Monday, Sep 24 2018 | Time 11:43 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी ने किया सिक्किम के पहले हवाई अड्डे का उद्घाटन
  • रणवीर के साथ काम करना बेहतरीन अनुभव: कृति खरबंदा
  • अंतरिक्ष यात्री का किरदार निभायेंगे अक्षय कुमार
  • डोडा में भूस्खलन से पांच की मौत
  • दो दिन की वर्षा से गुजरात में मानसून के औसत में ढाई प्रतिशत का इजाफा
  • पाकिस्तान के दो मुख्य दल हो रहे हैं एकजुट
  • मूसलाधार बारिश से सहारनपुर में धान की फसल को भारी नुकसान
  • गंदेरबल में पुलिस की नाका टीम पर हमला
  • इम्फाल में विस्फोट, तीन घायल
  • अमेरिका और चीन के बीच तेज हुयी व्यापारिक जंग
  • क्यूबा के नए राष्ट्रपति अमेरिकी प्रतिबंध का करेंगे विरोध
  • मैक्रों की लोकप्रियता में आैर गिरावट : सर्वे
  • स्विट्जरलैंड के दूसरे प्रांत में भी बुर्का पर लगा प्रतिबंध
  • अपहृत नौका चालक दल के सदस्यों की हुई पहचान
  • मालदीव के राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार सोलिह जीते
भारत Share

क्लीन एनर्जी के इस्तेमाल का लक्ष्य समय से पहले पूरा होगा : हर्षवर्धन

क्लीन एनर्जी के इस्तेमाल का लक्ष्य समय से पहले पूरा होगा : हर्षवर्धन

नयी दिल्ली, 04 सितम्बर (वार्ता) विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन ने मंगलवार को दावा कि देश में 2022 तक 175 गीगाबाइट क्लीन एनर्जी के इस्तेमाल का लक्ष्य समय से पहले प्राप्त कर लिया जायेगा।

श्री हर्षवर्धन ने अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासभा (आईवीएफ) की ओर से केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए भेजे जा रहे सौर उपकरणों से लदे वाहनों को रवाना करने के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि देश में वास्तव में सौर ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए पहले से ही बहुत बड़ा आंदोलन चल रहा है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसे लेकर एक लक्ष्य निर्धारित किया है।

उन्होंने कहा कि श्री मोदी का लक्ष्य 2022 तक देश में कम से कम 175 गीगाबाइट क्लीन एनर्जी के इस्तेमाल का है और इस दिशा में तेजी से प्रयास जारी है। उन्हें प्राप्त जानकारियों के अनुसार, भारत यह लक्ष्य समय से पहले प्राप्त कर लेगा।

केंद्रीय मंत्री ने आईवीएफ की इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि वैश्य समुदाय का एक सेनानी होने के नाते उन्हें गर्व की अनुभूति हो रही है कि महासभा ने ऐसा अभियान शुरू किया है और वह भी इसका हिस्सा हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर जहां सौर उपकरणों के कारण बाढ़ प्रभावितों के जीवन में ‘रोशनी’ आयेगी, वहीं यह सौर ऊर्जा के इस्तेमाल की दिशा में एक बेहतर प्रयास भी होगा।

श्री हर्षवर्धन ने कहा कि केरल में सब कुछ अस्त-व्यस्त हो गया है। बाढ़ के बाद बीमारियां फैलने का डर रहता है, ऐसी स्थिति में आईवीएफ की ओर से भेजे गये सौर उपकरण महती भूमिका निभायेंगे। इन उपकरणों का इस्तेमाल विभिन्न डिस्पेंसरियों में भी किया जा सकता है।

उन्होंने आईवीएफ अध्यक्ष अशोक अग्रवाल एवं वरिष्ठ उपाध्यक्ष एस के तिजारावाला सहित विभिन्न पदाधिकारियों की उपस्थिति में महासभा की ओर से 51 लाख रुपये के सौर उपकरण की पहली खेप को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने कहा कि आईवीएफ की ओर से आवश्यकतानुसार केरल के बाढ़ पीड़ितों को इस प्रकार की आगे भी सहायता जारी रहेगी। आईवीएफ वैश्य समुदाय के 25 करोड़ लोगों की सर्वोच्च संस्था है।

सुरेश

वार्ता

More News

आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 25 सितंबर)

24 Sep 2018 | 8:33 AM

 Sharesee more..
पाकिस्तान से बेहतरी की कोई उम्मीद नहीं: जनरल रावत

पाकिस्तान से बेहतरी की कोई उम्मीद नहीं: जनरल रावत

23 Sep 2018 | 11:27 PM

नयी दिल्ली, 23 सितंबर(वार्ता) भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की अमेरिका के न्यूयार्क में होने वाली बातचीत केेे रद्द होने के बाद दोनों पक्षों की तरफ से हो रही विवादास्पद बयानबाजी के बीच भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने रविवार को कहा कि पाकिस्तान से बेहतरी की उम्मीद करना काफी त्रुटिपूर्ण होगा।

 Sharesee more..
महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’

23 Sep 2018 | 9:27 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) केंद्र सरकार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर देशभर में मुशायरों का आयोजन करेगी और इसके जरिए बापू का संदेश जन जन तक पहुंचाया जाएगा।

 Sharesee more..
राहुल और ओलांद के बयानों में तारतम्य की कोई वजह जरूर है: जेटली

राहुल और ओलांद के बयानों में तारतम्य की कोई वजह जरूर है: जेटली

23 Sep 2018 | 8:37 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) राफेल सौदे में रिलायंस को लाभ पहुंचाने के आरोपों से घिरी मोदी सरकार के बचाव में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को फिर मोर्चा संभाला और कहा कि राफेल को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तथा फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयानों में जो तारतम्य है, उसे देखते हुए लगता है कि दोनों बयानों के बीच जरूर कोई न कोई संबंध है।

 Sharesee more..
image