Sunday, Nov 18 2018 | Time 21:37 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पटना के नाले में गिरे दीपक की दूसरे दिन भी तलाश जारी
  • छत्तीसगढ़ में तीसरे मोर्चे की होगी बड़ी भूमिका: रमन
  • मध्यप्रदेश में विकास ने लोगों का नजरिया बदला: जेटली
  • उप्र में टीईटी में की परीक्षा में फर्जी पेपर एवं साल्वर समेत 19 गिरफ्तार
  • तेलंगाना में कांग्रेस नीत गठबंधन का नामकरण, टीजेएस प्रमुुख होंगे इसके अध्यक्ष
  • लक्षद्वीप में भारी बारिश
  • आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ का जवान शहीद
  • बेंगलुरु ने जयपुर को 45-32 से हराया
  • कपाल मोचन मेला 19 से 24 नवम्बर तक बिलासपुर में
  • अंजुम मुद्गिल लगातार दूसरे वर्ष राष्ट्रीय चैंपियन बनी
  • बिजऩेस फर्स्ट पोर्टल से 21536 करोड़ रूपये के निवेश प्रस्ताव
  • फैसले से खुश नहीं हूं: सरिता
  • आठवीं तक के अस्थाई मान्यता वाले स्कूलों पर लटकी तलवार
  • रालोसपा अध्यक्ष कुशवाहा ने सुशील मोदी को फिर घेरा
  • अग्रोहा ट्रस्ट ने आगरा का नाम बदल कर ‘अग्रन‘ करने की मांग की
दुनिया Share

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (सीआईजे) चार दिनों तक अमेरिाक के विरुद्ध ईरान की शिकायत की सुनवाई करेगा।
ईरान ने आठ मई को अमेरिका द्वारा परमाणु समझौते से एकपक्षीय रूप से निकलने के बाद सीआईजे में शिकायत दर्ज की थी। तेहरान ने अपनी याचिका में कहा है कि अमेरिका के परमाणु समझौते से निकलने के बाद प्रतिबंधों को दोबारा लागू करना , ईरान-अमरिकी मैत्री समझौते का उल्लंघन भी है।
ईरान ने दोनों देशों के बीच 19955 में हुए मैत्री सहयोग को हवाला देते हुए सीआईजे में अमेरिका के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। इस समझौते में दोनों देशों में सहमति बनी थी कि वे ऐसा कोई भी कदम नहीं उठायेंगे जिससे दोनों देशों के के सरकारी,अथवा निजी व्यापारिक और आर्थिक हितों को नुकसान पहुंचे। दोंनों देशों में इस बात पर भी सहमति बनी थी कि यदि दोनों पक्ष कूटनयिक माध्यम से मतभेदों को दूर नहीं कर पायेंगे तो मामले को सीआईजे में ले जाया जाएगा।
ईरान के विदेश मंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने हाल में कहा था कि सीआईजे में अमेरिका के खिलाफ दायर मामले में उसका पक्ष मजबूत है। भले ही अमेरिका ने परमाणु समझौते से निकलने के बाद दोबारा वार्ता की पेशकश की है लेकिन अमेरिकी सरकार द्वारा इससे पहले भी समझौतों का उल्लंघन किया जा चुका है।
श्री जरीफ ने यह भी कहा था कि तेहरान ने वर्ष 1955 के समझौते का पूरा सम्मान किया है जबकि अमेरिका ने कई बार उसका उल्लंघन किया है।
आशा टंडन
रायटर
More News
कैलिफोर्निया में आग से मरने वालों की संख्या 76 हुई

कैलिफोर्निया में आग से मरने वालों की संख्या 76 हुई

18 Nov 2018 | 5:25 PM

न्यूूयार्क 18 नवंबर (स्पुतनिक) अमेरिका के उत्तरी कैलिफोर्निया में लगी भीषण आग में मरने वालों की संख्या बढ़ कर 76 हो गई है और एक हजार से अधिक लोग अभी भी लापता हैं। बूटे काऊंटी के शैरिफ कोरी हाेनिया ने यह जानकारी दी है।

 Sharesee more..
image