Monday, Feb 18 2019 | Time 17:24 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लखनऊ से माल कस्बा शादी में गये व्यक्ति की धारदार हथियार से हत्या
  • टीम फोर्स ने जीता टीडीएस क्वींस आॅफ नार्थ इंडिया खिताब
  • शिक्षा के व्यवसायीकरण के खिलाफ रैली
  • नई दिल्ली मैराथन में चमक बिखेरेंगे धोनी, रशपाल, मोनिका और ज्योति
  • छत्तीसगढ़ के तीन शहरों से विमान सेवा शुरू करने की अनुमति- भूपेश
  • दक्षिणी कश्मीर के शोपियां में घेराबंदी और तलाश अभियान शुरू
  • शहीद जवानों के परिवार की मदद के लिए आगे आए शमी
  • शारदा चिटफंड : नलिनी चिदम्बरम को फौरी राहत
  • अनुराग ठाकुर के नाम पर विधानसभा में बवाल
  • इस्तीफे के एक माह बाद भी मंत्री पद पर है अगप का विधायक
  • विश्व कप में पाकिस्तान से नहीं खेले भारत : सीसीआई
  • देवबंद छोड़ें कश्मीरी छात्र वरना हम भेजेंगे वापस: बजरंग दल
  • वक्फ सम्पत्तियों से कौशल, शैक्षणिक विकास :नकवी
  • कृषि रोडमैप लागू होने से किसानों की आय होगी दुगनी : मंत्री
  • हिरासत में लिये गये रूसी नागरिक रिहा: नीदरलैंड दूतावास
India Share

ताज महल के संरक्षण को लेकर उच्चतम न्यायालय ने जतायी नाखुशी

ताज महल के संरक्षण को लेकर उच्चतम न्यायालय ने  जतायी नाखुशी

नयी दिल्ली, 11 जुलाई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने आगरा के ऐतिहासिक ताज महल को संरक्षित करने के केन्द्र और उत्तर प्रदेश सरकारों के तरीकों पर गहरी नाखुशी जाहिर करते हुए कहा है कि अगर उसकी उचित देखरेख नहीं संभव है तो उसे ढहा दिया जाये।
न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर की अध्यक्षता वाली खंड पीठ ने ताज महल के उचित रखरखाव संबंधी एक याचिका पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी की। न्यायालय ने कहा, “या तो हम ताज महल को बंद कर दें अथवा आप उसे ढहा दीजिए या फिर उसकी उचित देखरेख कीजिए।”
शीर्ष अदालत ने ताज महल के रखरखाव को लेकर गहरी नाखुशी जाहिर करते हुए कहा, “ ताज महल एफिल टॉवर से ज्यादा खूबसूरत है और यह देश की विदेशी मुद्रा संबंधी समस्या का समाधन कर सकता है लेकिन उसकी वर्तमान स्थिति और दशा दयनीय है। इसका संरक्षण, सुरक्षा और रखरखाव जिस तरीके से किया जा रहा है उससे ताज महल की दशा बिगड़ती जा रही है।
न्यायालय ने कहा, “ एफिल टॉवर काे देखने आठ करोड़ लोग देखने जाते हैं। हमारा ताज महल उससे ज्यादा खूबसूरत है। यदि आप इसकी उचित देखरेख करें तो आपकी विदेशी मुद्रा की समस्या का समाधान हो सकता है। ”
उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार की खिंचाई करते हुए कहा कि वह ताज महल को संरक्षित और सुरक्षित करने से संबंधित दृष्टि पत्र प्रस्तुत करे। न्यायालय ने केन्द्र सरकार से भी कहा कि वह इस संबंध में अपना विवरण पेश करे।
न्यायालय ने ताज ट्रेपेजियम जोन के अध्यक्ष से कहा कि वह जोन में औद्योगिक इकाइयों के विस्तार पर रोक लगाने के उसके आदेश के उल्लंघन के बारे में जानकारी दें। इस मामले में 31 जुलाई से नियमित सुनवाई होगी।
गौरतलब है कि मई में न्यायालय ने कहा था कि ताजमहल पीला पड़ रहा है और अब वह प्रदूषण के कारण भूरा और हरा हो रहा है।
मुगल बादशाह शाहजहां की बेगम मुमताज महल की याद में सत्रहवीं शताब्दी में बनाया गया ताज महल दुनिया के सात अजूबों में शामिल है। इसे देखने के लिए दुनिया भर से लाखों लोग प्रतिवर्ष आगरा जाते हैं। यूनेस्को ने इसे विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया है।
श्रवण आशा
वार्ता

More News
बातचीत का समय बीत चुका है: मोदी

बातचीत का समय बीत चुका है: मोदी

18 Feb 2019 | 5:17 PM

नयी दिल्ली, 18 फरवरी (वार्ता) भारत और अर्जेंटीना ने आतंकवाद के खात्मे के लिए मिलकर काम करने की सोमवार को प्रतिबद्धता व्यक्त की तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पुलवामा हमले ने साफ कर दिया है कि बातचीत का समय अब बीत चुका है।

 Sharesee more..
पटेल के मूर्तिकार रामसुतार समेत तीन को मिला टैगोर अवार्ड

पटेल के मूर्तिकार रामसुतार समेत तीन को मिला टैगोर अवार्ड

18 Feb 2019 | 5:07 PM

नयी दिल्ली, 18 फरवरी (वार्ता) राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सोमवार को यहां गुजरात में सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा बनाने वाले पद्मभूषण से सम्मानित वयोवृद्ध मूर्तिकार राम सुतार, मणिपुरी नृत्य के गुरु राजकुमार सिंघनजीत सिंह और बंगलादेश की प्रसिद्ध सांस्कृतिक संस्था 'छायानट' को कला एवं संस्कृति के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए टैगोर अवार्ड से सम्मानित किया।

 Sharesee more..

सोलह करोड लोग करते हैं शराब का सेवन

18 Feb 2019 | 4:43 PM

 Sharesee more..
युवाओं से खिलवाड़ कर रही मोदी सरकार: कांग्रेस

युवाओं से खिलवाड़ कर रही मोदी सरकार: कांग्रेस

18 Feb 2019 | 4:35 PM

नयी दिल्ली, 18 फरवरी (वार्ता) कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार ने पिछले पांच साल के दौरान युवाओं को रोजगार के अवसर देने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए हैं और वह उनके भविष्य के साथ लगातार खिलवाड़ करती रही है।

 Sharesee more..
image