Sunday, May 26 2019 | Time 22:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इराक में बम विस्फोट, पांच की मौत, आठ घायल
  • फोटो कैप्शन तीसरा सेट
  • तेलुगू देशम पार्टी नहीं छोड़ूंगा: श्रीनिवास
  • दक्षिण अफ्रीका-विंडीज अभ्यास मैच भी धुला
  • दक्षिण अफ्रीका-विंडीज अभ्यास मैच भी धुला
  • पेमा खाडू का इस्तीफा राज्यपाल ने किया स्वीकार
  • जनता काे ध्यान में रखना और काम करना बीजद की सफलता का राज: नवीन
  • मोदी की ‘आभार यात्रा’ पर होगी फूलों की बारिश
  • नेपाल में अलग-अलग विस्फोटों में तीन की मौत, पांच घायल
  • सुशासन सहयोगी कार्यक्रम के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित
  • फोटो कैप्शन दूसरा सेट
  • जनता काे ध्यान में रखना और काम करना बीजद की सफलता का राज: नवीन
  • भव्य जीत के बाद पहली बार गृह प्रदेश पहुंचे मोदी, मां से लिया आशीर्वाद
  • केंद्र व प्रदेश की सरकार गरीब से गरीब व्यक्ति के उत्थान के लिए समर्पित : शर्मा
  • मोदी ने बनाया था गुजरात को भाजपा का गढ़ - शाह
बिजनेस


जीएसटी वार्षिक रिटर्न की तारीख बढ़ाने की माँग

नयी दिल्ली 06 दिसंबर (वार्ता) अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ (कैट) ने आज वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिखकर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की वार्षिक रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख 31 दिसम्बर 2018 से बढ़ाकर 31 मार्च 2019 करने का आग्रह किया है।
कैट ने आज बताया कि उसने श्री जेटली का ध्यान वर्ष 2017-18 की वार्षिक जीएसटी रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख 31 दिसम्बर 2018 होने की तरफ ध्यान दिलाते हुए कहा कि अब तक जीएसटी पोर्टल पर वार्षिक रिटर्न दाखिल करने का प्रारूप अथवा विकल्प आया ही नहीं है। इसके चलते देश भर में जीएसटी पोर्टल से पंजीकृत एक करोड़ से अधिक व्यवसायियों का रिटर्न भरना मुश्किल है।
कैट ने कहा कि जीएसटी का वार्षिक रिटर्न दाखिल करना बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि इस रिटर्न को दाखिल करते समय संबंधित वर्ष की पूर्व में भरी हुई रिटर्न को संशोधित करने का यह आखिरी विकल्प है। उसने कहा कि वैट अथवा बिक्री कर में वार्षिक रिटर्न भरने का कोई प्रावधान नहीं था, इसलिए बड़ी संख्या में देश भर में व्यापारियों को अभी यह जानकारी भी नहीं है कि उन्हें वार्षिक रिटर्न भी भरना है।
अजीत जितेन्द्र्र
वार्ता
image