Friday, Mar 22 2019 | Time 22:27 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हार्दिक की मौजूदगी में लगे मोदी-मोदी के नारे, बिना भाषण दिये ही मंच से उतरे
  • राहुल ने पत्रकार के स्वास्थ्य पर चिंता प्रकट की
  • 48 घंटे की कड़ी मेहनत के बाद नदीम को बोरवेल से निकाला सुरक्षित बाहर
  • मोदी को पुन: उम्मीदवार बनाने से जश्न में डूबे वाराणसी के भाजपा कार्यकर्ता
  • भारत को उज्बेकिस्तान से मिली 0-3 से हार
  • भारत को उज्बेकिस्तान से मिली 0-3 से हार
  • कश्मीर में कांग्रेस नेता पर हमला, एक घायल
  • पूरी कांग्रेस दिखेगी बस में : तंवर
  • जेकेएलफ पर लगाया गया प्रतिबंध
  • शरद, मायावती के चुनाव नहीं लड़ने से राजग को फायदा : शिव सेना
  • ‘येदियुरप्पा डायरी: मूल प्रति शिवकुमार ने उपलब्ध नहीं करायी’
  • ‘समझौता एक्सप्रेस विस्फोट मामले में पाक ने नहीं की मदद’
  • देवरिया पुलिस ने व्यापारी की हत्या से परिवार के शोक को देखते हुए नहीं मनाई होली
  • चुनाव लड़ने का इच्छुक नहीं : शांता कुमार
लोकरुचि


आम चुनाव में खंडित जनादेश मिलेगा : ज्योतिषाचार्य राजीव शर्मा

आम चुनाव में खंडित जनादेश मिलेगा : ज्योतिषाचार्य राजीव शर्मा

नयी दिल्ली, 10 मार्च (वार्ता) पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान में आतंकवादी ठिकानों को नष्ट करने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कठोर फैसले के बाद देश के नागरिकों में वर्तमान सरकार के प्रति युवा मतदाताओं में भले ही जोश का नया संचार दिख रहा हो, लेकिन ग्रह-गोचरों की स्थिति की मानें तो अगले आम चुनाव में खंडित जनादेश आयेगा।

ज्योतिष एवं कर्मकांड में आचार्य और पिछले 12 वर्षों से इनसे जुड़े विभिन्न क्षेत्रों में शोध करने वाले ज्योतिषाचार्य राजीव नारायण शर्मा ने दावा किया है कि ग्रह-गोचरों और लग्न-दशा इस बात का संकेत देते हैं कि अगले आम चुनाव में श्री मोदी न तो दोबारा प्रधानमंत्री बनेंगे,न ही भाजपा सत्ता में आयेगी।

उन्होंने देश और भाजपा की कुंडली का विश्लेषण करने के बाद दावा किया कि भारत की कुंडली के अनुसार दशमेश अष्टम घर में है, जो सत्ता परिवर्तन का संकेतक हैं। उन्होंने कहा कि भारत की कुंडली वृषभ लगन की है और कुंडली के दशम भाव से राजा का चुनाव होता है और चतुर्थ भाव से विपक्ष देखा जाता है। वृषभ लगन का स्वामी अष्टम घर में है, जो परिवर्तन का घर माना गया है।

ज्योतिषाचार्य श्री शर्मा के अनुसार, आगामी 23 मार्च को राहु-केतु का मिथुन-धनु एवं मंगल का वृषभ राशियों में प्रवेश होगा। चुनाव के दौरान आठ मई को मंगल का मिथुन राशि में प्रवेश होगा, जो हिंसा का कारण बनेगा। इन ग्रहों की स्थिति के कारण आगामी आम चुनाव आजाद भारत का सबसे अशांत चुनाव होगा। हिंसा की वारदातें बढ़ेंगी, कानून पालन कराने वाली एजेंसियों के लिए कठिन समय होगा।

फरीदाबाद निवासी श्री शर्मा ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) और मुख्य विपक्षी कांग्रेस के ग्रहों एवं काल की गणना बताती है कि लोकसभा चुनाव में किसी एक दल को बहुमत नहीं मिलेगा। भाजपा के उदय छह अप्रैल 1980 के अनुसार उसकी कुंडली मिथुन लगन की है। इसकी कुंडली के अनुसार, मार्च 2012 से मार्च 2018 तक भाजपा का सूर्य दशवें घर में था, और यही वजह है कि 2018 तक विभिन्न राज्यों में उसका विस्तार हुआ लेकिन पांच अप्रैल 2018 भाजपा की चंद्रमा की दशा शुरू हो गयी।

उन्होंने दावा किया चंद्रमा के छठवें भाव में होने के कारण उसकी कुंडली किसी राजयोग का संकेत नहीं देती। पांच अप्रैल 2018 के बाद भाजपा को अपेक्षित सफलता नहीं मिलना इसका उदाहरण है। उन्होंने कांग्रेस के बारे में बताया कि मुख्य विपक्षी की कुंडली मीन लगन की है और इस समय कांग्रेस की कुंडली में लग्नेश की दशा वृहस्पति की दशा चल रही है। कांग्रेस के लिए पिछले वर्ष 12 अक्टूबर से ग्रहों की स्थिति बदली है और यही वजह है कि जब वृश्चिक में गुरु आये तो पार्टी की पुनरुत्थान हुआ और तीन राज्यों में सरकार बनी।

श्री शर्मा ने बताया कि कांग्रेस की राशि के अनुसार, वृहस्पति इसी माह धनु राशि में जाने वाले हैं, जिसके कारण मुख्य विपक्षी दल की कुंडली में अच्छे राजयोग के संकेत दिखाई दे रहे हैं। इसका अर्थ है कि कांग्रेस अगले आम चुनाव में 2014 की तुलना में बेहतर प्रदर्शन करेगी।

सुरेश आशा

वार्ता

More News
होली पर पहले जैसी अब नही दिखती फाग की फुहारें

होली पर पहले जैसी अब नही दिखती फाग की फुहारें

20 Mar 2019 | 8:33 PM

इटावा, 20 मार्च (वार्ता) उत्तर प्रदेश के इटावा में होली का त्योहार आते ही कभी ढोलक की थाप और मंजीरों पर चारों ओर फाग गीत गुंजायमान होने लगते थे, लेकिन आधुनिकता के दौर में आज ग्रामीण क्षेत्रों की यह परम्परा लुप्त सी हो गई है ।

see more..
होली पर्व की जननी बुंदेलखंड की भूमि पर उड़ने लगा अबीर गुलाल

होली पर्व की जननी बुंदेलखंड की भूमि पर उड़ने लगा अबीर गुलाल

19 Mar 2019 | 9:53 PM

झांसी 19 मार्च (वार्ता) “ होली” रंगों का त्योहार हमारी संस्कृति से जुडा एक बेहद महत्वपूर्ण पर्व है जो पूरे देश ही नहीं बल्कि विश्व के हर कोने में जहां भी भारतीय लोग हैं उनके बीच पारंपरिक हर्षोल्लास से मनाया जाता है।

see more..
वाराणसी में खेली जलती चिताओं संग ‘चिताभस्म होली’

वाराणसी में खेली जलती चिताओं संग ‘चिताभस्म होली’

18 Mar 2019 | 10:01 PM

वाराणसी, 18 मार्च (वार्ता) उत्तर प्रदेश की प्रचीन धार्मिक नगरी वाराणसी के गंगा तट पर औघड़ साधु-संतों के साथ सैकड़ों शिवभक्तों ने सोमवार को मणिकर्णिका श्मशान घाट पर जलती चिताओं के बीच धूम-धाम से ‘चिताभस्म होली’ खेली।

see more..
image