Wednesday, Oct 16 2019 | Time 22:10 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कांग्रेस के कर्नाटक से रास सदस्य राममूर्ति का इस्तीफा
  • बेंगलुरु को चित कर दिल्ली पहली बार फाइनल में
  • संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवम्बर से शुरू होने की संभावना
  • उप्र में त्यौहारों के मद्देनजर 30 नवम्बर तक अधिकारियों का अवकाश नहीं हो स्वीकृत
  • जालौन:ट्रक ने मारी बाइक को टक्कर , दो की मौत एक घायल
  • बिहार में नहरों, तटबंधों और जलाशयों की ड्रोन से होगी निगरानी
  • झारखंड विधानसभा चुनाव में 21 सीटों पर प्रत्याशी खड़े करेगा फॉरवर्ड ब्लॉक
  • बिहार में युवती की सिर कटी लाश समेत छह शव बरामद
  • फोटो कैप्शन: दूसरा सेट
  • भारत को महान देश बनाने में महाराष्ट्र का बहुत बड़ा योगदान: मोदी
  • सेल्फी लेने के चक्कर में पार्वती नदी में गिरीं दो लड़कियां, एक लापता
  • शाओमी ने नोट 8 सीरीज के फोन लांच किये
  • जस्टिस मिश्रा को सुनवाई से अलग करने की अर्जी पर बुधवार को फैसला
  • अश्विन और उनकी कप्तानी पर अभी कोई फैसला नहीं : कुंबले
India


कर्नाटक में यथास्थिति बनाये रखने का आदेश

कर्नाटक में यथास्थिति बनाये रखने का आदेश

नयी दिल्ली, 12 जुलाई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने कर्नाटक में 10 विधायकों के त्यागपत्र मामले में अगली सुनवाई मंगलवार को होने तक यथास्थिति बनाये रखने का आदेश दिया है।
मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने शुक्रवार को कहा कि इस मामले में कुछ बड़े मुद्दे उठे हैं और वह इस पर मंगलवार को आगे सुनवाई कर निर्णय देगी। न्यायालय ने कहा कि अगली सुनवाई तक इस मामले में यथास्थिति बनाये रखी जाय।
बागी विधायकों की ओर से अदालत में उपस्थित हुए वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने कहा कि इस मामले में कानून स्पष्ट है और विधानसभा अध्यक्ष इस पूरे मामले में अदालत के प्रति जवाबदेह हैं।
विधानसभा अध्यक्ष के. आर. रमेश कुमार के वकील डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि इस्तीफा देने वाले 10 विधायकों का उद्देश्य कुछ और है और यह अयोग्य ठहराये जाने से बचने के लिए किया गया है।
उन्होंने कहा कि इस मामले की संवेदनशीलता तथा गंभीरता को देखते हुए अदालत को सावधानीपूर्वक उचित निर्णय देना चाहिए।
मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी की ओर से अदालत में उपस्थित हुए राजनीतिक विचारक डॉ. राजीव धवन ने बागी विधायकों के उस बयान पर आपत्ति जतायी, जिसमें उन्हें विधानसभा अध्यक्ष पर बदनीयती से काम करने का आरोप लगया था। उन्होंने कहा कि असाधारण स्थिति में अदालत को विधानसभा अध्यक्ष को आदेश देना पड़ा। उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष कानून के अनुसार काम कर रहे हैं।
डॉ. सिंघवी ने कहा कि सभी 10 विधायकों ने गुरुवार को अपना नया त्याग पत्र सौंपा है।
उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय ने बागी विधायकों को गुरुवार शाम छह बजे तक विधानसभा अध्यक्ष से मिलने और फिर से इस्तीफा नेता को कहा था। इसके बाद सत्तारूढ़ कांग्रेस तथा जनता दल (एस) के 10 बागी विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष के. आर. रमेश कुमार से मुलाकात कर फिर से अपना इस्तीफा सौंपा था।
संतोष.श्रवण
वार्ता

More News
मंदी पर सरकार ने नहीं सुनी अभिजीत बनर्जी की बात  : चिदम्बरम

मंदी पर सरकार ने नहीं सुनी अभिजीत बनर्जी की बात : चिदम्बरम

16 Oct 2019 | 9:46 PM

नयी दिल्ली, 16 अक्टूबर (वार्ता) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम ने बुधवार को कहा कि नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी ने जब आर्थिक मंदी के प्रति आगाह किया था तो सरकार में किसी ने उनकी बात ही नहीं सुनी।

see more..
जस्टिस मिश्रा को सुनवाई से अलग करने की अर्जी पर बुधवार को फैसला

जस्टिस मिश्रा को सुनवाई से अलग करने की अर्जी पर बुधवार को फैसला

16 Oct 2019 | 9:29 PM

नयी दिल्ली, 16 अक्टूबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय भूमि अधिग्रहण कानून में मुआवजे से संबंधित प्रावधानों की वैधता की सुनवाई करने वाली संविधान पीठ से न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा को अलग करने के अनुरोध पर अगले बुधवार को आदेश सुनायेगा।

see more..
अयोध्या विवाद: सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

अयोध्या विवाद: सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

16 Oct 2019 | 8:40 PM

नई दिल्ली, 16 अक्टूबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद में बुधवार को फैसला सुरक्षित रख लिया।

see more..
वजीरपुर से 45 बाल श्रमिकों को मुक्‍त कराया गया

वजीरपुर से 45 बाल श्रमिकों को मुक्‍त कराया गया

16 Oct 2019 | 7:54 PM

नयी दिल्ली 16 अक्टूबर (वार्ता) दिल्ली पुलिस और बचपन बचाओ आन्दोलन (बीबीए) के सहयोग से राष्ट्रीय राजधानी के वजीपुर इलाके से मंगलवार को 45 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया गया ।

see more..
image