Monday, Jan 21 2019 | Time 19:34 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • झारखंड में बजटीय आवंटन का महज 52 16 प्रतिशत ही हुआ खर्च
  • नंबर एक हालेप बाहर, सेरेना और जोकोविच क्वार्टरफाइनल में
  • कुएं में गिरी शेरनी को जीवित निकाला गया
  • राकांपा का ‘निर्धार परिवर्तन संकल्प यात्रा’ पहुंचा औरंगाबाद
  • श्रीनगर नगर निगम की बैठक में उप महापौर पर हमला
  • इसरो करेगा नये स्पेस टेलीस्कोप का प्रक्षेपण
  • आईएमएफ ने भारत का विकास अनुमान बढ़ाया
  • केएफसी का एलेक्सा से करार
  • साक्षी-ओमेलचेंको मुक़ाबला होगा मुख्य आकर्षण
  • नरसिंह डोपिंग मामले में सीबीआई दायर करे अपना जवाब: हाईकोर्ट
  • फोनपे से जुड़े 10 लाख ऑफ़लाइन व्यापारी
  • बजाज ऑटो अगले वर्ष उतार सकती है इलेक्ट्रिक स्कूटर
  • तीन वर्षाें में 50 लाख मोटरसाइकिल निर्यात करेगी बजाज ऑटो
  • विवेक डोभाल ने पत्रिका के खिलाफ मानहानि केस दर्ज कराया
बिजनेस Share

ऐतिहासिक स्तर तक लुढ़कने के बाद रुपये ने की वापसी

ऐतिहासिक स्तर तक लुढ़कने के बाद रुपये ने की वापसी

मुंबई 12 सितम्बर (वार्ता) घरेलू शेयर बाजार की तेजी के दम पर अंतरबैंकिग मुद्रा बाजार में रुपया दो दिन की गिरावट से उबरता हुआ बुधवार को 51 पैसे की मजबूत बढ़त के साथ 72.18 रुपये प्रति डॉलर पर पहुँच गया।

भारतीय मुद्रा मंगलवार को 24 पैसे लुढ़ककर 72.69 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुई थी जो अब तक का न्यूनतम बंद भाव है।

रुपये की शुरुआत कमजोर रही और यह 14 पैसे टूटकर 72.83 रुपये प्रति डॉलर पर खुला। कच्चे तेल की कीमतों में तेजी और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) के पूँजी बाजार से पैसा निकालने से आरंभ में यह दबाव में रहा। दोपहर से पहले ही एक समय यह 72.91 रुपये प्रति डॉलर के ऐतिहासिक निचले स्तर तक लुढ़क गया था।

दोपहर बाद शेयर बाजर में लिवाली तेज रहने से मुद्रा बाजार में भी धारणा मजबूत हुई और रुपया 71.86 रुपये प्रति डॉलर के उच्चतम स्तर तक चढ़ गया। इस प्रकार आज इसमें भारी उतार-चढ़ाव देखा गया। कारोबार की समाप्ति पर यह मंगलवार की तुलना में 51 पैसे ऊपर 72.18 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के 305 अंक की बढ़त में बंद होने और दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर में मामूली गिरावट से रुपये को समर्थन मिला। हालाँकि, एफपीआई ने बाजार से 18.06 करोड़ डॉलर की शुद्ध निकासी की।

लंदन का ब्रेंट क्रूड वायदा 79.66 डॉलर प्रति बैरल के मई 2018 के बाद के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया जिसने रुपये की तेजी पर लगाम का काम किया।

अजीत जितेन्द्र

वार्ता

More News

आईएमएफ ने भारत का विकास अनुमान बढ़ाया

21 Jan 2019 | 7:17 PM

 Sharesee more..

केएफसी का एलेक्सा से करार

21 Jan 2019 | 7:16 PM

 Sharesee more..

फोनपे से जुड़े 10 लाख ऑफ़लाइन व्यापारी

21 Jan 2019 | 7:07 PM

 Sharesee more..
image