Tuesday, Sep 25 2018 | Time 17:18 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अगस्त तक व्यय बजट अनुमान का 43 85 फीसदी रहा
  • विराट और मीराबाई बने खेल रत्न, 20 खिलाड़ी अर्जुन
  • देवोत्थान समिति ने गंगा में विसर्जन के लिए करीब साढ़े सात हजार लावारिस शवों की अस्थियां जुटाई
  • अवीवा लाइफ ने शुरू किया इंश्योरेंस मेड ईजी
  • महिला इंडियन ओपन में 3 50 करोड़ से ज्यादा की पुरस्कार राशि
  • मायावती ही हो सकती है विपक्षी दलों की प्रधानमंत्री पद की सक्षम उम्मीदवार - जोगी
  • ई-कॉमर्स के लिए नीति निर्माण डीआईपीपी के हवाले
  • तीन तलाक अध्यादेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका
  • देवोत्थान समिति ने गंगा में विसर्जन के लिए करीब साढ़े सात हजार लावारिस शवों की अस्थियां जुटाई
  • मानवता कर रही न्याय की मांग: अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय
  • दूरसंचार में तीन साल में पांच गुना बढ़ा विदेशी निवेश : सिन्हा
  • शहरों में प्रबंधन के लिए पेशेवर दृष्टिकोण जरूरी: पुरी
  • डाबर ने जम्मू में सरकारी स्कूल का किया नवीनीकरण
दुनिया Share

उ. कोरिया को परिष्कृत पेट्रोलियम का निर्यात रोकना चाहता है अमेरिका

उ. कोरिया को परिष्कृत पेट्रोलियम का निर्यात रोकना चाहता है अमेरिका

संयुक्त राष्ट्र 20 जुलाई (रायटर) रूस और चीन ने उत्तर कोरिया को परिष्कृत पेट्रोलियम का निर्यात रोकने के अमेरिकी प्रस्ताव को गुरुवार को विलंबित कर दिया। राजनयिकों ने इस बात की जानकारी दी।

अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद समिति के सामने यह प्रस्ताव पेश किया था जिसमें उत्तर कोरिया को परिष्कृत पेट्रोलियम का निर्यात रोकने के आदेश जारी करने की मांग की गयी थी। अमेरिका ने प्योंगयांग पर नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है।

संयुक्त राष्ट्र में रूसी मिशन ने 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद को बताया कि वह इस आग्रह का परीक्षण कर इस पर विचार कर रहा है और पेट्रोलियम के अवैध निर्यात के प्रत्येक मामले से संबंधित अतिरिक्त जानकारी भी एकत्रित कर रहा है। चीन ने रूसी मिशन का समर्थन किया है।

रवि

रायटर

More News
इमरान भारत के साथ बातचीत कैसे कर सकते हैं: विपक्षी दल

इमरान भारत के साथ बातचीत कैसे कर सकते हैं: विपक्षी दल

25 Sep 2018 | 3:21 PM

इस्लामाबााद 25 सितम्बर (वार्ता) पाकिस्तान में विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री इमरान खान की भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से द्विपक्षीय वार्ता करने के प्रस्ताव को लेकर कड़ी आलोचना की है।

 Sharesee more..
image