Saturday, Feb 16 2019 | Time 19:31 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हमें खेतों में अपने किसानों और सीमा पर अपने जवानों पर गर्व : रामविलास शर्मा
  • पुलवामा पर पाकिस्तान के इनकार को भारत ने किया खारिज
  • सिविल लाइंस में व्यावसायिक गतिविधियां बंद
  • इस्नर न्यूयार्क ओपन के सेमीफाइनल में
  • पोखरण में मारक क्षमता का प्रदर्शन किया वायु सेना ने
  • हम हिंसा के कभी हिमायती नहीं रहे : पाकिस्तान
  • मिस्र की सेना की कार्रवाई में सात आतंकवादी मरे
  • उत्तराखंंड में पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में सड़कों में उतरे लोग
  • मिस्र की सेना की कार्रवाई में सात आतंकवादी मरे
  • परेरा के करिश्माई शतक से जीता श्रीलंका
  • लुटेरे बैंक से 43 लाख से अधिक रुपये लूट कर फरार
  • योगी से मिलने को अड़ी शहीद की पत्नी, नहीं हुआ अंतिम संस्कार
  • सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत
  • मोदी रविवार को पटना में पीएनजी आपूर्ति और सीएनजी स्टेशन का करेंगे शुभारंभ
दुनिया Share

रुझानों में पिछड़ी नवाज की पार्टी, इमरान की पीटीआई 113 सीटों पर आगे

रुझानों में पिछड़ी नवाज की पार्टी, इमरान की पीटीआई 113 सीटों पर आगे

इस्लामाबाद 26 जुलाई (वार्ता) पाकिस्तान में नेशनल असेंबली चुनाव की मतगणना में पूर्व क्रिकेटर एवं राजनेता इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआई) अन्य दलों के मुकाबले काफी आगे चल रही है। पीटीआई ने अब तक 113 सीटों पर बढ़त बना ली है।

पाकिस्तान के डॉन अखबार के अनुसार नेशनल असेंबली की 272 सीटों के मिले रुझान में पीटीआई 113 सीटों पर आगे चल रही है जबकि भ्रष्टाचार मामले में जेल की सजा काट रहे पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) ने 66 सीटों पर आगे है। पाकिस्तान की दो बार प्रधानमंत्री रहीं दिवंगत नेता बेनजीर भुट्टे के बेटे बिलावल भुट्टो जरदारी की पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) ने 39 सीटों पर बढ़त बना रखी है।

पीएमएल-एन के अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “यह स्पष्ट धोखाधड़ी है। जिस तरह से जनादेश का अपमान किया गया है, वह बर्दास्त नहीं है।”

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान में नेशनल असेंबली की 272 सीटों के लिए बुधवार को मतदान हुआ था और कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कल ही मतगणना शुरू हो गई थी। देशभर के मतदान केंद्रों पर 371,000 सैनिक तैनात किये गए हैं जो वर्ष 2013 में हुए चुनाव के दौरान तैनात किए गए सैनिकों की संख्या के लगभग पांच गुना है।

संतोष

वार्ता

image