Tuesday, Jun 18 2019 | Time 20:13 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तीर्थयात्रियों ने की हेलिकाॅप्टर स्टाॅफ की पिटाई
  • गोरखपुर एसएसपी कार्यालय में तैनात लीपिक रिश्वत लेते गिरफ्तार
  • मोदी ने बुलायी राजनीतिक दलों के नेताओं की बैठक
  • प्रो0 रंजना अग्रवाल सीएसआईआर-एनआईएसटीएडीएस की निदेशक नियुक्त
  • वर्गास के डबल से चिली ने जापान को 4-0 से हराया
  • फिनस्वीमिंग में हरियाणा को पहला और दिल्ली को दूसरा स्थान
  • हरियाणा में योग समारोह में अमित शाह होंगे मुख्यातिथि
  • इंग्लैंड और अफगानिस्तान मैच का स्कोरबोर्ड
  • आर्थिक गणना में मोबाईल एप्लीकेशन का होगा प्रयोग : सिंह
  • उप्र में उपखनिजों की ओवरलोडिंग पर तत्काल प्रभाव से रोक:जैकब
  • इस्तीफा दे चुके विधायकों को विधानसभा समितियों में लेना जनता से ‘बेहूदा मज़ाक‘ : बादल
  • ओम बिड़ला का लोकसभा अध्यक्ष बनना तय
  • सिक्किम के मुख्यमंत्री ने की जितेंद्र सिंह से मुलाकात
  • रुपया 21 पैसे चढ़ा
  • हरियाणा में जच्चा-बच्चा मृत्यु दर में आई कमी: विज
भारत


दिल्ली, मप्र, हिमाचल, तेलंगाना के मुख्य न्यायाधीशों के नाम की सिफारिश

दिल्ली, मप्र, हिमाचल, तेलंगाना के मुख्य न्यायाधीशों के नाम की सिफारिश

नयी दिल्ली, 13 मई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय कॉलेजियम ने दिल्ली, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और तेलंगाना उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों के नाम की सिफारिश की है।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाले कॉलेजियम ने झारखंड उच्च न्यायालय के वरिष्ठ न्यायाधीश डी. एन. पटेल को दिल्ली उच्च न्यायालय और बॉम्बे उच्च न्यायालय के वरिष्ठ न्यायाधीश अकिल कुरैशी को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश की है।

कॉलेजियम ने तेलंगाना उच्च न्यायालय में पदस्थापित न्यायमूर्ति वी रामसुब्रमण्यम को हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय तथा तेलंगाना के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राघवेन्द्र सिंह चौहान को स्थायी तौर पर मुख्य न्यायाधीश पद पर तैनात करने की सिफारिश की है।

न्यायमूर्ति पटेल दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र मेनन को स्थान लेंगे, जो इस वर्ष जून में सेवानिवृत्त हो रहे हैं। मार्च 1960 में जन्मे न्यायमूर्ति पटेल ने 1984 में विधि स्नातक और 1986 में विधि में मास्टर डिग्री प्राप्त की थी।

उन्हें मार्च 2004 में गुजरात उच्च न्यायालय का अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त किया गया था और दो साल बाद उन्हें स्थायी नियुक्ति दी गयी। उन्हें 2009 में झारखंड उच्च न्यायालय में स्थानांतरित किया गया था। वह 2013 से 2018 के बीच झारखंड उच्च न्यायालय के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश के तौर पर चार बार कार्य कर चुके हैं।

न्यायमूर्ति अकिल कुरैशी मध्य प्रदेश के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश एस. के. सेठ का स्थान लेंगे जो आठ जून को सेवानिवृत्त होने वाले हैं। उनका पिछले साल नवंबर में बाॅम्बे उच्च न्यायालय में तबादल किया गया था।

न्यायमूर्ति कुरैशी ने एलएलबी की डिग्री ग्रहण करने के बाद 1983 से अपने अधिवक्ता जीवन की शुरुआत की थी और मार्च 2004 में उन्हें गुजरात उच्च न्यायालय का अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त किया गया था। वर्ष 2005 में वह स्थाई न्यायाधीश बने।

More News
ओम बिड़ला का लोकसभा अध्यक्ष बनना तय

ओम बिड़ला का लोकसभा अध्यक्ष बनना तय

18 Jun 2019 | 8:09 PM

नयी दिल्ली 18 जून (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के श्री ओम बिड़ला का 17वीं लोकसभा का अध्यक्ष बनना तय हो गया है।

see more..
मोदी ने मिलाप कोठारी के निधन पर शोक व्यक्त किया

मोदी ने मिलाप कोठारी के निधन पर शोक व्यक्त किया

18 Jun 2019 | 8:09 PM

नयी दिल्ली 18 जून (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राजस्थान पत्रिका के निदेशक मिलाप चंद कोठारी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। श्री मोदी ने अपने शोक संदेश में कहा,“पत्रिका समूह के निदेशक श्री मिलाप कोठारी के निधन से दुखी हूं।

see more..
image