Friday, Sep 21 2018 | Time 17:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हरियाणा में ‘आयुष्मान भारत‘ योजना 23 सितम्बर को शुरू होगी
  • दिल्ली में सीलिंग रोकने के लिए सरकार लाये अध्यादेश :कैट
  • रुपया 17 पैसे मजबूत
  • सिवान्तोस इंडिया की विस्तार योजना
  • मौसमी ने एशिया के सबसे ऊंचे ज्वालामुखी पर फहराया तिरंगा
  • विमानों में शराब परोसनी बंद की जाये: चावला
  • न्यूयार्क में भारत-पाकिस्तान विदेश मंत्रियों के बीच नहीं होगी बैठक
  • ट्रक ने जीप को मारी टक्कर, छह मरे
  • रुपये की संदर्भ दर
  • चीनी में तेजी; अधिकांश जिसों में टिकाव
  • दिल्ली की हैदराबाद पर जीत में चमके राणा
  • झांसी में निकालेे गये ताजिये जुलूस
  • शोपियां में शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि
  • विश्व बैंक समूह भारत को देंगे करीब 30 अरब डॉलर
  • भारत और मंगोलियाई सैनिकों ने रण कौशल के गुर साझा किये
राज्य Share

आरोपों में जरा भी सच्चाई तो मुकदमा चलाएं : प्रकाश सिंह बादल

आरोपों में जरा भी सच्चाई तो मुकदमा चलाएं : प्रकाश सिंह बादल

अबोहर, 09 सितंबर (वार्ता) पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने आज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को चुनौती दी कि बेअदबी मामलों में उन पर लगाये जा रहे आरोपों में अगर जरा सी भी सच्चाई है तो उन पर मुकदमा चलाने की हिम्मत दिखाई जाये।

श्री बादल यहां शिराेमणि अकाली दल (शिअद) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की एक संयुक्त रैली को संबोधित कर रहे थे।

श्री बादल ने आरोप लगाया कि बेअदबी के मुद्दे पर शिअद के खिलाफ कैप्टन अमरिंदर के आरोप अपने गुटका साहिब हाथ में लेकर लोगों से झूठे वायदों से जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि ऑपरेशन ब्लूस्टार इतिहास में धार्मिक बेअदबी की सबसे बड़ी और दुखद घटना थी।

उन्होंने कैप्टन अमरिंदर पर प्रतिशोध की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने चुनाव से पहले किसानों की कर्ज माफी से लेकर, नशा उन्मूलन, युवाओं को रोजगार देने, वृद्धावस्था पेंशन चार गुना करने समेत तमाम वायदे किये थे और सत्ता में आकर वायदाखिलाफी कर दी।

उन्होंने दावा किया कि श्री गुरू ग्रंथ साहिब उन्हें अपनी जिंदगी से प्यारा है और वह इस पवित्र ग्रंथ के सम्मान और गौरव के लिए कई बादलों की कुर्बानी कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि शिअद ने बेअदबी मामलों की उच्चतम न्यायालय के किसी मौजूदा न्यायाधीश से कराने की मांग की हुई है और रंजीत सिंह आयोग की ‘पक्षपाती‘ रिपोर्ट को खारिज कर दिया है।

रैली को शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने भी संबोधित किया।

image