Thursday, Nov 15 2018 | Time 17:59 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भारत हमारी मातृभूमि है,हम सबको इसका सम्मान करना चाहिए:नाईक
  • महिलाओं के लिए सार्वजनिक स्थलों पर सहज और सुरक्षित माहौल जरूरी: सीतारमण
  • सबरीमाला मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक से कांग्रेस-भाजपा ने किया बहिर्गमन
  • श्रीलंकाई महिलाओं ने बंगलादेश को हराया
  • माफी नहीं मांगने पर सूचना मंत्री फवाद चौधरी के संसद सत्र में भाग लेने पर रोक
  • 1984 दंगे: दो दोषियों की सजा पर फैसला 20 नवम्बर को
  • देश के विकास में झारखंड की महत्वपूर्ण भूमिका : द्रौपदी
  • सुभाष देखमुख ने किया मार्कफेड के आउटलेट का दौरा
  • पंजाब की चीनी मिलों में लगाए जाएंगे इथनोल और बिजली सयंत्र: रंधावा
  • विंडीज़ महिलाएं 31 रन से जीतीं
  • बेंगलुरू उड़ान के साथ प्रयागराज छह शहरों से सीधा जुडा:नंदी
  • द्रौपदी और रघुवर ने धरती आबा भगवान बिरसा को दी श्रद्धांजलि
  • कुपवाड़ा में नियंत्रण रेखा के पास सुरक्षा बलों का तलाश अभियान
  • सिंगापुर में हुई मोदी-पुतिन की संक्षिप्त वार्ता
  • 218 रन की जीत के साथ बंगलादेश ने ड्रॉ कराई सीरीज़
दुनिया Share

रोहिंग्या हिंसा के लिए म्यांमार की सेना जिम्मेदार : संरा

जेनेवा 27 अगस्त (रायटर) संयुक्त राष्ट्र (संरा) ने कहा कि म्यांमार में रोहिग्या मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा के लिए वहां की सेना पूरी तरह जिम्मेदार है इसके लिए सेना के अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा चलाना चाहिए।
संयुक्त राष्ट्र के जांचकर्ताओं ने रोहिंग्या के खिलाफ हुई हिंसा वहां की सेना के प्रमुख तथा पांच जनरल को जिम्मेदार ठहराया गया है तथा इस जघन्य अपराध के लिए उन्हें सजा मिलनी चाहिए।
संयुक्त राष्ट्र की जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की ने अल्पसंख्यकों के खिलाफ नफरत फैलाने वाले भाषणों को अनुमति दी तथा रखाइन प्रांत में हिंसा के दौरान अल्पसंख्यकों की रक्षा करने में विफल रही है। संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में कहा गया है कि सेना की कार्रवाई में गांवों में आग लगा दी गयी।
संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय तथ्यान्वेषी मिशन ने कहा कि इराक तथा सीरिया में यजिदी समुदाय के खिलाफ इस्लामिक स्टेट द्वारा जिस प्रकार हिंसा की घटना को अंजाम दिया जा रहा है और अंतराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन किया गया उसी प्रकार की हिंसा रोहिंग्या के खिलाफ की गयी।
संयुक्त राष्ट्र के 20 पृष्ठ की रिपोर्ट में कहा गया है कि रोहिंग्या जनसंहार के लिए म्यांमार की सेना के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं और सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा चलाया जाना चाहिए।
गौरतलब है कि म्यांमार में रोहिंग्या के खिलाफ हिंसा के कारण सात लाख लोग जान बचाकर बंगलादेश में शरण लिये हुए हैं।
आजाद.श्रवण
रायटर
More News
अफगान में हवाई हमले में 20 आतंकवादी मारे गए

अफगान में हवाई हमले में 20 आतंकवादी मारे गए

15 Nov 2018 | 3:06 PM

गजनी (अफगानिस्तान), 15 नवंबर (शिन्हुआ) अफगानिस्तान के गजनी प्रांत में पिछले 24 घंटों के दौरान तालिबान आतंकवादियों के गुप्त ठिकानों पर हुए हवाई हमले में कम से कम 20 आतंकवादी मारे गए तथा चार घायल हुए।

 Sharesee more..
image