Sunday, Nov 18 2018 | Time 13:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • निरंकारी समारोह पर बम हमले में तीन लाेगों की मौत, कईं घायल
  • हेरिटेज फूड्स ने लाँच किया गाय का दूध
  • अमृतसर में निरंकारी भवन में बम हमला, कई लोगों की मौत
  • कश्मीर में अज्ञात बंदूकधारियों ने एक और युवक का किया अपहरण
  • वैश्विक संकेतों और कच्चे तेल पर रहेगी निवेशकों की नजर
  • 112वें नंबर की टीम जॉर्डन से कड़े संघर्ष में हारा भारत
  • छत्तीसगढ़ के आखिरी चरण की 72 सीटो पर आज शाम होगा प्रचार समाप्त
  • मंधाना के विस्फोट से ऑस्ट्रेलिया ध्वस्त, भारत टॉप पर
  • मंधाना के विस्फोट से ऑस्ट्रेलिया ध्वस्त, भारत टॉप पर
  • छत्तीसगढ़ के आखिरी चरण की 72 सीटो पर आज शाम होगा प्रचार समाप्त
  • सलिल ने गीतों से देशभक्ति के जज्बे को बुलंद किया
  • सलिल ने गीतों से देशभक्ति के जज्बे को बुलंद किया
  • सलिल ने गीतों से देशभक्ति के जज्बे को बुलंद किया
  • गुरुद्वारे का निर्माणाधीन हिस्सा ढहने से तीन सेवादारों की मौत, तीन घायल
  • जीनत ने अभिनेत्रियों को दिलायी विशिष्ट पहचान
राज्य Share

याद किये गये भारतरत्न पंडित गोविन्द बल्लभ पंत

याद किये गये भारतरत्न पंडित गोविन्द बल्लभ पंत

जौनपुर, 10 सितंबर (वार्ता) भारतरत्न गोविन्द बल्लभ पंत का 131 वां जन्मदिन सोमवार को यहां मनाया गया।

इस अवसर पर हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन आर्मी व लक्ष्मीबाई ब्रिगेड के कार्यकर्ताओ ने शहीद स्मारक पर महान स्वतंत्रता सेनानी श्री पंत के चित्र पर माल्यार्पण किया और उनके व्यक्तित्व तथा कृतित्व पर प्रकाश डाला।

शहीद स्मारक पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए लक्ष्मीबाई ब्रिगेड के अध्यक्ष मंजीत कौर ने कहा कि उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री, महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पंत का जन्म उत्तराखण्ड के अल्मोड़ा जिले के खूंट गांव मे 10 सितंबर 1887 को हुआ था।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय से 1909 में कानून की परीक्षा पास की और काकोरी काण्ड के मुकदमें की पैरवी से उन्हें पहचान व प्रतिष्ठा मिली। 1937 में श्री पंत संयुक्त प्रान्त के प्रधान मंत्री बने और 1946 में उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री बने। 10 जनवरी 1955 को श्री पंत जी ने भारत के गृहमंत्री का पद सभाला था।

उन्होंने कहा कि देश में ऐसे क्रातिकारी नेताओं की सूची बहुत कम है, जिन्होंने राजनीति के साथ-साथ साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है ।

उत्तराखण्ड ने शिक्षा के क्षेत्र में जो भी उपलब्धियां हासिल की है, पंत जी ने उनकी आधार शिला रखी है। उन्होंने कहा कि पंत जी ने ही हिन्दी को राजकीय भाषा का दर्जा दिलाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी। सात मार्च 1961 को श्री पंत का देहान्त हो गया।

सं प्रदीप

चौरसिया

वार्ता

More News
कश्मीर में ट्रेन सेवा शुरू

कश्मीर में ट्रेन सेवा शुरू

18 Nov 2018 | 12:59 PM

श्रीनगर 18 नवंबरा (वार्ता) जम्मू-कश्मीर में अलगाववादियों के हड़ताल के कारण शनिवार को स्थगित की गई ट्रेन सेवा रविवार को बहाल हो गई। रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यूनीवार्ता से कहा,“हमने घाटी में ट्रेन सेवा शुरू कर दी है।”

 Sharesee more..

उप महाधिवक्ता को निर्वाचन आयोग का नोटिस

18 Nov 2018 | 12:58 PM

 Sharesee more..

मोटरसाइकिल से कुचलकर किशोर की मौत

18 Nov 2018 | 12:51 PM

 Sharesee more..
image