Friday, Apr 26 2019 | Time 19:13 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रूस दौरा खत्म कर स्वदेश रवाना हुए किम जोंग उन
  • पूर्व आबकारी अधिकारी के ठिकानों पर ईओडब्ल्यू ने मारे छापे
  • राजकोट में महिला ने किया आत्मदाह
  • वीर चंद्र सिंह गढ़वाली योजना घोटाले में सरकार एवं मंत्री को नोटिस जारी
  • जेट एयरवेज ने रखरखाव कर्मचारियों से की काम पर लौटने की अपील
  • पंजाब, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ में 27-28 अप्रैल को नामांकन नहीं
  • मकान मालिक सहित चार ने किया किशोरी पर दुष्कर्म
  • भाजपा सरकार के दिन अब लदने वाले हैं: किरण चौधरी
  • मंदिर न जाकर,हिंदुत्व की भावना को प्रियंका ने किया आहत:अनुराग
  • मोदी के पास दो करोड़ 51 लाख की चल-अचल सम्पत्ति
  • भट्टू में नाके पर तलाशी के दौरान 12 लाख की नकदी बरामद
  • भाजपा के पास काम के नाम पर कुछ नहीं दिखाने को: रमेश पायलट
  • उप्र में छठवें चरण के लिए लोकसभा की 14 सीटों पर प्रेक्षक नियुक्त
  • राज्यपाल ने चौधरी विद्या सागर के निधन पर शोक व्यक्त किया
  • छह दिन पूर्व अपहृत बच्चे को पुलिस ने सकुशल किया बरामद
लोकरुचि


शनिवार 12 बजे बधाई गीतों से गूंज उठेगी राम की अयोध्या

शनिवार 12 बजे बधाई गीतों से गूंज उठेगी राम की अयोध्या

 


अयोध्या, 12 अप्रैल (वार्ता) राम की जन्मस्थली अयोध्या शनिवार दोपहर 12 बजे ‘भये प्रकट कृपाला दीन दयाला’ जैसी चौपाईयों तथा गीतों से गूँज उठेगी।

      पौराणिक मान्यताओं के अनुसार चैत्र रामनवमी को मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जन्म अयोध्या में हुआ था। इसी उपलक्ष्य में इस नवमी को रामनवमी के रूप में जाना जाता है। रामनवमी के लिये हर वर्ष देश के कोने-कोने से यहां कई लाख श्रद्धालु पहुंचते हैं जो भोर से ही सरयू स्नान कर विभिन्न मंदिरों में पूजा-अर्चना शुरू कर देते हैं।

     दोपहर बारह बजे के पूर्व इस क्रम में थोड़ी देर के लिये ठहराव आता है क्योंकि इस समय भगवान श्रीराम के प्रतीकात्मक जन्म की तैयारी शुरू हो जाती है। श्रद्धालु यह भी विहंगम दृश्य देखने के लिये मंदिरों में शरण लेते हैं। 12 बजते ही लगभग पूरी अयोध्या में एक खास समा बंध जाता है।

     अयोध्या में प्रसिद्ध कनक भवन मंदिर में भगवान श्रीराम का जन्म मनाया जाता है और मंदिर में बधाई और सोहर गीतों के सुर गूंजने लगते हैं। इस अवसर पर दूरदराज से आये किन्नर भी भगवान श्रीराम के जन्म पर सोहर गीत गाते हैं और खूब धूमधाम से नाचते हैं। वैसे तो अयोध्या के रामजानकी महल ट्रस्ट सहित विभिन्न मंदिरों में भगवान राम का जन्म मनाया जाता है लेकिन कनक भवन में कुछ दृश्य अजीबो-गरीब होता है।

जिलाधिकारी अनुज कुमार झा एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जोगेन्द्र कुमार ने बताया कि कल देर शाम अयोध्या में चल रहे रामनवमी मेले का निरीक्षण आईजी जोन संजय गुप्ता ने बड़े बारीकी से सरयू घाट, नागेश्वरनाथ मंदिर, प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी, विवादित श्रीरामजन्मभूमि सहित पूरे अयोध्या का सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। मेले में भीड़ को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं।

       उन्होने बताया कि श्रद्धालुओं के दर्शन के लिये विशेष इंतजाम हैं। मेले में अराजक तत्वों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिये सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं। इसके अतिरिक्त रिकवरी वैन, बम निरोधक तथा आंसू गैस दस्तों का भी समुचित व्यवस्था की गयी है। मेले के दौरान विवादित श्रीरामजन्मभूमि की सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गयी है। प्रसिद्ध कनक भवन मंदिर, हनुमानगढ़ी मंदिर, नागेश्वरनाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गयी है।

      अपर जिलाधिकारी नगर/मेलाधिकारी डॉ. वैभव शर्मा एवं पुलिस अधीक्षक नगर अनिल सिंह सिसौदिया ने बताया कि मेले में आधुनिक तकनीकी अपनाते हुए सम्पूर्ण क्षेत्र को क्लोज सर्किट टीवी से जोड़ा गया है जिससे मेले में एक ही स्थान पर नियंत्रित सतर्क निगाहें रखी जायं और आवश्यकता पडऩे पर सरकार कार्यवाही भी कर सके। मेले में खोया-पाया कैम्प लगाया गया है जिसमें खोये हुए श्रद्धालुओं को आपस में मिलाया जा रहा है।

       मेलाधिकारी ने बताया कि मेले के दौरान सरयू के किनारे कच्चा घाट-पक्का घाट, नये घाट पर भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं। मेले में हजारों सफाई कर्मियों की तैनाती की गयी है और सैकड़ों अस्थायी शौचालय भी बनाये गये हैं। सरयू घाटों पर महिलाओं को कपड़ा बदलने के लिये अस्थायी कमरे बनाये गये हैं। पानी पीने के लिये विभिन्न जगहों पर हैंडपम्प ठीक करवाये गये हैं और अलग से अयोध्या नगर निगम के द्वारा टैंकर भी उपलब्ध करवाये गये हैं।

    मेले में भीड़ को बढ़ते हुए देख करके भारी और छोटे वाहनों को अयोध्या में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। मेले को सकुशल सम्पन्न कराने के लिये छह जोन 26 सेक्टरों में विभाजित करके मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गयी है। इस दौरान छह एडिशनल पुलिस, 25 सीओ, दस इंस्पेक्टर, 70 हेडकांस्टेबिल, 600 कांस्टेबिल सहित एक कम्पनी बाढ़ राहत दल तथा दस कम्पनी पीएसी की तैनाती की गयी है।

     उन्होंने बताया कि पुलिस बल घटाया और बढ़ाया भी जा सकता है। मेले में बम निरोधक दस्ता, फौजी कुत्ते के साथ-साथ कई तरह के उपकरण मेला क्षेत्र में निगरानी कर रहे हैं। मेलाधिकारी ने बताया कि अयोध्या में भगवान राम का जन्मोत्सव 13 और 14 अप्रैल अर्थात् दो दिन मनाया जायेगा लेकिन कनक भवन मंदिर में कल श्रीराम का जन्मोत्सव मनाया जायेगा। चैत्र रामनवमी में लगभग पन्द्रह से बीस लाख श्रद्धालुओं के भीड़ होने की संभावना है।

सं प्रदीप

वार्ता

More News
विश्व प्रसिद्ध 84 कोसी परिक्रमा दल श्रृंगी ऋषि आश्रम के लिए रवाना

विश्व प्रसिद्ध 84 कोसी परिक्रमा दल श्रृंगी ऋषि आश्रम के लिए रवाना

22 Apr 2019 | 12:09 PM

बस्ती 22 अप्रैल (वार्ता)उत्तर प्रदेश में बस्ती के मखौड़ा धाम से 20 अप्रैल को शुरू हुये 84 कोसी परिक्रमा दल अपने तीसरे पड़ाव के लिए सोमवार तड़के हनुमान बाग चकोही से अयोध्या के श्रृंगी ऋषि आश्रम के लिए रवाना हो गया।

see more..
विश्व प्रसिद्ध चौरासी कोसी परिक्रमा पहुंची दूसरे पड़ाव पर

विश्व प्रसिद्ध चौरासी कोसी परिक्रमा पहुंची दूसरे पड़ाव पर

21 Apr 2019 | 12:47 PM

बस्ती 21 अप्रैल, (वार्ता) उत्तर प्रदेश में बस्ती के मखौड़ा धाम से शुरू हुए अयोध्या के विश्व प्रसिद्ध चौरासी कोसी परिक्रमा मे सामिल साधू, सन्त और धर्म प्रेमी प्रथम पड़ाव राम रेखा मंदिर छावनी से रविवार के भोर में धर्म ध्वजा फहराते भजन कीर्तन गाते हुए परिक्रमा के दूसरे पड़ाव हनुमान बाग चकोही के लिए रवाना हुये।

see more..
नैसर्गिक सुंदरता से भरपूर बखिरा झील को नहीं मिल सका पर्यटन स्थल का रूतबा

नैसर्गिक सुंदरता से भरपूर बखिरा झील को नहीं मिल सका पर्यटन स्थल का रूतबा

19 Apr 2019 | 2:40 PM

संतकबीरनगर 19 अप्रैल (वार्ता) पर्यटन उद्योग की तमाम संभावनाओं को समेटे पूर्वी उत्तर प्रदेश में संतकबीरनगर जिले में स्थित बखिरा झील में प्रकृति ने चार चांद लगाये है लेकिन इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने के प्रयास किसी सरकार ने नहीं किये।

see more..
गीता प्रेस की पुस्तके अब आन लाइन उपलब्ध

गीता प्रेस की पुस्तके अब आन लाइन उपलब्ध

17 Apr 2019 | 12:33 PM

गोरखपुर 17 अप्रैल (वार्ता) विश्व में धार्मिक पुस्तकों के विख्यात प्रकाशक गीता प्रेस गोरखपुर की प्रमुख पुस्तकें अब आन लाइन उपलब्ध रहेगीं।

see more..
image