Tuesday, Jul 23 2019 | Time 11:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ‘देशभक्ति’ से खास पहचान बनायी मनोज कुमार ने
  • ‘देशभक्ति’ से खास पहचान बनायी मनोज कुमार ने
  • जासूस का किरदार निभायेंगी कंगना रनौत
  • जासूस का किरदार निभायेंगी कंगना रनौत
  • 100 करोड़ क्लब में शामिल हुई सुपर 30
  • 100 करोड़ क्लब में शामिल हुई सुपर 30
  • 100 करोड़ क्लब में शामिल हुई सुपर 30
  • हरियाणा के कांवड़ यात्री की गंगोत्री धाम में मृत्यु
  • रूसी विमान के अपनी सीमा में घुसने पर द कोरिया ने की गोलीबारी
  • सोनिया ने सूचना के अधिकार संशोधन विधेयक पर की केंद्र की आलोचना
  • कश्मीर पर ट्रंप के विवादित बयान पर अमेरिका ने सुधारी गलती
  • ट्रम्प, इमरान के बीच अफगानिस्तान मुद्दे पर हुई चर्चा
  • भाजपा नेता समेत परिवार के तीन सदस्य की गोली मारकर हत्या ,एक घायल
  • कश्मीर पर ट्रंप के विवादित बयान पर अमेरिका ने सुधारी गलती
बिजनेस


पटनायक ने दिया ओडिशा में निवेश का निमंत्रण

पटनायक ने दिया ओडिशा में निवेश का निमंत्रण

नयी दिल्ली 12 सितम्बर (वार्ता) ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य को पूर्वी भारत का उभरता विनिर्माण हब बताते हुये आज निवेशकों को वहाँ निवेश के लिए आमंत्रित किया।

श्री पटनायक ने यहाँ ओडिशा निवेशक सम्मेलन को संबोधित करते हुये कहा कि राज्य में खनिज का अपार भंडार है। देश का 54 प्रतिशत एल्युमीनियम तथा 25 प्रतिशत स्टील उत्पादन यहाँ होता है। यह तेजी से पूर्वी भारत के विनिर्माण हब के रूप में उभर रहा है। उनकी सरकार का फोकस धातु उत्पादन को और बढ़ावा देना है। साथ ही वह खाद्य प्रसंस्करण, वस्त्र, पर्यटन, आईटी तथा इलेक्ट्रॉनिक्स और रसायन, प्लास्टिक तथा पेट्रो रसायन क्षेत्रों पर भी फोकस कर रही है।

इस सम्मेलन का आयोजन ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में 11 से 15 नवंबर तक आयोजित होने वाले ‘मेक इन ओडिशा कान्क्लेव’ के दूसरे संस्करण से पहले दिल्ली के निवेशकों को आकर्षित करना था। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ‘टीमवर्क (सामूहिक प्रयास), टेक्नोलॉजी (प्रौद्योगिकी) और ट्रांसपेरेंसी (पारदर्शिता)’ के तीन ‘टी’ के मंत्र पर काम कर रही है। उनकी सरकार के 18 साल के शासनकाल में ओडिशा की बंदरगाह क्षमता 10 गुणा होकर 19 करोड़ टन पर पहुँच गयी है। बिजली उत्पादन और सड़कों के नेटवर्क में भी अच्छी वृद्धि हुई है।

श्री पटनायक ने सम्मेलन के बाद संवाददाताओं को बताया कि नवंबर में होने वाले कान्क्लेव में जापान साझेदार देश और भारतीय स्टेट बैंक साझेदार बैंक होगा। उन्होंने उम्मीद जतायी कि निवेशक बड़ी संख्या में कान्क्लेव में हिस्सा लेंगे और राज्य में मौजूद निवेश के अवसरों का लाभ उठायेंगे।

अजीत/शेखर

जारी वार्ता

More News
रुपया 13 पैसे लुढ़का

रुपया 13 पैसे लुढ़का

22 Jul 2019 | 9:12 PM

मुंबई 22 जुलाई (वार्ता) वैश्विक स्तर पर दुनिया की प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर में स्थरिता रहने के बावजूद शेयर बाजार में हुयी गिरावट के कारण सोमवार को अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में रुपया 13 पैसे फिसलकर 68.93 रुपये प्रति डॉलर पर रहा।

see more..
image