Friday, Oct 7 2022 | Time 15:23 Hrs(IST)
image
खेल


सीओए , फीफा-एएफसी , एआईएफएफ और खेल मंत्रालय के बीच पिछले कुछ दिन की बातचीत में यह सुझाव आया कि 36 राज्य-प्रतिनिधियों को मिला कर गठित निर्वाचन मंडल के साथ एआईएफएफ की कार्यकारिणी समिति (ईसी) के चुनाव करा लिए जाएं।
फीफा ने खेल मंत्रालय के जरिये यह सुझाव भी दिया था कि ईसी में छह प्रतिष्ठित खिलाड़ियों सहित 23 सदस्य हो सकते हैं। इस सुझाव के अनुसार खिलाड़ियों को नामित किया जाएगा जिनमें दो प्रतिष्ठित महिला खिलाड़ी होंगी और नामित सभी खिलाड़ियों को कार्यकारिणी समिति में मताधिकार प्राप्त होगा। इस तरह समिति में नामित खिलाड़ियों का मताधिकार 25 प्रतिशत से अधिक होगा।
खिलाड़ियों को छोड़ कर बाकी 17 सदस्यों का चुनाव निर्वाचन मंडल द्वारा किया जाएगा जिनमें अध्यक्ष, महासचिव, कोषाक्ष्यक्ष, उपाध्यक्ष और सह-सचिव जैसे पदाधिकारियों का चुनाव भी शामिल होगा।
इस मुद्दे पर सीओए का नजरिया तीखा है। उसका कहना है कि यह सुझाव फीफा-एएफसी द्वारा एआईएफएफ के कार्यवाहक महासचिव को 25 जुलाई 2022 को लिखे पत्र से मिलता जुलता है। उसके पत्र में कहा गया है, ‘हमें दिए गए संविधान के मसौदे के अनुसार वर्तमान 36 सदस्यीय संघ से "एआईएफएफ कांग्रेस’ में अतिरिक्त 36 प्रतिष्ठित खिलाड़ी होंगे। यद्यपि हम इस बात से सहमत हैं कि खिलाड़ियों की आवाज सुनी जानी चाहिए पर हमारा यह भी मानना है कि एआईएफएफ के वर्तमान सदस्यों के महत्व को कम नहीं माना जाना चाहिए। पर हम ‘भारत की खेल-कूद संहिता’ की शर्तों को भी समझते हैं और हमने एआईएफएफ को सुझाव दिया था कि वह अपनी कार्यकारिणी समिति में 25 प्रतिशत सदस्यता प्रतिष्ठित खिलाड़ियों के लिए रखे और वे मनोनीत सदस्य के रूप में रखे जाएं।"
सीओए ने बयान में यह भी कहा कि उन्होंने उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार एक स्वतंत्र समिति की निगरानी में चुनाव करवाने का प्रबंध किया था, जो फीफा के 15 अगस्त के आदेशों के अनुरूप थी। चुनाव कराने के लिए बहुत प्रतिष्ठित लोगों को रखा गया था।
फीफा ने 15 अगस्त को एआईएफएफ को लिखे पत्र में कहा था, "समवर्ती रूप से, कार्यकारी समिति के नए चुनाव करवाने के लिए एआईएफएफ की आम सभा द्वारा एक स्वतंत्र चुनाव समिति का चयन किया जाएगा।"
सीओए ने कहा कि ऐसे समय जबकि वर्तमान मसले का संभावित समाधान निकालने के लिए सभी हितधारकों के बीच बातचीत चल रही थी, फुटबाल क्षेत्र के वैश्विक विनियामक ने भारतीय फुटबॉल को निलंबित करने के फैसला कर दिया। सीओए ने इसे आश्चर्यचकित करने वाली कार्रवाई बताया है।
उसने कहा, "फीफा के 15 अगस्त, 2022 के पत्र में कहा गया है कि भारतीय फुटबॉल को 14 अगस्त, 2022 से निलंबित किया जा रहा है, जबकि उसके और भारत में इस खेल से संबंधित सभी हितधारकों के बीच 15 अगस्त की देर रात तक गहन चर्चा जारी थी।"
सीओए के अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) अनिल दवे ने कहा, "फीफा की ओर से इस तरह का निर्देश दुर्भाग्यपूर्ण है। यह ऐसे समय आया है जब कि भारतीय फुटबॉल की व्यवस्थाओं को सही रास्ते पर लाने के प्रयास किए जा रहे थे। बहरहाल, हम इस स्थिति का सही समाधान खोजने के लिए और देश में फुटबॉल को दोबारा सही ढर्रे पर लाने के लिये फीफा सहित सभी हितधारकों के साथ लगातार बातचीत कर रहे हैं।"
उन्होंने कहा, “यह वास्तव में खेदजनक है कि लगभग दो वर्षों से जिस निकाय का कार्यकाल पहले ही पूरा हो चुका था, वह बिल्कुल अलोकतांत्रिक और अवैध तरीके से चलता रहा और उस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। लेकिन जब माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने चीजों को ठीक करने का आदेश पारित किया ताकि एक लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित निकाय कार्यभार संभाल सके, तब फीफा द्वारा भारत के निलंबन का आदेश पारित कर दिया गया।”
शादाब मनोहर
वार्ता
More News
रीड, शोपमैन ने जीते साल के सर्वश्रेष्ठ कोच के खिताब

रीड, शोपमैन ने जीते साल के सर्वश्रेष्ठ कोच के खिताब

06 Oct 2022 | 11:57 PM

लुसाने, 06 अक्टूबर (वार्ता) भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कोच ग्राहम रीड और महिला टीम की कोच जेनेक शॉपमैन ने अपने-अपने वर्ग में साल 2021/22 के सर्वश्रेष्ठ कोच का पुरस्कार जीता है। अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने गुरुवार को इसकी घोषणा की।

see more..
रोमांचक मैच में नौ रन से जीती दक्षिण अफ्रीका

रोमांचक मैच में नौ रन से जीती दक्षिण अफ्रीका

06 Oct 2022 | 11:04 PM

लखनऊ, 06 अक्टूबर (वार्ता) दक्षिण अफ्रीका ने संजू सैमसन (86 नाबाद) और श्रेयस अय्यर (50) के जुझारू अर्द्धशतकों के बावजूद भारत को वर्षाबाधित पहले एकदिवसीय मैच में गुरुवार को नौ रन से मात दी।

see more..
image