय छात्रों की संख्या घटी है। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन के विकास में भारतीय मूल के डाक्टरों, नर्स तथा अन्य पेशों से जुड़े लोगों का बड़ा योगदान है।
बातचीत के दौरान दोनों पक्षों ने आतंकवाद तथा हिंसा की बढती स्थिति पर चिंता जतायी और कहा कि विकास के लिए स्थिरता तथा शांति आवश्यक है। बातचीत के दौरान भारतीय प्रतिनिधि मंडल में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा, इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सेम पित्रोदा तथा वरिष्ठ नेता मिलिंद देवडा तथा लेबर पार्टी के प्रतिनिधि मंडल में वरिष्ठ नेता तथा सांसद बेरी गार्डिनर, सांसद सुश्री वेलरी वज, सांसद सर कीर स्टेमर सहित कई अन्य सांसद तथा वरिष्ठ नेता शामिल थे।
इससे पहले श्री गांधी ने लंदन में ही एक अन्य कार्यकम में मोदी सरकार की विदेश नीति की आलोचना की और कहा कि पाकिस्तान को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास कोई गंभीर और सोची-समझी रणनीति नहीं है। उन्होंने डोकलाम को लेकर भी सरकार पर हमला किया और कहा कि सच्चाई ये है कि चीनी आज भी डोकलाम में मौजूद है जबकि श्री मोदी डोकलाम को महज एक घटना के रूप में देखते हैं। उन्होंने इस मसले की पूरी प्रक्रिया को यदि ध्यान से देखा होता तो वो इसे रोक सकते थे।
अभिनव सत्या
वार्ता
More News
अफगानिस्तान तालिबान हमले में 126 जवान मारे गये

अफगानिस्तान तालिबान हमले में 126 जवान मारे गये

22 Jan 2019 | 3:27 PM

काबुल, 22 जनवरी (वार्ता) अफगानिस्तान में काबुल के सैन्य अड्डे पर तालिबानी आतंकवादियों के हमले में 126 सुरक्षा कर्मियों की मौत हो गयी है और 70 अन्य घायल हो गए है।

 Sharesee more..
image