Wednesday, Jul 17 2019 | Time 18:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • धान की पराली से निपटने के लिए अल्ट्रा आधुनिक उपकरणों का करें उपयोग: सिंह
  • हरियाणा में आठ आईएएस और 25 एचसीएस अधिकारियों के तबादले
  • दस घंटों के ऑपरेशन के बाद मैकेनिक के दोनों कटे पैर जोड़े
  • नेमार फाइव स्पर्धा में हंगरी, स्लोवाकिया बने विजेता
  • पहले दिन किआ सेल्टॉस की रिकार्ड बुकिंग
  • केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने एनआईडी संशोधन विधेयक 2014 को दी मंजूरी
  • एनआईए को विदेश में भी जांच का अधिकार, कानून का दुरूपयोग नहीं: अमित शाह
  • 2019-20 के लिए विभिन्न मंत्रालयों एवं विभागों की अनुदान माँगे (गिलोटीन) तथा उनसे संबंधित विनियोग विधेयक लोकसभा में पारित
  • प्रणव सिंह चैम्पियन को भाजपा ने किया पार्टी से निष्कासित
  • ईपेलेटर की ईजमायट्रिप से करार
  • विश्वास मत में हिस्सा लेने या नहीं लेने का फैसला अभी नहीं:बसपा विधायक
  • इंज़माम ने छोड़ा पाकिस्तान बोर्ड के मुख्य चयनकर्ता का पद
  • इंज़माम ने छोड़ा पाकिस्तान बोर्ड के मुख्य चयनकर्ता का पद
दुनिया


इमरान को झटका, अर्थशास्त्री रसूल ने दिया इस्तीफा

इमरान को झटका, अर्थशास्त्री रसूल ने दिया इस्तीफा

इस्लामाबाद 08 सितम्बर (वार्ता) पाकिस्तान में नवगठित आर्थिक विकास परिषद (ईएसी) को शनिवार को एक बड़ा झटका उस समय लगा जब अमेरिका स्थित शिक्षाविद् डॉ़ आतिफ आर मियां को हटाये जाने से नाराज होकर इसमें शामिल अर्थशास्त्री डॉ. इमरान रसूल ने इस्तीफा दे दिया।

डॉ. मियां को इसी सप्ताह प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से गठित 18 सदस्यीय ईएसी में शामिल किया गया था। वह अल्पसंख्यक अहमदी समुदाय के सदस्य हैं। इसे लेकर कई कट्टरपंथी धार्मिक नेता नाराज बताये गए थे। इसके बाद संचार मंत्री फवाद चौधरी ने शुक्रवार को कहा कि सामाजिक स्तर पर किसी भी तरह के बंटवारे से बचने के लिए सरकार ने ईएसी से डॉ. मिया का नामांकन वापस लेने का निर्णय लिया है।

डॉ. रसूल जो लंदन यूनिवर्सिटी कालेज में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर हैं, ईएसी से अपना नाम वापस लेते हुए ट्वीट किया,

“ भारी मन से मैंने शनिवार को सुबह ईएसी से इस्तीफा दे दिया।” उन्होंने लिखा, “ डॉ. मियां को जिस तरह से परिषद से इस्तीफा देने के लिए कहा गया वह उससे ‘ बिल्कुल असहमत’ हैं।

डॉ. रसूल ने डॉ. मियां को परिषद में शामिल किए जाने को लेकर कई ट्वीट किए। उन्होंने लिखा,“ पाकिस्तान की जरूरत के लिहाज से यदि परिषद में किसी शिक्षाविद् को शामिल किया जाना था तो वह आतिफ मियां ही बेहतर शख्स थे ।”

मिश्रा.श्रवण

वार्ता

image