Wednesday, Sep 26 2018 | Time 16:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति 2018 मंजूर
  • सावधान, कांटेक्ट लेंस लगाने से जा सकती है रोशनी
  • निजी फायनांस कंपनी से सात लाख की लूट
  • न्यायालय के निर्णय से आधार की उपयोगिता हुई प्रमाणित: जेटली
  • गांधी जयंती पर वर्धा में होगी कांग्रेस कार्य समिति की बैठक
  • परिवार को खबर नहीं, यशपाल बन गया मिक्स्ड मार्शल का हीरो
  • चीनी मिलों को फिर मिला 5538 रुपये का पैकेज
  • भूमि विवाद में कमी लाने के लिए प्रयास की जरूरत :नीतीश
  • जीएसटीएन पूरी तरह से सरकारी कंपनी होगी
  • सायना और परूपल्ली करेंगे विवाह
  • चीनी मिलाें के लिए 5538 करोड़ रुपये के पैकेज को मंजूरी
  • आधार पर न्यायालय का फैसला हमारी जीत : कांग्रेस
  • मजदूरों की मदद वाला उपकरण बनाने वाले छात्र सम्मानित
  • बंगाल में भाजपा के बंद से जनजीवन प्रभावित
दुनिया Share

वेनेजुएला के साथ बातचीत करने की स्पेन ने प्रतिबद्धता दोहराई

लीमा, 27 अगस्त(रायटर) स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज ने कहा है कि वेनेजुएला के मौजूदा आर्थिक और राजनीतिक संकट को सुलझाने के लिए उनका देश बातचीत करने के लिए प्रतिबद्ध है और वह भी वहां के हालाताें को लेकर काफी चिंतित है।
जून में प्रधानमंत्री का पद भार संभालने के बाद लातिन अमेरिका देशों का पहला दौरा कर रहे श्री सांचेज ने चिली के राष्ट्रपति सेबेस्टियन पिनारा के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा“ वेनेजुएला का संकट काफी समय से पनप रहा था और हम इसे लेकर काफी चिंतित हैं और हम इस बात काे भी स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि उसके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का हमारा कोई इरादा भी नहीं है।”
उन्होंने कहा“ वेनेजुएला को बातचीत की शुरूआत खुद ही करनी है ताकि इस राजनीतिक संकट का समाधान निकाला जा सके और इस बातचीत में अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भी हिस्सा लेना होगा। हमारा वादा है कि अगर इस दिशा में कोई कदम उठाया जाता है तो हमारी भूमिका काफी सक्रिय होगी।”
लातिन अमेरिकी देशोें चिली, पेरू, मैक्सिको, अर्जेंटीना और ब्राजील ने वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो से देश में लोकतांत्रिक सुधारों को शुरू करने और अंतरराष्ट्रीय मानवीय सहायता स्वीकार करने का आग्रह किया है ताकि इन देशाें में वेनेजुएला के नागरिकों के आने के सिलसिले को रोका जा सके।
संयुक्त राष्ट्र ने शुक्रवार को वेनेजुएला की स्थिति पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा था कि वहां के हालात संकट जैसी स्थितियों में तब्दील हो रहे हैं। वेनेजुएला के नागरिकों के बढ़ते प्रवास काे देखते हुए इक्वाडाेर तथा पेरू ने अपने यहां प्रवेश संबंधी नियमों को काफी कड़ा कर दिया है आैर ब्राजील में गुस्साए लोगों की भीड़ ने तो इन लोगों को सीमा से बाहर धकेल दिया था।
इस घटना पर प्रतिक्रिया करते हुए श्री सांचेज ने कहा“ मैं मानता हूं कि हमें वेनेजुएला के नागरिकों के बारे में यह बात भी ध्यान रखनी चाहिए कि वे देश के आर्थिक और राजनीतिक हालातों के चलते ही वहां से पलायन को मजबूर हैं और मानवीय पहलू को देखते हुए संकट काे सुलझाने की दिशा में प्रयास किए जाने जरूरी है।”
जितेन्द्र
रायटर
image