Wednesday, Nov 14 2018 | Time 17:23 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राम नाईक ने उच्च न्यायालय के नवनियुक्त मुख्य न्यायाधीश को दिलायी शपथ
  • शौरी का नाबाद शतक, दिल्ली ने हिमाचल को दिया 376 का लक्ष्य
  • पाकिस्तान चार राज्य नहीं संभाल सकता, कश्मीर क्या लेगा: अफरीदी
  • सहकारिता अमीरों और गरीबों के बीच खाई पाटे :राधामोहन
  • सहकारिता अमीरों और गरीबों के बीच खाई पाटे :राधामोहन
  • सहकारिता अमीरों और गरीबों के बीच खाई पाटे :राधामोहन
  • मारुति अर्टिगा के नये अवतार की बुकिंग शुरु 21 को बाजार में
  • श्रीलंका में अविश्वास प्रस्ताव को लेकर विरोधी दलों में तकरार
  • सेंसेक्स ढाई अंक और निफ्टी छह अंक फिसला
  • राजनीति इनेलो-अजय निष्कासित दो अंतिम चंडीगढ़
  • ‘प बंगाल में कोई ताकत न रखने वाला दल राज्य का नाम तय कर सकता है?’
  • एनजीटी ने पंजाब पर ठोंका 50 करोड़ रुपए जुर्माना
  • शिवभक्त नहीं, बगुला भगत हैं राहुल गांधी:भाजपा
  • मुजफ्फरनगर मण्डी में गुड़ एवं चीनी के भाव
  • समुद्री उत्पाद का निर्यात 95 प्रतिशत बढा
भारत Share

क्लीन एनर्जी के इस्तेमाल का लक्ष्य समय से पहले पूरा होगा : हर्षवर्धन

क्लीन एनर्जी के इस्तेमाल का लक्ष्य समय से पहले पूरा होगा : हर्षवर्धन

नयी दिल्ली, 04 सितम्बर (वार्ता) विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन ने मंगलवार को दावा कि देश में 2022 तक 175 गीगाबाइट क्लीन एनर्जी के इस्तेमाल का लक्ष्य समय से पहले प्राप्त कर लिया जायेगा।

श्री हर्षवर्धन ने अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासभा (आईवीएफ) की ओर से केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए भेजे जा रहे सौर उपकरणों से लदे वाहनों को रवाना करने के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि देश में वास्तव में सौर ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए पहले से ही बहुत बड़ा आंदोलन चल रहा है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसे लेकर एक लक्ष्य निर्धारित किया है।

उन्होंने कहा कि श्री मोदी का लक्ष्य 2022 तक देश में कम से कम 175 गीगाबाइट क्लीन एनर्जी के इस्तेमाल का है और इस दिशा में तेजी से प्रयास जारी है। उन्हें प्राप्त जानकारियों के अनुसार, भारत यह लक्ष्य समय से पहले प्राप्त कर लेगा।

केंद्रीय मंत्री ने आईवीएफ की इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि वैश्य समुदाय का एक सेनानी होने के नाते उन्हें गर्व की अनुभूति हो रही है कि महासभा ने ऐसा अभियान शुरू किया है और वह भी इसका हिस्सा हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर जहां सौर उपकरणों के कारण बाढ़ प्रभावितों के जीवन में ‘रोशनी’ आयेगी, वहीं यह सौर ऊर्जा के इस्तेमाल की दिशा में एक बेहतर प्रयास भी होगा।

श्री हर्षवर्धन ने कहा कि केरल में सब कुछ अस्त-व्यस्त हो गया है। बाढ़ के बाद बीमारियां फैलने का डर रहता है, ऐसी स्थिति में आईवीएफ की ओर से भेजे गये सौर उपकरण महती भूमिका निभायेंगे। इन उपकरणों का इस्तेमाल विभिन्न डिस्पेंसरियों में भी किया जा सकता है।

उन्होंने आईवीएफ अध्यक्ष अशोक अग्रवाल एवं वरिष्ठ उपाध्यक्ष एस के तिजारावाला सहित विभिन्न पदाधिकारियों की उपस्थिति में महासभा की ओर से 51 लाख रुपये के सौर उपकरण की पहली खेप को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने कहा कि आईवीएफ की ओर से आवश्यकतानुसार केरल के बाढ़ पीड़ितों को इस प्रकार की आगे भी सहायता जारी रहेगी। आईवीएफ वैश्य समुदाय के 25 करोड़ लोगों की सर्वोच्च संस्था है।

सुरेश

वार्ता

More News

14 Nov 2018 | 5:07 PM

 Sharesee more..

14 Nov 2018 | 4:37 PM

 Sharesee more..
ई-वीजा सुविधा सभी देशों के लिए व्यावहारिक तौर पर शुरू

ई-वीजा सुविधा सभी देशों के लिए व्यावहारिक तौर पर शुरू

14 Nov 2018 | 4:29 PM

नयी दिल्ली 14 नवम्बर (वार्ता) सरकार ने सुरक्षा पहलुओं से किसी तरह का समझौता किये बिना विदेशियों के देश में प्रवेश, प्रवास और अन्य गतिविधियों को अासान बनाने के लिए एक मजबूत वीजा व्यवस्था तैयार की है जिसके तहत लगभग सभी देशों के लिए इलेक्ट्रॉनिक वीजा सुविधा व्याहारिक रूप से शुरू हो गयी है।

 Sharesee more..
image