Wednesday, Jan 23 2019 | Time 23:01 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नाईजीरिया सैनिकों ने 58 डकैतों को मार गिराया
  • काला सागर मे जहाज दुघर्टना में छह भारतीयों की मौत
  • भारत की अर्थव्यवस्था को समावेशी अर्थव्यवस्था बनाना जरूरी - कमलनाथ
  • सीबीआई ने गुजरात में पेसो अधिकारी को रिश्वत लेते हुए पकड़ा
  • फोटो कैप्शन तीसरा सेट
  • सवा साल में यमुना होगी निर्मल : गडकरी
  • चाल धंसने से चार मजदूरों की मौत
  • संबद्ध महाविद्यालय के शिक्षकों को मिली उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन की अनुमति
  • अलियेव को हराकर बजरंग ने पंजाब रॉयल्स को दिलाई जीत
  • अलियेव को हराकर बजरंग ने पंजाब रॉयल्स को दिलाई जीत
  • फोटाे कैप्शन दूसरा सेट
  • पवार की मौजूदगी में राकांपा का दामन थामेंगे वाघेला
  • पीयूष गोयल को वित्त और कॉरपोरेट मामलों का अतिरिक्त प्रभार
  • महिला जूनियर हॉकी टीम शिविर के लिए 33 संभावित घोषित
  • महिला जूनियर हॉकी टीम शिविर के लिए 33 संभावित घोषित
दुनिया Share

गौरतलब है कि श्री खान के प्रधानमंत्री बनने के बाद ईरानी राष्ट्रपति हसन राेहानी ने एक विशेष संदेश भेजा था जिसमें नयी सरकार से दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत बनाने की बात कही गई थी।
श्री जरिफ ने ईरान में अगले माह प्रस्तावित एशियाई सहयाेग बातचीत (एसीडी) में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया है। दोनों देशों के बीच संबंधों को बेहतर बनाने की कवायद पिछले वर्ष उस समय हो गई थी जब उन्होंने सीमा सुरक्षा को मजबूत करने की दिशा में कदम उठाए थे। पाकिस्तान के विदेश मंत्री महमूद कुरैशी और श्री जरिफ के बीच बातचीत में इसी मसले का फिर जिक्र किया गया है।
विदेश मंत्रालय के अनुसार इस बातचीत में दोनों देशों की सीमा के मामले में सहयोग पर संतुष्टि व्यक्त की गयी और इस संबंध में विभिन्न मंचों के जरिए घनिष्ठ विचार विमर्श को जारी रखने पर सहमति जताई गयी।
विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “ दोनों विदेश मंत्रियों ने द्विपक्षीय राजनीतिक मंत्रणा और संयुक्त आर्थिक आयोग की अगले दौर की बातचीत को जल्द से जल्द करने पर सहमति व्यक्त की है।”
जितेन्द्र.श्रवण
वार्ता
image