Tuesday, Sep 25 2018 | Time 22:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उत्तर प्रदेेश निवासी सीआरपीएफ जवान श्रीनगर में लापता
  • बीएचयू में तनावपूर्ण शांति, कक्षाएं निलंबित एवं छात्रावास खाली करने के आदेश
  • मौदहा में झांकिया निकालने को लेकर तनाव, पुलिस ने की हवाई फायरिंग
  • भारत-उज्बेकिस्तान संबंधों पर प्रदर्शनी शुरू
  • फोटो कैप्शन तीसरा सेट
  • फिरोजाबाद में श्रद्वालुओं से भरी टैक्टर-ट्राली पलटी, पांच की मृत्यु
  • कश्मीर में पंचायत और यूएलबी चुनाव के लिए केन्द्रीय बलों की 400 कंपनियां होंगी तैनात : मुख्य सचिव
  • सीबीआई अदालत ने तीन अधिकारियाें सहित पांच लोगों को दी सश्रम कारावास की सजा
  • ताज मामला : दृष्टिपत्र सौंपने की समय सीमा एक माह बढ़ी
  • केंद्रीय मंत्री के दौरे से पहले आंगनवाड़ी केंद्र से मिले कीड़े वाले चने, जांच के आदेश
  • शहजाद के विस्फोटक शतक से अफगानिस्तान के 252
  • शहजाद के विस्फोटक शतक से अफगानिस्तान के 252
  • बासुकीनाथ धाम में बोल बम के जयकारों के साथ भादो मेला सम्पन्न
  • गुजरात के गिर वन एक और शेरनी की मौत, दो सप्ताह में 14 सिंहो की मौत
  • वसुन्धरा नेे राजस्थान को कर्ज में डुबोया-गहलोत
दुनिया Share

रोहिंग्या हिंसा के लिए म्यांमार की सेना जिम्मेदार : संरा

जेनेवा 27 अगस्त (रायटर) संयुक्त राष्ट्र (संरा) ने कहा कि म्यांमार में रोहिग्या मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा के लिए वहां की सेना पूरी तरह जिम्मेदार है इसके लिए सेना के अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा चलाना चाहिए।
संयुक्त राष्ट्र के जांचकर्ताओं ने रोहिंग्या के खिलाफ हुई हिंसा वहां की सेना के प्रमुख तथा पांच जनरल को जिम्मेदार ठहराया गया है तथा इस जघन्य अपराध के लिए उन्हें सजा मिलनी चाहिए।
संयुक्त राष्ट्र की जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की ने अल्पसंख्यकों के खिलाफ नफरत फैलाने वाले भाषणों को अनुमति दी तथा रखाइन प्रांत में हिंसा के दौरान अल्पसंख्यकों की रक्षा करने में विफल रही है। संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में कहा गया है कि सेना की कार्रवाई में गांवों में आग लगा दी गयी।
संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय तथ्यान्वेषी मिशन ने कहा कि इराक तथा सीरिया में यजिदी समुदाय के खिलाफ इस्लामिक स्टेट द्वारा जिस प्रकार हिंसा की घटना को अंजाम दिया जा रहा है और अंतराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन किया गया उसी प्रकार की हिंसा रोहिंग्या के खिलाफ की गयी।
संयुक्त राष्ट्र के 20 पृष्ठ की रिपोर्ट में कहा गया है कि रोहिंग्या जनसंहार के लिए म्यांमार की सेना के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं और सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा चलाया जाना चाहिए।
गौरतलब है कि म्यांमार में रोहिंग्या के खिलाफ हिंसा के कारण सात लाख लोग जान बचाकर बंगलादेश में शरण लिये हुए हैं।
आजाद.श्रवण
रायटर
More News

25 Sep 2018 | 7:43 PM

 Sharesee more..

ब्रिटिश अरबपति दंपति की थाइलैंड में हत्या

25 Sep 2018 | 6:55 PM

 Sharesee more..
image