Friday, Sep 21 2018 | Time 19:35 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • प्रधानमंत्री मोदी कल छत्तीसगढ़ के एक दिवसीय दौरे पर
  • भारत अंडर-16 लड़कियों को मंगोलिया से मिली हार
  • चीफ खालसा दीवान के प्रधान संतोख सिंह को पांच साल की कैद
  • भारत-पाकिस्तान विदेश मंत्रियों की बैठक रद्द
  • भाजपा की छत्तीसगढ़ सहित तीन राज्यों में सत्ता में वापसी तय – शाह
  • अकाली दल अपनी हार देख बौखलाई : अमरिंदर
  • सीलिंग कर दिल्ली सरकार छीन रही है पूर्वांचल के लोगों की रोजी-रोटी: मनोज
  • पांचवां इंडिया सीएसआर शिखर सम्मेलन एवं प्रदर्शनी दिल्ली में
  • कांग्रेस ने हर वर्ग को लड़ाने का काम किया-वसुंधरा
  • नासिक में स्वाइन फ्लू से तीन और लोगों की मौत
  • हिंदुस्तान जिंक ने लांच किया ग्रासरूट फुटबाल प्रोग्राम
  • हाथियों के स्वास्थ्य में हुआ सुधार
  • नागपुर में बारिश, विदर्भ में बारिश का अनुमान
  • कॉलेजों-विश्वविद्यालय में लड़कियों को आत्मरक्षा के गुर सिखाने के निर्देश
दुनिया Share

तुर्की में 18,000 से अधिक कर्मचारी बर्खास्त

तुर्की में 18,000 से अधिक कर्मचारी बर्खास्त

अंकारा 08 जुलाई (रायटर) तुर्की में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति तैयप एर्दोगन ने रविवार को 18,000 से अधिक कर्मचारियों को बर्खास्त करने के आदेश दिये जिनमें आधे पुलिसकर्मी हैं।

तुर्की में जुलाई 2016 से आपातकाल लगाया गया था। देश में इस वर्ष आपातकाल लागू हुए दाे वर्ष पूरे हो जायेंगे और इस महीने इसके हटने की उम्मीद है। यह आदेश पिछले महीने हुए राष्ट्रपति पद के चुनाव में एर्दाेगन विजयी हुए थे और गत सोमवार को राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेने के बाद उन्होंने यह आदेश दिए हैं। बर्खास्त किये गए कर्मचारियों में 199 लोग देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों के अकादमिक कर्मचारी है और पांच हजार से अधिक सशस्त्र बलों के जवान हैं।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय की ओर से मार्च में जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार तुर्की प्रशासन तख्ता पलट की असफल कोशिश के बाद से लगभग 160,000 नागरिक सेवकों को पहले ही बर्खास्त कर चुका है। इनमें से 50 हजार से अधिक लोगों पर तख्ता पलटने के आरोप लगाये गये हैं और उनके खिलाफ मामला चलाने के लिए उन्हें जेलों में बंद किया गया है।

तुर्की के सहयोगी पश्चिमी देशों ने इस कार्रवाई की निंदा की है और श्री एर्दोगन के आलोचकों ने उन पर असंतोष पर चर्चा किए बिना उसे दबाने का आरोप लगाया है। उधर, तुर्की का कहना है कि राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए उत्पन्न खतरों के कारण यह कार्रवाई करनी जरूरी है।

उल्लेखनीय है कि जुलाई 2016 में तुर्की में तख्ता पलट की असफल कोशिश हुई थी जिसके बाद वहां आपातकाल की घोषणा कर दी गई थी और तब से ही तुर्की में आपातकाल लागू है।

संतोष, उप्रेती, यामिनी

रायटर

More News
तंजानिया नौका हादसे में मृतकों की संख्या 86 हुई

तंजानिया नौका हादसे में मृतकों की संख्या 86 हुई

21 Sep 2018 | 6:13 PM

दार अस सलाम 21 सितंबर (रायटर) तंजानिया की विक्टोरिया झील में गुरुवार को नौका हादसे में कम से कम 86 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो गई है और लापता अन्य लोगों की तलाश जा रही है।

 Sharesee more..
तंजानिया नौका हादसे में 44 लोगों के मारे जाने की पुष्टि

तंजानिया नौका हादसे में 44 लोगों के मारे जाने की पुष्टि

21 Sep 2018 | 5:28 PM

दार ए सलाम , 21 सितंबर (रायटर) तंजानिया की विक्टोरिया झील में गुरुवार को नौका हादसे में कम से कम 44 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो गई है और लापता अन्य लोगों की तलाश जा रही है। पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी दी है।

 Sharesee more..

वियतनाम के राष्ट्रपति का निधन

21 Sep 2018 | 1:06 PM

 Sharesee more..
image