Wednesday, May 22 2019 | Time 21:16 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लखनऊ में तत्काल पॉलीथिन का उत्पादन एवं बिक्री हो बन्द: हाईकोर्ट
  • इंतजार खत्म, आ गयी फैसले की घड़ी
  • नाबालिग बेटी से बलात्कार के आरोपी सौतेले पिता काे न्यायिक हिरासत में भेजा
  • मतगणना पूरी होने के बाद ही होगा वीवीपैट पर्चियों का मिलान : आयोग
  • ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग लाए जाने की डेमोक्रेटिक सांसदों की मांग
  • अमित और थापा सेमीफाइनल में, पदक पक्के
  • देश और लोकतंत्र की छवि को धूमिल कर रहा है विपक्ष: शाह
  • बिहार में मतगणना के बाद हिंसा की आशंका लेकर पुलिस एलर्ट
  • त्रिस्तरीय घेरे में होगी झांसी में मतगणना,सभी व्यवस्थाएं पूरी
  • जोशना ने कायम रखीं उम्मीदें, सौरभ और रमित हारे
  • जोशना ने कायम रखीं उम्मीदें, सौरभ और रमित हारे
  • औरैया में बलात्कार मामले में एक अभियुक्त को उम्र कैद
  • मुजफ्फरनगर मुठभेड़ में एक बदमाश ढेर,कांस्टेबल भी घायल
  • विधायक की हत्या की एनआईए जांच पर कांग्रेस ने उठाए सवाल
लोकरुचि


अक्षय तृतीया पर कान्हा को अलंकरित पोशाक धारण कराने की होड़

अक्षय तृतीया पर कान्हा को अलंकरित पोशाक धारण कराने की होड़

मथुरा, 5 मई (वार्ता) अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर ब्रज के मंदिरों में ठाकुर को चंदन की अलंकरित पोशाक धारण कराने की मंदिर सेवायतों में होड़ सी लग जाती है। इस बार अक्षय तृतीया का पर्व सात मई को मनाया जाएगा।

मंदन मोहन मंदिर जतीपुरा (गोवर्धन) के महन्त ब्रजेश मुखिया ने रविवार को यूनीवार्ता को बताया कि ब्रज के मंदिरों में ठाकुर की सेवा यशोदा भाव या वात्सल्य भाव अथवा दास भाव या भक्त भाव या साख्य भाव से की जाती है। गर्मी बढ़ने के साथ मां यशोदा को लाला को गर्मी से बचाने की चिंता हो जाती है इसीलिए वे उसके शरीर में चन्दन लेप कर गर्मी के प्रभाव को कम करने का प्रयास करती हैं।

सप्त देवालयों में राधारमण मंदिर में इस दिन से राजभेाग आरती पहले बत्ती से फिर फूलों से होती है। इसके बाद शरद उत्सव तक फूलों की ही आरती होती है। मंदिर के सेवायत आचार्य दिनेशचन्द्र गोस्वामी ने बताया कि इस दिन चूंकि बहुत अधिक चंदन की आवश्यकता होती है इसलिए एक पखवारा पहले ही चन्दन का घिसना शुरू हो जाता है।

बालस्वरूप में सेवा होने के कारण ठाकुर को गर्मी से बचाने के लिए अक्षय तृतीया के दिन चन्दन में कपूर, केसर मिलाकर और फिर ठाकुर का चंदन के पैजामा, अंगरखी, पगड़ी, पटका बनाकर अद्भुत रूप श्रंगार किया जाता है। लाला को नजर लगने से बचाने के लिए इस दिन झांकी दर्शन होते हैं। इस दिन मंदिर में सतुआ के लड्डू और फलों का भोग लगता है। अक्षय तृतीया का पर्व नजदीक आने के कारण इस पोशाक के लिए ही मंदिरों में चन्दन की लुगदी बनाई जा रही है जहां अन्य मंदिरों में यह लुगदी मंदिर के किसी भाग में चन्दन घिस कर एकत्र की जाती है

सं प्रदीप

जारी वार्ता

More News
राधारमण मंदिर में खूब बही श्रद्धा,भक्ति और संगीत की त्रिवेणी

राधारमण मंदिर में खूब बही श्रद्धा,भक्ति और संगीत की त्रिवेणी

18 May 2019 | 7:48 PM

मथुरा, 18 मई (वार्ता) वृन्दावन के सप्त देवालयों में प्राचीन राधारमण मंदिर में शनिवार को श्रद्धा, भक्ति एवं संगीत की त्रिवेणी उस समय प्रवाहित होती रही जब मंदिर के मुख्य विग्रह का दूध, दही, बूरा, शहद, घी, औषधियों, वनौषधियों एवं महाऔषधियों से तीन घंटे से अधिक समय तक अभिषेक किया गया।

see more..
मथुरा में अक्षय तृतीया पर ठाकुर के वर्ष में होते है 24 अवतारों के दर्शन

मथुरा में अक्षय तृतीया पर ठाकुर के वर्ष में होते है 24 अवतारों के दर्शन

06 May 2019 | 5:23 PM

मथुरा, 6 मई (वार्ता)उत्तर प्रदेश के मथुरा में अक्षय तृतीया पर प्राचीन केशवदेव मंदिर मल्लपुरा में ठाकुर के वर्ष में एक बार 24 अवतारों के दर्शन होते हैं।

see more..
अक्षय तृतीया पर कान्हा को अलंकरित पोशाक धारण कराने की होड़

अक्षय तृतीया पर कान्हा को अलंकरित पोशाक धारण कराने की होड़

05 May 2019 | 7:12 PM

मथुरा, 5 मई (वार्ता) अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर ब्रज के मंदिरों में ठाकुर को चंदन की अलंकरित पोशाक धारण कराने की मंदिर सेवायतों में होड़ सी लग जाती है। इस बार अक्षय तृतीया का पर्व सात मई को मनाया जाएगा।

see more..
इटावा सफारी के लिए शेरों को एयरलिफ्ट कराने की तैयारी

इटावा सफारी के लिए शेरों को एयरलिफ्ट कराने की तैयारी

04 May 2019 | 4:04 PM

इटावा , 04 मई (वार्ता) इटावा सफारी पार्क में गुजरात से शेरों को हवाई मार्ग से लाने की तैयारी चल रही है। जूनागढ़ से आठ शेरों को एयर लिफ्ट कराने के लिये वन विभाग ने सेना से अनुमति मांगी है।

see more..
image