Wednesday, Jan 22 2020 | Time 02:02 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • दुमका में रेलवे सुविधा का विस्तार नही हुआ तो शुरू होगा आंदोलन : सुनील
  • उचक्कों ने उड़ाए सवा लाख
  • भाजपा नेता हरवंश कपूर के बेटे को हाईकोर्ट से नहीं मिली राहत
भारत


राहुल कश्मीर में माहौल बिगाड़ना चाहते हैं : राज्यपाल

नयी दिल्ली/जम्मू 13 अगस्त (वार्ता) जम्मू-कश्मीर आने के न्यौते काे स्वीकार करने के कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पलटवार करते हुए आंशका व्यक्त की कि श्री गांधी के अभी कश्मीर आने से माहौल और बिगड़ सकता है।
श्री मलिक ने मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी के कश्मीर दौरे के लिए मांगों को नकारते हुए आरोप लगाया कि वह घाटी में माहौल को बिगाड़ना चाहते हैं। राजभवन की और से जारी बयान में राज्यपाल ने श्री गांधी पर आरोप लगाया कि वह विपक्षी दल के नेताओं को कश्मीर में बुला कर माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे है।
श्री गांधी के कश्मीर में हिंसा की खबरों को लेकर बयानों के चलते राज्यपाल ने दरअसल सोमवार को श्री गांधी को चुनौती देते हुए कहा था, “हमारे पास सरकारी विमान है। हम प्रदेश में आने के लिए उन्हें सरकारी विमान भेज सकते हैं। आप (राहुल गांधी) आएं ,अस्पतालों का दौरा करें और उसके बाद कुछ कहें।”
बयान में कहा गया कि श्री गांधी ने अपने दौरे के लिए कश्मीर के मुख्य नेताओं से मिलने की मांग की है। जिसे लेकर राज्यपाल ने कहा, “ श्री गांधी विपक्ष के नेताओं को कश्मीर में बुलाने की मांग कर रहे है ताकि घाटी में अशांति और आम नागरिकों के लिए मुश्किलें पैदा की जा सकें।”
राज्यपाल ने श्री गांधी के कश्मीर में हिंसा को लेकर बयान को खंडन करते हुआ कहा,“ श्री गांधी पाकिस्तान की ओर से फैलाई जा रही फ़र्ज़ी खबरों के आधार पर बयान दे रहे है। कश्मीर में हालात सामान्य है।”
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के राज्य की यात्रा करने के न्यौते को स्वीकार करते हुए कहा कि विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल वहां जाएगा लेकिन हमें विमान की जरूरत नहीं है।
श्री गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर लिखा, “आदरणीय राज्यपाल (जम्मू और कश्मीर) आपके निमंत्रण पर मैं और विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की यात्रा जरूर करेगा। हमें विमान की जरुरत नहीं है। कृपया हमें यात्रा करने और लोगों से मिलने की स्वतंत्रता दें। इसके अलावा मुख्यधारा के नेताओं और वहां तैनात हमारे सैनिकों से मिलने की हमारी स्वतंत्रता सुनिश्चित करें।”
जतिन.संजय
वार्ता
More News
केजरीवाल के पर्चा भरने में जानबूझकर विलंब नहीं :  चुनाव आयोग

केजरीवाल के पर्चा भरने में जानबूझकर विलंब नहीं : चुनाव आयोग

21 Jan 2020 | 11:17 PM

नयी दिल्ली 21 जनवरी (वार्ता) चुनाव आयोग ने सफाई दी है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नामंकन पत्र भरने देने में जानबूझकर कोई विलम्ब नही किया गया है बल्कि पीठासीन अधिकारी ने नियम के अनुरूप कार्य किया है।

see more..
केजरीवाल को चुनौती देने वाले सुनील समेत कई प्रत्याशियों ने भरे पर्चे

केजरीवाल को चुनौती देने वाले सुनील समेत कई प्रत्याशियों ने भरे पर्चे

21 Jan 2020 | 10:56 PM

नयी दिल्ली 21 जनवरी (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी और इसकी सहयोगी जनता दल (यूनाईटेड) और लोक जनशक्ति पार्टी के कई प्रत्याशियों ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन के आखिरी दिन मंगलवार को अपने दल-बल के साथ नामांकन पत्र दाखिल किये।

see more..
‘केंद्र को जम्मू कश्मीर का संविधान निरस्त करने का अधिकार नहीं’

‘केंद्र को जम्मू कश्मीर का संविधान निरस्त करने का अधिकार नहीं’

21 Jan 2020 | 9:28 PM

नयी दिल्ली, 21 जनवरी (वार्ता) जम्मू कश्मीर से संबंधित अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधान निरस्त किये जाने की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाले याचिकाकर्ताओं ने उच्चतम न्यायालय में मंगलवार को दलील दी कि भारतीय संविधान के तहत ‘जम्मू कश्मीर के संविधान’ को निरस्त करने का अधिकार नहीं है।

see more..
image