Sunday, May 31 2020 | Time 22:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कोरोना मरीजों के स्वस्थ होने की दर 47 62 फीसदी
  • झारखंड में फिर कोरोना के 16 संक्रमित मिले, कुल संख्या 600 के पार
  • विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 60 लाख से अधिक, 3 69 लाख लोगों की मौत
  • विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 60 लाख से अधिक, 3 69 लाख लोगों की मौत
  • पाकिस्तान उच्चायोग के दो अधिकारियों को देश निकाला
  • गांधीनगर में तालाब में गिरी कार, युवक की मौत
  • महिला के गर्भ में शिशु के मौत मामले के दोषियों पर हो अविलंब कार्रवाई : लुईस
  • सुलतानपुर में मां-बेटे सहित आठ और कोरोना पॉजीटिव,संख्या पहुंची 87
  • जर्मनी, फ्रांस से ज्यादा हुये भारत में कोरोना के मामले
  • स्पेन में अंतिम बार बढ़ाया जायेगा लॉकडाउन
  • मणिपुर में बॉक्सिंग स्टार नगनगोम कोरोना संक्रमित
  • भारत ने जासूसी करते पकड़े जाने पर पाकिस्तान उच्चायोग के दो अधिकारियों को निष्कासित किया
  • कोरोना मरीजों के स्वस्थ होने की दर 47 62 फीसदी
  • उप्र से नौ इनामी समेत 14 बदमाश गिरफ्तार
लोकरुचि


अक्षय तृतीया पर कान्हा को अलंकरित पोशाक धारण कराने की होड़

अक्षय तृतीया पर कान्हा को अलंकरित पोशाक धारण कराने की होड़

मथुरा, 5 मई (वार्ता) अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर ब्रज के मंदिरों में ठाकुर को चंदन की अलंकरित पोशाक धारण कराने की मंदिर सेवायतों में होड़ सी लग जाती है। इस बार अक्षय तृतीया का पर्व सात मई को मनाया जाएगा।

मंदन मोहन मंदिर जतीपुरा (गोवर्धन) के महन्त ब्रजेश मुखिया ने रविवार को यूनीवार्ता को बताया कि ब्रज के मंदिरों में ठाकुर की सेवा यशोदा भाव या वात्सल्य भाव अथवा दास भाव या भक्त भाव या साख्य भाव से की जाती है। गर्मी बढ़ने के साथ मां यशोदा को लाला को गर्मी से बचाने की चिंता हो जाती है इसीलिए वे उसके शरीर में चन्दन लेप कर गर्मी के प्रभाव को कम करने का प्रयास करती हैं।

सप्त देवालयों में राधारमण मंदिर में इस दिन से राजभेाग आरती पहले बत्ती से फिर फूलों से होती है। इसके बाद शरद उत्सव तक फूलों की ही आरती होती है। मंदिर के सेवायत आचार्य दिनेशचन्द्र गोस्वामी ने बताया कि इस दिन चूंकि बहुत अधिक चंदन की आवश्यकता होती है इसलिए एक पखवारा पहले ही चन्दन का घिसना शुरू हो जाता है।

बालस्वरूप में सेवा होने के कारण ठाकुर को गर्मी से बचाने के लिए अक्षय तृतीया के दिन चन्दन में कपूर, केसर मिलाकर और फिर ठाकुर का चंदन के पैजामा, अंगरखी, पगड़ी, पटका बनाकर अद्भुत रूप श्रंगार किया जाता है। लाला को नजर लगने से बचाने के लिए इस दिन झांकी दर्शन होते हैं। इस दिन मंदिर में सतुआ के लड्डू और फलों का भोग लगता है। अक्षय तृतीया का पर्व नजदीक आने के कारण इस पोशाक के लिए ही मंदिरों में चन्दन की लुगदी बनाई जा रही है जहां अन्य मंदिरों में यह लुगदी मंदिर के किसी भाग में चन्दन घिस कर एकत्र की जाती है

सं प्रदीप

जारी वार्ता

More News
लॉकडाउन में फोटोग्राफर के कैमरा का शटर हुआ ‘लॉक’

लॉकडाउन में फोटोग्राफर के कैमरा का शटर हुआ ‘लॉक’

31 May 2020 | 8:01 PM

पटना 31 मई (वार्ता) शादी-व्याह समेत जीवन से जुड़े खूबसूरत और यादगार लम्हों को कैमरे में कैद कर उनमें खुशियों का रंग भरकर उन्हें अविस्मरणीय बनाने वाले फोटोग्राफर लॉकडाउन में खुद लॉक हो गये और उनकी जिंदगी भी बेरंग हो गयी है।

see more..
दीघा से दूर हो रहा विश्वप्रसिद्ध दूधिया मालदह आम

दीघा से दूर हो रहा विश्वप्रसिद्ध दूधिया मालदह आम

29 May 2020 | 9:41 PM

पटना 29 मई (वार्ता) शहरों के विस्तार के कारण अपनी मिठास और खुशूबू से सबका दिल जीतने वाले बिहार की राजधानी पटना के दीघा में विश्वप्रसिद्ध ‘दूधिया मालदह’ आम के बागीचे धीरे-धीरे समाप्त होते जा रहे हैं।

see more..
लॉकडाउन में गुम हुयी खुशियों पर बजने वाली किन्नरों की ताली

लॉकडाउन में गुम हुयी खुशियों पर बजने वाली किन्नरों की ताली

29 May 2020 | 9:41 PM

पटना 26 मई (वार्ता) मांगलिक कार्यों के दौरान लोगों के घरों में जा कर नाचने-गाने और आशीर्वाद देकर आजीविका कमाने वाले किन्नरों की तालियां लॉकडाउन में गुम हो गयी है।

see more..
लाकडाउन ने नट समुदाय को समझाया जड़ का महत्व

लाकडाउन ने नट समुदाय को समझाया जड़ का महत्व

29 May 2020 | 9:39 PM

मुरादाबाद 26 मई (वार्ता) वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण जारी लाकडाउन ने लोगों के जीने के अंदाज को बदल दिया है और इसमें नट समुदाय भी अछूता नहीं है।

see more..
कई कारोबारियों के बिजनेस पार्टनर है ‘ठाकुर’

कई कारोबारियों के बिजनेस पार्टनर है ‘ठाकुर’

29 May 2020 | 9:38 PM

मथुरा 25 मई (वार्ता) व्यापार को चमकाने के लिए ‘ठाकुर’ को ’बिजनेस पार्टनर’ बनाने की निराली परंपरा भक्तों द्वारा ब्रज के मंदिरों में लम्बे समय से अपनाई जा रही है।

see more..
image