Thursday, Mar 21 2019 | Time 19:18 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • श्रीनगर में व्यवसायियों ने हिरासत में मौत के विराेध में किया प्रदर्शन
  • बैंककर्मी से लूट मामले में चार गिरफ्तार
  • मिस्र में फैक्टरी में विस्फोट से 15 मरे
  • जहरीली शराब पीने से शिक्षक की मौत
  • वियतनाम के आठ छात्र नदी में डूबे
  • इनेलो विधायक रणबीर सिंह गंगवा भाजपा में शामिल
  • होली पर हुड़दंग करने वालों के खिलाफ पुलिस सख्त
  • शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी पर होली के बहाने फिर कसा तंज
  • पुलवामा घटना एक साजिश थी,नई सरकार बनने पर जांच होगी: रामगोपाल
  • नहर में डूबकर पांच युवक की मौत
  • सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़
  • गुजरात में धूमधाम से मनायी गयी होली:धुलेटी
  • पाकिस्तान का चीन ‘बुरे वक्त’ का और ‘चिरस्थायी’ मित्र:कुरैशी
  • खिलाड़ियों ने दी होली की बधाई
भारत


आर्थिक रूप से कमजोरों को आरक्षण संबंधी कानून पर राष्ट्रपति की मोहर

आर्थिक रूप से कमजोरों को आरक्षण संबंधी कानून पर राष्ट्रपति की मोहर

नयी दिल्ली, 12 जनवरी (वार्ता) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को 10 प्रतिशत आरक्षण के लिए संसद से पारित 103वें संविधान संशोधन कानून को शनिवार को मंजूरी दे दी


, सरकार की ओर से जारी अधिसूचना पत्र में इस आशय की जानकारी दी गयी है। इस कानून के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को सरकारी नौकरियों और उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश में अधिकतम 10 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की गयी है। यह आरक्षण मौजूदा आरक्षणों के अतिरिक्त होगा।

इस संविधान संशोधन के जरिये सरकार को ‘आर्थिक रूप से कमजोर किसी भी नागरिक” को आरक्षण देने का अधिकार मिल गया। ‘आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग’ की परिभाषा तय करने का अधिकार सरकार पर छोड़ दिया गया है जो अधिसूचना के जरिये समय-समय पर इसमें बदलाव कर सकती है। इसका आधार पारिवारिक आमदनी तथा अन्य आर्थिक मानक होंगे।

इस कानून के माध्यम से सरकारी के अलावा निजी उच्च शिक्षण संस्थानों में भी आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों के लिए आरक्षण की व्यवस्था लागू होगी, चाहे वह सरकारी सहायता प्राप्त हो या न हो। हालाँकि, संविधान के अनुच्छेद 30 के तहत स्थापित अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थानों में यह आरक्षण लागू नहीं होगा। साथ ही नौकरियों में सिर्फ आरंभिक नियुक्ति में ही सामान्य वर्ग के लिए आरक्षण मान्य होगा।

गौरतलब है कि गत सात जनवरी को मंत्रिमंडल ने इस बाबत फैसला लिया था और संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान लोकसभा में 124वां संविधान संशोधन विधेयक 2019 के तौर पर इसे अंतिम दिन आठ जनवरी को आनन-फानन में पेश किया गया था। लोकसभा से मंजूरी के बाद इसे राज्य सभा की मंजूरी के लिए लिए ऊपरी सदन की कार्यवाही एक दिन आगे बढ़ाने पड़ी थी। राज्य सभा से नौ नवम्बर को पारित होने के बाद इस 103वें संविधान संशोधन कानून को राष्ट्रपति के पास मंजूरी के लिए भेजा गया था।

सुरेश सचिन

वार्ता

More News
इनेलो विधायक रणबीर सिंह गंगवा भाजपा में शामिल

इनेलो विधायक रणबीर सिंह गंगवा भाजपा में शामिल

21 Mar 2019 | 6:45 PM

नयी दिल्ली, 21 मार्च (वार्ता) हरियाणा के नलवा चौधरी से भारतीय राष्ट्रीय लोक दल (इनेलो) के विधायक रणबीर सिंह गंगवा गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गये।

see more..
शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी पर होली के बहाने फिर कसा तंज

शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी पर होली के बहाने फिर कसा तंज

21 Mar 2019 | 6:34 PM

नयी दिल्ली, 21 मार्च (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ‘घरेलू आलोचक’ शत्रुघ्न सिन्हा ने होली के मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को शुभकामनाएं देते हुए उन पर तीखा तंज कसा है।

see more..
बॉलीवुड सितारों ने देशवासियों को दी होली की बधाई

बॉलीवुड सितारों ने देशवासियों को दी होली की बधाई

21 Mar 2019 | 4:54 PM

नयी दिल्ली, 21 मार्च (वार्ता) अक्षय कुमार, माधुरी दीक्षित, फराह खान, हेमा मालिनी और ऋतिक रोशन समेत बॉलीवुड के कई सितारों ने गुरुवार को देशवासियों को होली की शुभकामनाएं दी।

see more..
देशभर में होली की धूम, जगह-जगह रंगों में नजर आई लोगों की टोलियां

देशभर में होली की धूम, जगह-जगह रंगों में नजर आई लोगों की टोलियां

21 Mar 2019 | 6:34 PM

नयी दिल्ली, 21 मार्च (वार्ता) भाईचारे, सौहार्द्र और रंगों का त्योहार होली देश भर में परंपरागत हर्षोल्लास और धूमधाम से मनाया जा रहा है। रंगों और गुलाल से रंगे लोगों की टोलियां एक दूसरे से उत्साह के साथ गले मिल और गुलाल लगाकर होली की बधाई देते जगह.जगह नजर आई।

see more..
image