Wednesday, Nov 21 2018 | Time 04:56 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
India Share

ताज महल के संरक्षण को लेकर उच्चतम न्यायालय ने जतायी नाखुशी

ताज महल के संरक्षण को लेकर उच्चतम न्यायालय ने  जतायी नाखुशी

नयी दिल्ली, 11 जुलाई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने आगरा के ऐतिहासिक ताज महल को संरक्षित करने के केन्द्र और उत्तर प्रदेश सरकारों के तरीकों पर गहरी नाखुशी जाहिर करते हुए कहा है कि अगर उसकी उचित देखरेख नहीं संभव है तो उसे ढहा दिया जाये।
न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर की अध्यक्षता वाली खंड पीठ ने ताज महल के उचित रखरखाव संबंधी एक याचिका पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी की। न्यायालय ने कहा, “या तो हम ताज महल को बंद कर दें अथवा आप उसे ढहा दीजिए या फिर उसकी उचित देखरेख कीजिए।”
शीर्ष अदालत ने ताज महल के रखरखाव को लेकर गहरी नाखुशी जाहिर करते हुए कहा, “ ताज महल एफिल टॉवर से ज्यादा खूबसूरत है और यह देश की विदेशी मुद्रा संबंधी समस्या का समाधन कर सकता है लेकिन उसकी वर्तमान स्थिति और दशा दयनीय है। इसका संरक्षण, सुरक्षा और रखरखाव जिस तरीके से किया जा रहा है उससे ताज महल की दशा बिगड़ती जा रही है।
न्यायालय ने कहा, “ एफिल टॉवर काे देखने आठ करोड़ लोग देखने जाते हैं। हमारा ताज महल उससे ज्यादा खूबसूरत है। यदि आप इसकी उचित देखरेख करें तो आपकी विदेशी मुद्रा की समस्या का समाधान हो सकता है। ”
उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार की खिंचाई करते हुए कहा कि वह ताज महल को संरक्षित और सुरक्षित करने से संबंधित दृष्टि पत्र प्रस्तुत करे। न्यायालय ने केन्द्र सरकार से भी कहा कि वह इस संबंध में अपना विवरण पेश करे।
न्यायालय ने ताज ट्रेपेजियम जोन के अध्यक्ष से कहा कि वह जोन में औद्योगिक इकाइयों के विस्तार पर रोक लगाने के उसके आदेश के उल्लंघन के बारे में जानकारी दें। इस मामले में 31 जुलाई से नियमित सुनवाई होगी।
गौरतलब है कि मई में न्यायालय ने कहा था कि ताजमहल पीला पड़ रहा है और अब वह प्रदूषण के कारण भूरा और हरा हो रहा है।
मुगल बादशाह शाहजहां की बेगम मुमताज महल की याद में सत्रहवीं शताब्दी में बनाया गया ताज महल दुनिया के सात अजूबों में शामिल है। इसे देखने के लिए दुनिया भर से लाखों लोग प्रतिवर्ष आगरा जाते हैं। यूनेस्को ने इसे विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया है।
श्रवण आशा
वार्ता

More News
केजरीवाल पर युवक ने मिर्ची पाउडर फेंका.सियासत शुरु

केजरीवाल पर युवक ने मिर्ची पाउडर फेंका.सियासत शुरु

20 Nov 2018 | 8:12 PM

नयी दिल्ली 20 नवंबर (वार्ता) मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर दिल्ली सचिवालय में मंगलवार को एक शख्स के कथित रूप से मिर्ची पाउडर फेंकने को लेकर सियासत शुरू हो गयी है। आम आदमी पार्टी (आप) ने आरोप लगाया है कि हमलावर को केंद्र की भाजपा सरकार का समर्थन है, वहीं राजौरी गार्डन से विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने इस घटना को ‘केजरीवाल का स्वयं रचित ड्रामा’ करार दिया है।

 Sharesee more..

भारत में मलेरिया के मामले घटे : डब्लुएचओ

20 Nov 2018 | 8:00 PM

 Sharesee more..
सिख दंगों के एक मामले में एक को फांसी,  दूसरे को आजीवन कारावास. 35..35 लाख रुपए जुर्माना

सिख दंगों के एक मामले में एक को फांसी, दूसरे को आजीवन कारावास. 35..35 लाख रुपए जुर्माना

20 Nov 2018 | 7:47 PM

नयी दिल्ली 20 नवंबर (वार्ता) पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 30 अक्टूबर 1984 को अंगरक्षकों के हत्या किए जाने के बाद दिल्ली समेत देश के विभिन्न हिस्सों में भड़के सिख विरोधी दंगों के मामलों में 34 वर्ष की लंबी अवधि के उपरांत एक मामले में फैसला सुनाया गया।

 Sharesee more..
सीबीएसई की केन्द्रीय पात्रता परीक्षा नौ दिसम्बर को

सीबीएसई की केन्द्रीय पात्रता परीक्षा नौ दिसम्बर को

20 Nov 2018 | 7:24 PM

नयी दिल्ली, 20 अप्रैल(वार्ता) केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) की केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा नौ दिसंबर को होगी। सीबीएसई द्वारा आज यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार यह परीक्षा देश के 92 शहरों में 2296 केन्द्रों पर होगी। परीक्षा सुबह 9.30 बजे से शाम साढ़े चार बजे तक होगी। इस दौरान दो पेपर की परीक्षा होगी।

 Sharesee more..
सुषमा का फैसला निजी मामला: कांग्रेस

सुषमा का फैसला निजी मामला: कांग्रेस

20 Nov 2018 | 7:09 PM

नयी दिल्ली, 20 नवंबर (वार्ता) कांग्रेस ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने के फैसले को उनका निजी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का आंतरिक मामला करार दिया है।

 Sharesee more..
image