Friday, Aug 23 2019 | Time 14:35 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चेन्नई तिलहन के भाव
  • चेन्नई सर्राफा के खुले भाव
  • राजधानी में हल्की बारिश होने के आसार
  • मनमोहन ने राज्यसभा सदस्य के रूप में ली शपथ
  • आईएनएक्स मीडिया: ईडी मामले में चिदम्बरम को अंतरिम संरक्षण
  • मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत: सिंघवी
  • पाकिस्तान के रेलमंत्री शेख रशीद पर लंदन में अंडे फेंके गए
  • आईएनएक्स मीडिया: चिदम्बरम की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को सुनवाई
  • बंगाल में भगदड़ से चार लोगों की मौत, 26 घायल
  • मोदी शुक्रवार को यूएई की यात्रा पर जाएंगे
  • तीन तलाक: केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस
  • लघु उद्योगों के प्रोत्साहन से अर्थव्यवस्था होगी मजबूत
  • अफगानिस्तान में तीन पुलिसकर्मी, पांच आंतकवादी मारे गये
  • डिजिटल प्रौद्योगिकी पर फ्रांस,भारत के बीच समझौता
  • छह-सात महीनों में करीब 55 प्रतिशत अपराध बढे-कटारिया
बिजनेस


हिमाचल सरकार ने किये अब तक 38 हजार करोड़ रूपये के निवेश समझौते

चंडीगढ़, 14 अगस्त(वार्ता) हिमाचल प्रदेश सरकार सात-आठ नवम्बर को धर्मशाला में प्रस्तावित “उदीयमान हिमाचल वैश्विक निवेशक सम्मेलन“ के माध्यम से राज्य में 85 हजार करोड़ रूपये के लक्ष्य के मुकाबले अभी तक लगभग 38 करोड़ रूपये के निवेश के समझौते कर चुकी है।
राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भारतीय उद्याेग परिसंघ(सीआईआई) के सहयोग से मंगलवार देर शाम यहां निवेशकों के साथ आयोजित बैठक(रोड शो) के बाद पत्रकारों से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि निवेशक सम्मेलन में निवेशकों को आकर्षित करने को लेकर राज्य सरकार का चंडीगढ़ में अंतिम रोड-शो था तथा यहां भी उन्हें निवेशकों से अच्छा समर्थन मिला है तथा लगभग पांच हजार करोड़ रूपये के समझौते हुये हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने निवेशक सम्मेलन के माध्यम से 85 हजार करोड़ रूपये का राज्य में निवेश लाने का लक्ष्य रखा है तथा अभी तक देश-विदेश में आयोजित छह रोड शो में लगभग 38 हजार करोड़ रूपये के निवेश समझौते हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि इन समझौतों में से लगभग सात हजार करोड़ रूपये के निवेश की परियोजनाओं पर सतही स्तर पर काम भी शुरू हो चुका है। उन्होंने कहा कि सरकार निवेशक सम्मेलन के माध्यम से निवेश का पूरा लक्ष्य हासिल कर लेगी।
रोड शोक के दौरान राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह, मुख्य सचिव बृज कुमार अग्रवाल, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव(एसीएस) श्रीकांत बाल्दी, एसीएस (उद्योग) मनोज कुमार के अलावा राज्य के विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
राज्य सरकार निवेशक सम्मेलन में निवेशकों को आमंत्रित करने के लिये इससे पहले जर्मनी, नीदरलैंड, दुबई, मुम्बई और दिल्ली में रोड-शो कर चुकी है। वह पर्यटन, साहसिक पर्यटन, दवा, कृषि, बागवानी, खाद्य प्रसंस्करण, बुनियादी संरचना और लॉजिस्टिक समेत सभी क्षेत्रों में निवेश की सम्भावनाएं तलाश रही है। निवेशक सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी आने की सम्भावना है।
रमेश1518 वार्ता
image