Wednesday, Nov 14 2018 | Time 12:13 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चुनाव ड्यूटी से लौट रहे जवानों को नक्सलियों ने बनाया निशाना
  • कुपवाड़ा में सुरक्षा बलों का खोजी अभियान फिर शुरू
  • भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक सामा-चकेवा शुरू
  • ट्रक एवं कार की टक्कर में छह लोगों की मौत, चार घायल
  • पुलिस मुठभेड़ में कुख्यात अपराधी हीरो मारा गया , दो गिरफ्तार
  • प्रणव, हामिद ने नेहरू को उनके जन्मदिवस पर नमन किया
  • तेलंगाना विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला
  • सिंगापुर में आज शुरू होगी दो दिवसीय पूर्वी एशिया शिखर बैठक
  • हैदराबाद में कार पेड़ से टकराई, आठ लोग घायल
  • बाल दिवस: गूगल ने डूडल बनाकर नेहरु और बच्चों को किया समर्पित
  • बिहार में सूर्योपासना का महापर्व छठ समाप्त
  • कैलिफोर्निया में भीषण आग, मरने वालो की संख्या बढ़ कर 48 हुुई
  • गोण्डा सड़क दुर्घटना में कार सवार तीन लोगों की मृत्यु
  • मोदी ने नेहरू की जयंती पर उन्हें किया याद
  • अमेरिकी रक्षा मंत्री और कतर के उप प्रधानमंत्री ने अफगानिस्तान केे मसले पर बातचीत की
भारत Share

छोटे उद्योगों को तकनीक मिलने से गुणवत्ता में सुधार होगा: गिरिराज

छोटे उद्योगों को तकनीक मिलने से गुणवत्ता में सुधार होगा: गिरिराज

नयी दिल्ली 07 सितंबर (वार्ता) केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री गिरिराज सिंह ने रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) एवं सशस्त्र सेनाओं तथा छोटे उद्योगों के बीच सहयोग पर बल देते हुए आज कहा कि इससे रक्षा विनिर्माण क्षेत्र में आत्मनिर्भरता बढ़ेगी और गुणवत्ता में सुधार होगा।

श्री सिंह ने शुक्रवार को यहां ‘रक्षा एवं गृह सुरक्षा प्रदर्शनी एवं सम्मेलन’ में कहा कि सरकार का ‘मेक इन इंडिया’ अभियान का असर जमीनी स्तर पर दिखने लगा है। सरकार छोटे उद्योगों को नयी तकनीक दिलाने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है। उन्हाेंने कहा कि डीआरडीओ और सशस्त्र सेनाओं को छोटे उद्योगों के साथ सहयोग करना चाहिए। इससे रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता बढ़ेगी और उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार आएगा। इस अवसर प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री डा. जितेंद्र सिंह, तीनों सेनाओ के वरिष्ठ अधिकारी तथा उद्योगपति भी मौजूद थे।

श्री सिंह ने कहा कि मेक इन इंडिया अभियान से रक्षा विनिर्माण क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में इजाफा हुआ है आैर अन्य क्षेत्रों को इसका लाभ मिला है। छोटे उद्योगों को तकनीक मिल रहे हैं और उनके उत्पादों का बाजार बदल रहा है।

उन्होंने कहा कि अगर छोटे उद्योगों को सही और सटीक तकनीक उपलब्ध करा दी जाए तो उनके उत्पाद पर्यावरण के अनुकूल तथा बिना किसी त्रुटि के होंगे।

सत्या सचिन

वार्ता

More News

मोदी ने नेहरू की जयंती पर उन्हें किया याद

14 Nov 2018 | 9:13 AM

 Sharesee more..

कोविंद ने नेहरु को किया नमन

14 Nov 2018 | 8:58 AM

 Sharesee more..

आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 15 नवंबर)

14 Nov 2018 | 8:40 AM

 Sharesee more..
image