Sunday, Dec 8 2019 | Time 10:15 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • योगी ने रैन बसेरा का किया निरीक्षण ,बांटे कंबल
  • योगी ने रेन बसेरा का किया निरीक्षण ,बांटे कंबल
  • धंधेबाज के मकान से 122 कार्टन विदेशी शराब बरामद
  • रानी झांसी रोड के निकट अनाज मंडी में भीषण आग, 30 से अधिक लोगों की मौत
  • राजदूत नियुक्त करने के अमेरिका और सूडान के निर्णय का स्वागत:सऊदी
  • रानी झांसी रोड़ के निकट अनाज मंडी में भीषण आग, 30 से अधिक लोगों के दम घुटने से मरने की आशंका
  • चीन में ट्रक पलटने से सात लोगों की मौत, दो अन्य घायल
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 09 दिसंबर)
  • इजरायल ने हमास के ठिकानों पर किये हवाई हमले
  • नेतन्याहू-पुतिन ने की सुरक्षा तथा अन्य अहम मुद्दों पर चर्चा
  • ‘अमेरिका कर रहा है हाइपरसोनिक हथियारों के विकास में निवेश’
  • अमेरिकी न्यायिक समिति के महाभियोग को लेकर जारी की रिपोर्ट
  • सीरिया के राष्ट्रपति कार्यालय ने की इटली के न्यूज चैनल की निंदा
  • बगदाद में प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी में मरने वालों की संख्या हुई 23
  • कर्नाटक में भूस्खलन, तीन श्रमिकों की मौत, एक घायल
मनोरंजन


मनोरंजन-देवानंद बहुमुखी प्रतिभा दो मुंबई

मिलिट्री सेन्सर ऑफिस में देवानंद को 165 रुपये मासिक वेतन मिलना था जिसमें से 45 रुपये वह अपने परिवार के खर्च के लिये भेज देते थे। लगभग एक वर्ष तक मिलिट्री सेन्सर में नौकरी करने के बाद वह अपने बड़े भाई चेतन आनंद के पास चले गये जो उस समय भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा) से जुड़े हुये थे। उन्होंने देवानंद को भी अपने साथ इप्टा मे शामिल कर लिया। इस बीच देवानंद ने नाटकों में छोटे-मोटे रोल किये।
वर्ष 1945 में प्रदर्शित फिल्म ..हम एक हैं ..से बतौर अभिनेता देवानंद ने अपने सिने कैरियर की शुरूआत की। वर्ष 1948 मे प्रदर्शित फिल्म जिद्दी देवानंद के फिल्मी कैरियर की पहली हिट फिल्म साबित हुयी। इस फिल्म की कामयाबी के बाद उन्होंने फिल्म निर्माण के क्षेत्र मे कदम रख दिया और नवकेतन बैनर की स्थापना की।
नवकेतन के बैनर तले उन्होने वर्ष 1950 में अपनी पहली फिल्म अफसर का निर्माण किया जिसके निर्देशन की जिम्मेदारी उन्होंने बड़े भाई चेतन आनंद को सौंपी। इसके बाद देवानंद ने अपने बैनर तले वर्ष 1951 में बाजी बनायी। गुरुदत्त के निर्देशन में बनी फिल्म बाजी की सफलता के बाद देवानंद फिल्म इंडस्ट्री मे एक अच्छे अभिनेता के रूप मे शुमार हो गये।
फिल्म अफसर के निर्माण के दौरान देवानंद का झुकाव फिल्म अभिनेत्री सुरैया की ओर हो गया था। एक गाने की शूटिंग के दौरान देवानंद और सुरैया की नाव पानी में पलट गयी। देवानंद ने सुरैया को डूबने से बचाया। इसके बाद सुरैया देवानंद से बेइंतहा मोहब्बत करने लगीं लेकिन सुरैया की नानी की इजाजत न मिलने पर यह जोड़ी परवान नहीं चढ़ सकी। वर्ष 1954 मे देवानंद ने उस जमाने की मशहूर अभिनेत्री कल्पना कार्तिक से शादी कर ली।
प्रेम, यामिनी
जारी वार्ता
More News
सारा और जाह्नवी के काम से प्रेरणा लेती है अनन्या

सारा और जाह्नवी के काम से प्रेरणा लेती है अनन्या

07 Dec 2019 | 12:20 PM

मुबई 07 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री अनन्या पांडे का कहना है कि वह सारा अली खान और जाह्नवी कपूर के काम से प्रेरणा लेती है और उन्हें प्रतिद्वंदी नहीं मानती है।

see more..
एक्टर बनने के लिये मेहनत की जरूरत: राजकुमार राव

एक्टर बनने के लिये मेहनत की जरूरत: राजकुमार राव

07 Dec 2019 | 12:13 PM

नयी दिल्ली, 07 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता राजकुमार राव का कहना है कि एक्टर बनने के लिये सिर्फ गुड लुक्स की नहीं बल्कि कड़ी मेहनत की भी जरूरत है।

see more..
करीना को मिला था क्वीन में काम करने का प्रस्ताव

करीना को मिला था क्वीन में काम करने का प्रस्ताव

07 Dec 2019 | 12:07 PM

नयी दिल्ली, 07 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री करीना कपूर का कहना है कि उन्हें फिल्म क्वीन में काम करने का प्रस्ताव मिला था।

see more..
करण जौहर की फिल्म में काम कर सकती हैं दीपिका

करण जौहर की फिल्म में काम कर सकती हैं दीपिका

07 Dec 2019 | 12:01 PM

मुंबई 07 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड की डिंपल गर्ल दीपिका पादुकोण फिल्मकार करण जौहर की फिल्म में काम करती नजर आ सकती है।

see more..
धर्मेन्द्र को शुरूआती दौर में करना पड़ा संघर्ष

धर्मेन्द्र को शुरूआती दौर में करना पड़ा संघर्ष

07 Dec 2019 | 11:53 AM

(जन्मदिवस 08 दिसंबर) मुंबई, 07 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड में अपने दमदार अभिनय से दर्शकों का अपना दीवाना बनाने वाले ‘हीमैन’ धर्मेन्द्र को अपने सिने करियर के शुरूआती दौर में संघर्ष करना पड़ा। धमेन्द्र को वह दिन भी देखना पड़ा था जब निर्माता-निर्देशक उनसे यह कहते आप बतौर अभिनेता फिल्म इंडस्ट्री के लिये उपयुक्त नही है और आपको अपने गांव वापस लौट जाना चाहिये।

see more..
image