Monday, Nov 19 2018 | Time 19:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सोनिया, पिंकी और सिमरन क्वार्टरफाइनल में, स्वीटी बाहर
  • तूफान प्रभावित कर्नाटक को 546 करोड़ की केंद्रीय सहायता
  • होंडा ने बेचे 2 5 करोड़ स्कूटर
  • पुलवामा आतंकवादी हमले के शहीद जवान को दी गयी श्रद्धांजलि
  • अंजुम को दो दिन में दो स्वर्ण, मेहुली ने जीते 4 स्वर्ण
  • फूलका ने सेना का अपमान किया, देशद्रोह का केस दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग
  • नवाज ने जेआईटी जांच को किया खारिज
  • बिहार दिवस से पहले पूरा राज्य हो ओडीएफ घोषित : सुशील
  • झांसी के बबीना में शुरू हुआ भारत- रूस संयुक्त सैन्य अभ्यास
  • एसजीपीसी प्रधान ने मृतकों के प्रति शोक व्यक्त किया
  • मनमोहन सिंह को मिला इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार
  • भोजपुर सहकारी चीनी मिल में गन्ने की पिराई शुरु
  • मध्यप्रदेश में जारी रहेगा विकास : शिवराज
  • मध्यप्रदेश में जारी रहेगा विकास : शिवराज
  • दरभंगा रेडियो स्टेशन के पूर्व निदेशक समेत 25 को सजा
भारत Share

विपक्षी दलों के ‘भारत बंद’ का रहा मिला-जुला असर

विपक्षी दलों के ‘भारत बंद’ का रहा मिला-जुला असर

नयी दिल्ली 10 सितंबर (वार्ता) पेट्रोल और डीजल की आसमान छूती कीमतों और रुपये के मूल्य में गिरावट के विरोध में कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों के ‘भारत बंद’ का सोमवार को मिला-जुला असर रहा और कुछ स्थानाें पर तोड़-फोड़ की घटनाओं को छोड़कर यह शांतिपूर्ण रहा।

कांग्रेस नेतृत्व में 21 दलों के इस भारत बंद के दौरान बिहार और महाराष्ट्र में कुछ स्थानों पर रेलगाड़ियों को रोके जाने तथा बसों और अन्य वाहनों में तोड़ फोड़ करने एवं जबरन बाजार बंद कराने की घटनाएं सामने आयी। कांग्रेस ने सुबह नौ बजे से अपराह्न तीन बजे तक आयोजित बंद के सफल हाेने का दावा किया है।

राष्ट्रीय राजधान दिल्ली में अध्यक्ष राहुल गांधी तथा कुछ अन्य विपक्षी नेताओं ने बंद की शुरूआत पर सुबह राजघाट जाकर महात्मा गांधी की समाधि पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की और वहां से रामलीला मैदान तक रैली निकाली। विपक्षी नेताओं ने रामलीला मैदान में कुछ देर धरना भी दिया जिसमें श्री गांधी के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद एवं अशोक गहलोत, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार, लोकतांत्रिक जनता दल के शरद यादव, राष्ट्रीय जनता दल के जयप्रकाश नारायण यादव, राष्ट्रीय लोकदल के जयंत चौधरी, आम आदमी पार्टी के संजय सिंह और आरएसडी के एन के प्रेमचंद्रन समेत विभिन्न दलों नेता मौजूद थे। इन नेताओं ने आरोप लगाया कि आम आदमी पेट्रोल और डीजल की कीमतों और महंगाई से त्रस्त है लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस पर चुप्पी साधे हुए हैं।

पटना में बंद समर्थकों ने प्रमुख डाक बंगला चौराहे पर प्रदर्शन करके यातायात बाधित कर दिया। इस दौरान बंद समर्थकों ने कई वाहनों के शीशे तोड़ दिये। बंद के दौरान दानापुर, बेलीरोड और मनेर में सड़क पर टायर जलाकर यातायात को बाधित किया गया। राज्य के सभी जिलों में बंद का व्यापक असर देखा गया।

बिहार में भारत बंद के समर्थन में कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (राजद), हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (हम), जन अधिकार पार्टी (जाप), समाजवादी पार्टी (सपा) और लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद) के नेता और कार्यकर्ता सुबह से ही सड़कों पर उतर आये और जगह-जगह सड़क तथा रेल यातायात रोकने तथा दुकानों को बंद कराने की कोशिश की। इसी दौरान जाप के कार्यकर्ताओं ने पटना में राजेन्द्र नगर टर्मिनल पर पूर्व मध्य रेलवे के कर्मचारियों को हाजीपुर ले जाने वाली बस के शीशे तोड़ दिये। नालंदा मेडिकल कॉलेज जा रहे एक डाक्टर के साथ बंद समर्थकों ने दुर्व्यवहार किया।

देश की वाणिज्यिक राजधानी मुंबई में पेट्रोलियम उत्पादों की बढ़ती कीमतों के विरोध में भारत बंद के दौरान उपनगर अंधेरी में कांग्रेस नेताओं ने ट्रेन रोकने का प्रयास किया और पुणे में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के कार्यकर्ताओं ने एक बस में तोड़फोड़ की। शिवसेना ने हालांकि इस बंद का विरोध किया। महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण, मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम, वरिष्ठ नेता माणिकराव ठाकरे और अन्य नेताआें को अंधेरी रेलवे स्टेशन पर ‘ट्रेन रोको’ अभियान के दौरान हिरासत में लिया गया। मनसे के कार्यकर्ताओं ने घाटकोपर-अंधेरी मेट्रो रेल लाइन को डी एन नगर स्टेशन पर अवरूद्ध कर दिया। चेंबूर स्टेशन पर भी ट्रेन रोकी गयी। प्रतीक्षानगर डिपो और वाशी नाका में सरकारी बेस्ट की बसों पर पथराव की रिपोर्ट भी मिली है।

पंजाब में कांग्रेस की सरकार होने के बावजूद भारत बंद का असर मिला-जुला ही रहा। राज्य के कई जिलों में बाजार बंद रहे। कांग्रेस कार्यकर्ता जगह-जगह दुकानदारों से बंद को सफल बनाने में सहयोग की अपील करते और बाजार और दुकानें बंद कराते देखे गए। पंजाब में गुरू ग्रंथ का पहला प्रकाश पर्व होने के कारण सरकारी कार्यालयों तथा सभी स्कूल और कॉलेजों में अवकाश रहा। सड़कों पर बसें दाैड़ती नजर आयीं। समूचे राज्य में बंद का मिला-जुला असर दिखाई दिया।

हिमाचल प्रदेश में भारत बंद का मिला-जुला असर रहा। शिमला सहित बड़े शहरों में व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे तथा निजी बसें नहीं चलीं जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। सरकारी संस्थानों को छोड़कर, स्कूल, कार्यालय, बैंक और राज्य ट्रांसपोर्ट बंद रहे। दुकानें तथा व्यापारिक प्रतिष्ठान और होटल भी बंद रहे।

टीम.श्रवण सत्या

जारी.वार्ता

More News
मनमोहन सिंह को मिला इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार

मनमोहन सिंह को मिला इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार

19 Nov 2018 | 7:04 PM

नयी दिल्ली 19 नवंबर(वार्ता)पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को देश के विकास में उल्लेखनीय याेगदान के लिए सोमवार को यहां इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय शांति एवं निरस्त्रीकरण तथा विकास पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

 Sharesee more..
सभी छात्रों पर एक तरह का पाठ्यक्रम न थोपा जाये : नायडू

सभी छात्रों पर एक तरह का पाठ्यक्रम न थोपा जाये : नायडू

19 Nov 2018 | 6:45 PM

नयी दिल्ली 19 नवंबर (वार्ता) उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने देश में शिक्षण संस्थाओं की बढ़ती संख्या और गुणवत्ता में कमी पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुये समूची शिक्षा प्रणाली के लिए नयी योजना तैयार करने का आह्वान किया है और कहा है कि सभी छात्रों पर एक ही तरह का पाठ्यक्रम नहीं थोपा जाना चाहिये।

 Sharesee more..

19 Nov 2018 | 6:29 PM

 Sharesee more..

सीएसई को इंदिरा गाँधी शांति पुरस्कार

19 Nov 2018 | 6:05 PM

 Sharesee more..
image