Thursday, Sep 20 2018 | Time 21:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ओडिशा में कई परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे मोदी
  • हाई-प्रोफाइल सुसाइड मामले में पैरवी करने पहुंचे चिदम्बरम
  • झारखंड में हो रहा 60 हजार करम पौधों का रोपण : रघुवर
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
  • सफाईकर्मी करेंगे 21 से 25 सितम्बर तक भूख हड़ताल
  • आनंदपुर साहिब -नैना देवी रोपवे प्रोजेक्ट को मंजूरी
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
  • कार और ट्रक की टक्कर में तीन की मौत
  • राजकीय सम्मान के साथ शहीद नरेंद्र सिंह का अंतिम संस्कार
  • नदीम ने 10 ओवर में 10 रन पर झटके आठ विकेट
  • एस्मा के तहत निलम्बन के खिलाफ रोडवेज कर्मियों की भूख हड़ताल
  • हरियाणा में 23-25 अक्तूबर तक होगा खेल महाकुम्भ
  • अफगानिस्तान ने बंगलादेश को दी 256 की चुनौती
  • अफगानिस्तान ने बंगलादेश को दी 256 की चुनौती
  • डंपर घोटाला : शिवराज के खिलाफ दायर याचिका खारिज
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच Share

शंकर और जयकिशन के बीच भी हुयी थी अनबन

शंकर और जयकिशन के बीच भी हुयी थी अनबन

. जयकिशन की पुण्यतिथि 12 सितंबर
मुंबई 11 सितंबर (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में सर्वाधिक कामयाब संगीतकार जोड़ी शंकर -जयकिशन ने अपने सुरों के जादू से श्रोताओं को कई दर्शकों तक मंत्रमुग्ध किया और उनकी जोड़ी एक मिसाल के रूप में ली जाती थी लेकिन एक वक्त ऐसा भी आया जब दोनो के बीच अनबन हो गयी थी ।

शंकर और जयकिशन ने एक दूसरे से वादा किया था कि वह कभी किसी को नहीं बतायेंगे कि धुन किसने बनायी है लेकिन एक बार जयकिशन इस वादे को भूल गये और मशहूर सिने पत्रिका फिल्मफेयर के लेख में बता दिया कि फिल्म संगम के गीत.. ये मेरा प्रेम पत्र पढ़कर कि तुम नाराज न होना.. की धुन उन्होंने बनाई थी ।
इस बात से शंकर काफी नाराज भी हुये।
बाद में पार्श्वगायक मोहम्मद रफी के प्रयास से शंकर और जयकिशन के बीच हुये मतभेद को कुछ हद तक कम किया जा सका ।

शंकर सिंह रघुवंशी का जन्म 15 अक्तूबर 1922 को पंजाब में हुआ था।
बचपन के दिनों से ही शंकर संगीतकार बनना चाहते थे और उनकी रूचि तबला बजाने में थी।
उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा बाबा नासिर खानसाहब से ली थी ।
इसके साथ ही उन्होंने हुस्न लाल भगत राम से भी संगीत की शिक्षा ली थी ।
अपने शुरूआती दौर मे शंकर ने सत्यनारायण और हेमावती द्धारा संचालित एक थियेटर ग्रुप में काम किया ।
इसके साथ ही वह पृथ्वी थियेटर के
सदस्य भी बन गये जहां वह तबला बजाने का काम किया करते थे ।
इसके साथ ही पृथ्वी थियेटर के नाटकों मे वह छोटे मोटे रोल भी किया करते थे ।

जयकिशन का पूरा नाम जयकिशन दयाभाई पांचाल था।
उनका जन्म चार नवम्बर 1929 को गुजरात के वंसाडा में हुआ था ।
जयकिशन हारमोनियम बजाने में निपुण थे और उन्होंने वाडीलालजी.प्रेम शंकर नायक और विनायक तांबे से शास्त्रीय संगीत की शिक्षा ली थी हलांकि वह अभिनेता बनना चाहते थे।
अभिनेता बनने का सपना लिये जयकिशन ने मुंबई का रूख किया जहां वह एक फैक्ट्री में टाइमकीपर..समयपाल.. की नौकरी करने लगे ।
उसी दौरान उनकी मुलाकात शंकर से हुयी।
शंकर की सिफारिश पर जयकिशन को पृथ्वी थियेटर में हारमोनियम बजाने के लिये नियुक्त कर लिया गया ।

वर्ष 1948 में राजकपूर की पहली फिल्म आग में शंकर-जयकिशन ने संगीतकार राम गांगुली के सहायक के तौर पर काम किया।
बाद में राजकपूर और राम गांगुली के बीच किसी बात को लेकर मतभेद हो गया।
उन दिनों राजकपूर अपनी नयी फिल्म बरसात की तैयारी कर रहे थे।
राजकपूर ने शंकर जयकिशन को मिलने का न्योता भेजा ।
राज कपूर शंकर जयकिशन के संगीत बनाने के अंदाज से काफी प्रभावित हुये और उन्होंने शंकर जयकिशन से अपनी फिल्म बरसात में संगीत देने की पेशकश की ।

फिल्म बरसात मे शंकर-जयकिशन की जोड़ी ने जिया बेकरार है और बरसात में हमसे मिले तुम सजन जैसे सुपरहिट संगीत दिया ।
फिल्म बरसात की कामयाबी के बाद शंकर जयकिशन बतौर संगीतकार अपनी पहचान बनाने मे सफल हो गये ।
इसे महज एक संयोग ही कहा जायेगा कि फिल्म बरसात से ही गीतकार शैलेन्द्र और हसरत जयपुरी ने भी अपने सिने कैरियर की शुरूआत की थी ।
फिल्म बरसात की कामयाबी के बाद राजकपूर हसरत जयपुरी और शंकर जयकिशन की जोड़ी ने कई फिल्मो मे एक साथ काम किया ।

शंकर जयकिशन की जोड़ी गीतकार हसरत जयपुरी और शैलेन्द्र के साथ काफी पसंद की गयी।
शंकर .जयकिशन सर्वाधिक नौ बार सर्वश्रेष्ठ संगीतकार के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।
शंकर की जोड़ी जयकिशन के साथ वर्ष 1971 तक कायम रही।
12 सितंबर 1971 को जयकिशन इस दुनिया को अलविदा कह गये।
अपने मधुर
संगीत से श्रोताओं को भावविभोर करने वाले संगीतकार शंकर भी 26 अप्रैल 1987 को इस दुनिया को अलविदा कह
गये ।


वार्ता

दर्शकों

दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी करीना ने

( जन्मदिन 21 सितंबर के अवसर पर )
मुंबई 20 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड में करीना कपूर को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अभिनेत्रियों को फिल्मों में परंपरागत रूप से पेश किये जाने के तरीके को बदलकर अपने बिंदास अभिनय से दर्शकों के बीच अपनी खास पहचान बनायी।

भंसाली

भंसाली की फिल्म में फिर काम करेगी प्रियंका

मुंबई 20 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड की देशी गर्ल प्रियंका चोपड़ा, संजय लीला भंसाली की फिल्म में फिर काम करती
नजर आ सकती है।

कृष

कृष 4 का निर्देशन करेंगे संजय गुप्ता

मुंबई 17 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने निर्देशक संजय गुप्ता कृष 4 का निर्देशन कर सकते हैं।

भारतीय

भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष ताराचंद बड़जात्या

(पुण्यतिथि 21 सितंबर के अवसर पर)
मुंबई 20 सितंबर(वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष तारा चंद बड़जात्या का नाम एक ऐसे फिल्मकार के रूप में याद किया जाता है जिन्होंने पारिवारिक और साफ सुथरी फिल्म बनाकर लगभग चार दशकों तक सिने दर्शकों केदिल में अपनी खास पहचान बनायी।

मेघना

मेघना गुलजार की फिल्म में काम करेगी दीपिका

मुंबई 20 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड की डिंपल गर्ल दीपिका पादुकोण, मेघना गुलजार की फिल्म में काम करती नजर आ
सकती हैं।

कला

कला और व्यावसायिक सिनेमा को नयी ऊंचाई दी शबाना आजमी ने

..जन्मदिवस 18 सितंबर के अवसर पर..
मुम्बई 18 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड की सुप्रसिद्ध अभिनेत्री शबाना आजमी उन अभिनेत्रियों में शामिल हैं. जिन्होंने कला फिल्मों के साथ व्यावसायिक फिल्मों में भी अपनी विशेष पहचान बनाई है।

हॉलीवुड

हॉलीवुड फिल्म में काम करेगी राधिका आप्टे

नयी दिल्ली 17 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री राधिका आप्टे हॉलीवुड फिल्म में काम करती नजर आ सकती है।

आमिर

आमिर खान को सबसे मेहनती अभिनेता मानते हैं गोविंदा

मुंबई 20 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता गोविंदा मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान को सबसे मेहनती अभिनेता
मानते हैं।

शाहरूख

शाहरूख के साथ जोड़ी जमायेगी भूमि पेडनेकर

मुंबई 16 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर किंग खान शाहरूख खान के साथ जोड़ी जमाती नजर आ सकती है।

बत्ती

बत्ती गुल मीटर चालू की स्क्रिप्ट से बेहद प्रभावित हुये शाहिद कपूर

मुंबई 20 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता शाहिद कपूर का कहना है कि वह अपनी आने वाली फिल्म ‘बत्ती गुल मीटर चालू’ की स्क्रिप्ट से बेहद प्रभावित हुये थे।

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

..जन्मदिवस 29 अगस्त के अवसर पर ..
मुंबई 28 अगस्त(वार्ता)किंग ऑफ पॉप माइकल जैक्सन को ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने पॉप संगीत की दुनिया को पूरी तरह बदलकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनायी है।

माय वर्जिन डायरी डिजिटल प्लेटफार्म पर मचा रही धूम

माय वर्जिन डायरी डिजिटल प्लेटफार्म पर मचा रही धूम

नयी दिल्ली 25 मार्च (वार्ता) दिल्ली विश्वविद्यालय के हिन्दू कॉलेज के छात्रों की जिंदगी पर आधारित फिल्म माय वर्जिन डायरी डिजिटल प्लेटफार्म जिओ सिनेमा, एयरटेल मूवीज, बिगफ्लिक्स, चिल्क्स, हंगामा मूवी, नेट्टीवुड आदि के जरिये वैश्विक स्तर पर धूम मचा रही है।

अभिनेता बनना चाहते थे मुकेश

अभिनेता बनना चाहते थे मुकेश

..पुण्यतिथि 27 अगस्त के अवसर पर ..
मुंबई 26 अगस्त (वार्ता)भारतीय सिनेमा जगत में मुकेश ने भले ही अपने पार्श्व गायन से लगभग तीन दशक तक श्रोताओं को दीवाना बनाया लेकिन वह अपनी पहचान अभिनेता के तौर पर बनाना चाहते थे।

भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष ताराचंद बड़जात्या

भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष ताराचंद बड़जात्या

(पुण्यतिथि 21 सितंबर के अवसर पर)
मुंबई 20 सितंबर(वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष तारा चंद बड़जात्या का नाम एक ऐसे फिल्मकार के रूप में याद किया जाता है जिन्होंने पारिवारिक और साफ सुथरी फिल्म बनाकर लगभग चार दशकों तक सिने दर्शकों केदिल में अपनी खास पहचान बनायी।

दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी करीना ने

दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी करीना ने

( जन्मदिन 21 सितंबर के अवसर पर )
मुंबई 20 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड में करीना कपूर को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अभिनेत्रियों को फिल्मों में परंपरागत रूप से पेश किये जाने के तरीके को बदलकर अपने बिंदास अभिनय से दर्शकों के बीच अपनी खास पहचान बनायी।

image