Saturday, Sep 22 2018 | Time 12:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिंदास अदाओं से दीवाना बनाया तनुजा ने
  • शराब के सेवन से साल में 30 लाख लोगों की मौत
  • प्रधानमंत्री मोदी आज छत्तीसगढ़ के दौरे पर
  • जातिगत आरक्षण राष्ट्र के विकास में बाधा: नरेन्द्र गिरी
  • हरियाणा राष्ट्रीय सैंबो प्रतियोगिता में बना चैंपियन
  • रणवीर सिंह होंगे सबसे बड़े सुपरस्टार : रोहित शेट्टी
  • अभिनेत्रियों की फिल्में 500 करोड़ नहीं कमा सकतीं : काजोल
  • रणबीर को बेस्ट एक्टर मानती हैं करीना
  • छत्रपति शिवाजी महाराज पर फिल्म बनायेंगे रोहित शेट्टी
  • खलनायकी को नया आयाम दिया प्रेम चोपड़ा ने
  • खलनायकी को नया आयाम दिया प्रेम चोपड़ा ने
  • सुरक्षाबलों ने कुपवाड़ा में घुसपैठ की कोशिश विफल की
  • पुलवामा में सुरक्षाबलों का व्यापक तलाश अभियान
  • चीन की नजर परमाणु ऊर्जा के अंतरराष्ट्रीय बाजार पर
  • ब्राजील की अदालत ने ट्विटर को दिया डाटा सौंपने का आदेश
खेल Share

भारतीय कबड्डी के पतन की सूत्रधार एक भारतीय

भारतीय कबड्डी के पतन की सूत्रधार एक भारतीय

जकार्ता, 25 अगस्त (वार्ता) एशियाई खेलों में कबड्डी के इतिहास में पिछले 28 वर्षाें में यह पहली बार है जब भारतीय टीमें स्वर्ण पदक के बिना स्वदेश लौटेंगी। भारतीय कबड्डी के इस पतन में किसी और की नहीं बल्कि एक भारतीय कोच की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

महाराष्ट्र के नासिक जिले की शैलजा जैन ने लगभग 30 साल का समय अपने राज्य में सैंकड़ों बच्चों को कबड्डी सिखाते हुये गुजारा था लेकिन उन्हें कभी भी भारतीय राष्ट्रीय टीम की अगुवाई करने का मौका नहीं मिला। यह बात हमेशा शैलजा को बहुत चुभती रही और इसी चुभन का नतीजा है कि दो बार की चैंपियन भारतीय महिला टीम फाइनल में ईरान के हाथों शिकस्त खा बैठी।

अब सवाल यह उठता है कि शैलजा और ईरान का क्या वास्ता है। दरअसल शैलजा ही ईरान की महिला टीम की कोच हैं और उन्होंने अपनी टीम से इन एशियाई खेलों से स्वर्ण पदक का वादा लिया था जिसे उनकी टीम ने पूरा कर दिखाया। 62 साल की शैलजा ईरान की इस सफलता से बेहद खुश हैं। ईरानी महिला खिलाड़ियों ने अपनी खिताबी जीत के बाद शैलजा के पास जाकर कहा,“ मैडम हमने आपको वह तोहफा दे दिया जो आपने चाहा था।”

एक वर्ष पहले ईरान ने शैलजा के सामने महिला टीम की कोचिंग का प्रस्ताव रखा था, हालांकि शुरू में इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था लेकिन जब ईरान ने दोबारा एक बेहतर प्रस्ताव रखा तो वह इसे ठुकरा न सकीं। उनके मन में खुद को साबित करने की एक कसक थी जिसे उन्होंने ईरानी टीम के जरिये पूरा करने का लक्ष्य उठाया।

 

More News
मलिक के कमाल से पाकिस्तान ने अफगानिस्तान को हराया

मलिक के कमाल से पाकिस्तान ने अफगानिस्तान को हराया

22 Sep 2018 | 11:50 AM

अबु धाबी, 21 सितम्बर (वार्ता) इमाम उल हक़ (80) और बाबर आजम (66) के शानदार अर्धशतकों के बाद पूर्व कप्तान शोएब मलिक की नाबाद 51 रन की संयमित पारी से पाकिस्तान ने अफगानिस्तान को एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट के सुपर-4 मुकाबले में शुक्रवार को तीन गेंद शेष रहते तीन विकेट से हरा दिया।

 Sharesee more..
जडेजा के चौके और रोहित के विस्फोट से जीता भारत

जडेजा के चौके और रोहित के विस्फोट से जीता भारत

21 Sep 2018 | 11:58 PM

दुबई, 21 अगस्त (वार्ता) लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने भारतीय टीम में 14 महीने के लम्बे अंतराल के बाद वापसी का जश्न चार विकेट लेकर मनाया जिसके बाद कप्तान रोहित शर्मा ने नाबाद 83 रन ठोके और भारत ने बंगलादेश को एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट के सुपर-4 मुकाबले में शुक्रवार को एकतरफा अंदाज में सात विकेट से पीट दिया।

 Sharesee more..

21 Sep 2018 | 11:49 PM

 Sharesee more..
image