Sunday, Apr 14 2024 | Time 10:22 Hrs(IST)
image
राज्य » उत्तर प्रदेश


रालोद के नौ विधायकों ने जयंत को दिया साथ रहने का भरोसा

रालोद के नौ विधायकों ने जयंत को दिया साथ रहने का भरोसा

सहारनपुर, 15 फरवरी (वार्ता) समाजवादी पार्टी (सपा) के खेमे में मची हलचल के बीच राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के नौ विधायकों ने एकजुटता दिखाते हुये गुरूवार को पार्टी अध्यक्ष जयंत चौधरी से मुलाकात की और साथ रहने का संकल्प जताया।

लोकसभा चुनाव की ठीक पहले सपा गठबंधन से अलग होकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से नजदीकी बढ़ाने के घटनाक्रम के बीच इन चर्चाओं को जन्म दिया था कि रालोद में सपा पृष्ठभूमि के जो तीन विधायक चंदन चौहान, अनिल कुमार और गुलाम मोहम्मद सपा के साथ जा रहे हैं लेकिन यह अफवाहें आज निर्मूल साबित हो गईं।

युवा राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंदन चौहान ने गुरुवार शाम दिल्ली से लौटकर यूनीवार्ता को बताया कि राजनीतिक हलकों में जोरशोर से यह चर्चाएं चल रही थीं कि हम जो तीन उम्मीदवार समाजवादी से ताल्लुक रखते थे और 2022 के विधानसभा चुनावों में रालोद के टिकट पर निर्वाचित हुए थे, भाजपा गठबंधन से नाखुश हैं और वापस अखिलेश यादव के साथ जा सकते हैं।

चंदन ने बताया कि रालोद प्रमुख ने आज अपने आवास 97, शाहजहां रोड़ नई दिल्ली में बैठक बुलाई थी जिसमें सभी नौ विधायक शामिल हुए। छह अन्य विधायकों में अजय कुमार, राजपाल बालियान, मदन भैय्या, प्रदीप उर्फ गुड्डू, प्रसन्न चौधरी और अशरफ अली खां शामिल हैं।

गौरतलब है कि इनमें से चार विधायक अशरफ अली, गुलाम मोहम्मद, चंदन चौहान और मदन भैय्या अयोध्या राममंदिर के दर्शन को नहीं जा पाए थे, इससे लोकदल में फूट की चर्चाओं ने जोर पकड़ लिया था। चंदन चौहान ने बताया कि श्री जयंत चौधरी ने कहा है कि भाजपा के साथ जो गठबंधन हुआ है उसके बड़े लक्ष्य हैं। हमें इस बात को नहीं सोचना चाहिए कि कितनी सीटें मिलती हैं। आपस में समन्वय बनाकर हमें सभी सीटों पर जीत दिलाने के लिए पूरे प्रयास करने होंगे।

उन्होंने कहा कि गठबंधन से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तीनों बहुत ही खुश हैं। किसान आंदोलन के बारे में जयंत चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार खुले मन से किसान नेताओं से बात कर रही है। हिंसा और तोड़फोड़ के बजाए संवाद से ही किसानों की समस्याओं का समाधान निकलेगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में पार्टी के विधायक भाजपा के साथ नीचे से ऊपर तक समन्वय बनाने का काम करेंगे और वह केंद्रीय स्तर पर इसी भूमिका में होंगे।

युवा रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंदन चौहान ने कहा कि जयंत चौधरी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों से अपील की कि वे धैर्य बनाए रखें और किसी भी हिंसक आंदोलन का हिस्सा ना बनें।

सं प्रदीप

वार्ता

image