Wednesday, Jan 23 2019 | Time 16:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अस्थाना के तबादले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गयी
  • लगातार दूसरे दिन शेयर बाजार में हावी रही बिकवाली
  • राजीव दीक्षित की मौत की पीएमओ के निर्देश पर
  • घरेलू कामगारों पर भारत ने किया कुवैत के साथ समझौता
  • जोकोविच सेमीफाइनल में, सेरेना का सपना टूटा
  • पात्रता निर्धारित होने पर बीपीएल परिवारों को एक रुपए किलो गेंहू-मीणा
  • गुजरात के स्कूलों में ऑनलाइन गेम पबजी पर लगा प्रतिबंध
  • मारुति ने उतारी नयी वैगन आर; कीमत 4 19 से 5 69 लाख रुपये तक
  • आईटीसी के मुनाफे में चार फीसदी की बढ़त
  • मीठी तुलसी से भारतीय आहार से 250 अरब कैलोरी कम करने की योजना
  • प्रवासियों का पैसा नहीं, ताकत, सुझाव, तकनीक चाहिए : वी के सिंह
  • राजपथ पर सेना के साथ दिखायी देंगे आजाद हिन्द फौज के सैनिक
  • रवि शंकर ने प्रियंका की नियुक्ति पर ली चुटकी
  • धारी सनसनीखेज घटना: शवों की शिनाख्त, तीनों एक ही परिवार सदस्य
  • जीएसटी राष्ट्रीय अपीलीय न्यायाधिकरण को कैबिनेट की मंजूरी
दुनिया Share

शरीफ परिवार जेल में मनायेंगे ईदुल-जुहा

शरीफ परिवार जेल में मनायेंगे ईदुल-जुहा

इस्लामाबाद 21 अगस्त (वार्ता) पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, उनकी पुत्री मरियम नवाज और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) मोहम्मद सफदर की ईदुल-जुहा इस बार अदियाला जेल में मनेगी।

श्री शरीफ के जेल में त्योहार मनाने का यह पहला मौका नहीं है। इससे पहले 1999 में हुए तख्ता पलट विरोध के बाद श्री शरीफ को जेल में रखा गया था , तब भी उन्हें दो बार ईद जेल में रहकर ही मनाना पड़ा।

दैनिक ‘डॉन’ के मुताबिक श्री शरीफ, मरियम और कैप्टन सफदर की रिहाई की एक याचिका पर इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने अपना फैसला सुरक्षित रखा है। इसके कारण श्री नवाज और अन्य को इस बार ईदुल-जुहा जेल में मनाने के अलावा और कोई चारा नहीं है।

उच्च न्यायालय में मामले की सुनवाई के दौरान राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो(एनएबी) के वकील सरदार मुजफ्फर अब्बासी ने तर्क पेश किया कि सजा के खिलाफ ब्यूरो में अपील दायर करने के बाद अभियुक्त फैसले के स्थगन के लिए किसी अन्य अदालत में याचिका दायर नहीं कर सकते। जस्टिस अतहर मिनाल्लाह और जस्टिस एम हसन औरंगजेब की पीठ ने इस आपत्ति को नजरअंदाज करते हुए बचावपक्ष के वकील ख्वाजा हरिस और अमजद परवेज से अपने तर्क रखने के लिए कहा था। जब अदालत ने अभियोजक अब्बासी से गुरुवार को मामले पर बहस करने के लिए कहा, तो उसने जवाब देने के लिए समय मांगा था। खंडपीठ ने विलंब की रणनीति लागू करने पर नाराजगी जाहिर की और बाद में एनएबी पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया तथा सुनवाई स्थगित कर दी थी।

उल्लेखनीय है कि गत छह जुलाई को जवाबदेही अदालत ने एवनफिल्ड संपत्ति मामले में श्री शरीफ को 10 वर्ष , मरियम को सात वर्ष तथा कैप्टन सफदर को एक वर्ष की सजा सुनायी थी।

संजय टंडन

वार्ता

More News

इंडोनेशिया में भूस्खलन से छह मरे,10 लापता

23 Jan 2019 | 3:37 PM

 Sharesee more..

सीरिया में आग लगने से सात बच्चों की मौत

23 Jan 2019 | 1:24 PM

 Sharesee more..

तुर्की में 43 अवैध प्रवासी गिरफ्तार

23 Jan 2019 | 1:06 PM

 Sharesee more..
image