Saturday, Jan 23 2021 | Time 14:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गया में एक व्यक्ति की हत्या, तीन गिरफ्तार
  • कोरोना महामारी में दुनिया भर में 21 लाख से अधिक कालकवलित
  • प्रतापगढ़ में जहरीली शराब पीने से दो की मृत्यु पांच बीमार
  • जम्मू में अल्पसंख्यकों को दी जा रही सजा: महबूबा
  • सरदारशहर में पिस्तौल की नोक पर करीब सौलह लाख का सोना लूटा
  • एक दिन में करीब साढ़े तीन लाख लोगों को लगा कोरोना का टीका
  • आम आदमी पार्टी ने निकाली मोटरसाइकिल रैली
  • पैलेस ऑन व्हील्स पर्यटकों के लिए चौबीस फरवरी से पटरी पर दौड़ेगी
  • धनखड़ ने नेताजी के चित्र का किया अनावरण
  • कोरोना वैक्सीन की 20 लाख खुराक भारत से ब्राजील पहुंची
  • सात राज्यों में सक्रिय मामलों में सबसे अधिक कमी
  • ममता ने दी नेताजी को श्रद्धांजलि
  • चेन्नई सर्राफा के खुले भाव
  • सक्रिय मामलों की दर पौने दो फीसदी से नीचे
  • जयपुर में अचानक सड़क धंसने से एक युवती सहित दो लोग घायल
राज्य » अन्य राज्य


अक्षय पात्र फाउंडेशन बोर्ड ऑफ ट्रस्टी का पुनर्गठन

अक्षय पात्र फाउंडेशन बोर्ड ऑफ ट्रस्टी का पुनर्गठन

बेंगलुरु 17 नवंबर (वार्ता) कर्नाटक में स्कूली बच्चों के लिए मध्याह्न भोजन कार्यक्रम चलाने वाली बेंगलुरु की अक्षय पात्र फाउंडेशन (एपीएफ) ने अपने न्यासी बोर्ड का पुनर्गठन किया है।

एपीएफ की ओर से मंगलवार को यहां जारी एक बयान के अनुसार, इन्फोसिस के पूर्व निदेशक मोहनदास पाई और एक अन्य ट्रस्टी राज कोंडूर ने कुछ आंतरिक मुद्दों पर फाउंडेशन से अलग होने का फैसला किया जिसके कारण न्यासी बोर्ड का पुनर्गठन किया गया है। एक अन्य गैर-कार्यकारी ट्रस्टी अभय जैन ने व्यक्तिगत मुद्दों पर फाउंडेशन छोड़ने की अपनी इच्छा के बारे में सूचित किया है।

केंद्रीय सतर्कता आयोग के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष के वी चौधरी गैर-कार्यकारी सदस्य के रूप में बोर्ड में शामिल हुए हैं। अन्य गैर-कार्यकारी सदस्यों में मानव संसाधन विभाग के पूर्व सचिव अनिल स्वरूप और थर्मैक्स के पूर्व प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम उन्नीकृष्णन हैं।

एपीएफ ने एक नई ऑडिट समिति भी बनाई है जिसमें अब श्री चौधरी और पीडब्ल्यूसी के पूर्व पार्टनर कौशिक दत्ता शामिल होंगे ।

इसबीच एपीएफ के अध्यक्ष मधु पंडित दासा ने एक विज्ञप्ति में कहा, “निवर्तमान ट्रस्टियों - मोहनदास पाई, अभय जैन, वी बालकृष्णन और राज कोंडुर ने वर्ष 2000 में स्थापना के दिनों से ही असाधारण सेवा प्रदान की है। हम इसके लिए बहुत आभारी हैं उनके समर्पण और अमूल्य मार्गदर्शन के लिए। हम नए न्यासी और लेखा परीक्षा समिति के सदस्यों का स्वागत करते हैं।”

संजय आशा

वार्ता

More News
मेघालय के कोयला खनन क्षेत्र में दुर्घटना में छह की मौत

मेघालय के कोयला खनन क्षेत्र में दुर्घटना में छह की मौत

22 Jan 2021 | 11:20 PM

शिलांग 22 जनवरी (वार्ता) मेघालय के पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले के दिनेशालु गांव के पास सोरारी में कोयला खनन क्षेत्र में एक दुर्घटना में छह श्रमिकों की मौत हो गई।

see more..
image