Wednesday, Jul 17 2019 | Time 11:02 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बागी विधायकों के इस्तीफे पर फैसला लेने को लेकर विधानसभा अध्यक्ष के लिए कोई समय-सीमा नहीं: सुप्रीम कोर्ट
  • कर्नाटक के बागी विधायकों को विश्वास मत में हिस्सा लेने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता: सुप्रीम कोर्ट
  • जम्मू से 4584 श्रद्धालुओं का नया जत्था अमरनाथ रवाना
  • सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़
  • गैस और तेल टैंकर की टक्कर में दो की मौत, दो घायल
  • जम्मू में एटीएम में ट्रक घुसा, दो की मौत
  • अफगानिस्तान में हथियारों का जखीरा बरामद
  • पेरू के पूर्व राष्ट्रपति टोलेडो गिरफ्तार
  • लखनऊ में संदिग्ध हालत में निजी अस्पताल के प्रबंधक की मृत्यु
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 18 जुलाई)
  • लखनऊ में पिता ने जमीन पर पटककर कर दी आठ माह के पुत्र की हत्या
  • 100 से अधिक एफ-35 लड़ाकू विमान नहीं खरीद सकता तुर्की : ट्रम्प
  • मिसाइल कार्यक्रम पर नहीं होगी कोई बातचीत: ईरान
  • नोट्रे डेम कैथेड्रल के पुनर्निर्माण पर फ्रांस की संसद ने पारित किया बिल
  • अमेरिका बिना किसी पूर्व शर्त के ईरान से बातचीत के लिए तैयार : ओर्टागुस
पार्लियामेंट


आरक्षण से नहीं, दो पुरुषों को हराकर लोकसभा पहुँची हूँ: लेखी

आरक्षण से नहीं, दो पुरुषों को हराकर लोकसभा पहुँची हूँ: लेखी

नयी दिल्ली, 12 जुलाई (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी के निशिकांत दूबे ने शुक्रवार को कहा कि महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण संबंधी कानून के बगैर भी दूसरे तरीकों से लोकसभा और विधानसभाओं में उनकी भागीदारी बढ़ायी जा सकती है।

मतदान अनिवार्य करने के लिए कानून बनाने संबंधी गैर-सरकारी विधेयक पर लोकसभा में चर्चा के दौरान श्री दूबे ने कहा कि उनकी पार्टी महिलाओं को आरक्षण देने के पक्ष में है, लेकिन कई दल इसका विरोध कर रहे हैं। बीजू जनता दल ने इस बार 33 प्रतिशत महिलाओं को टिकट देकर इस दिशा में काम किया है। लेकिन यह देखना अहम् होगा कि इनमें से जो महिलाएँ चुनकर आयी हैं वे सदन में कितने मुद्दे उठा रही हैं और किस तरह के मुद्दे उठा रही हैं। सत्र के अंत में इसका आँकलन किया जाना चाहिये।

इस बीच एक सदस्य ने ध्यान दिलाया कि सदन की पीठासीन अधिकारी भी महिला हैं। उस समय आसन पर भाजपा की मीनाक्षी लेखी विराजमान थीं।

इस पर श्रीमती लेखी ने याद दिलाया कि वह आरक्षण से नहीं बल्कि चुनाव में दो पुरुषों को शिकस्त देकर सदन में पहुँची हैं।

नीलिमा अजीत

वार्ता

image