Saturday, Nov 23 2019 | Time 03:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • दीनबंधु छोटू राम थे अखंड भारत के प्रबल समर्थक : प्रो यादव
  • स्वर्गाश्रम में गंगा तट पर अतिक्रमण के मामले में डीएम से मांगी रिपोर्ट
  • हरियाणा में पराली प्रबंधन करने वाले किसानों को जल्द मिलेगी आर्थिक सहायता
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


एक दिन बिक जायेगा के लिये राजकपूर ने दिये थे 1000 रुपये

एक दिन बिक जायेगा के लिये राजकपूर ने दिये थे 1000 रुपये

.. पुण्यतिथि 24 मई के अवसर पर ..
मुंबई, 23 मई (वार्ता) महान शायर और गीतकार मजरूह सुल्तानपुरी को अपने रचित गीत ‘एक दिन बिक जायेगा माटी के मोल’ के लिये शोमैन राजकपूर ने 1000 रुपये दिये थे।

मजरूह सुल्तान पुरी का जन्म उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर शहर मे एक अक्तूबर 1919 को हुआ था।
उनके पिता एक सब इंस्पेक्टर थे और वह मजरूह सुल्तान पुरी को ऊंची से ऊंची तालीम देना चाहते थे।
मजरूह सुल्तानपुरी ने लखनऊ के तकमील उल तीब कॉलेज से यूनानी पद्धति की मेडिकल की परीक्षा उत्तीर्ण की और बाद मे वह हकीम के रूप में काम करने लगे।

बचपन के दिनों से ही मजरूह सुल्तान पुरी को शेरो-शायरी करने का काफी शौक था और वह अक्सर सुल्तानपुर में हो रहे मुशायरों में हिस्सा लिया करते थे जिनसे उन्हें काफी नाम और शोहरत मिली।
उन्होंने अपनी मेडिकल की प्रेक्टिस बीच में ही छोड़ दी और अपना ध्यान शेरो-शायरी की ओर लगाना शुरू कर दिया।
इसी दौरान उनकी मुलाकात मशहूर शायर जिगर मुरादाबादी से हुयी।

वर्ष 1945 में सब्बो सिद्धकी इंस्टीट्यूट द्वारा संचालित एक मुशायरे में हिस्सा लेने मजरूह सुल्तान पुरी बम्बई आये।
मुशायरे के कार्यक्रम में उनकी शायरी सुन मशहूर निर्माता ए.आर.कारदार काफी प्रभावित हुये और उन्होंने मजरूह सुल्तानपुरी से अपनी फिल्म के लिये गीत लिखने की पेशकश की।
मजरूह सुल्तानपुरी ने कारदार साहब की इस पेशकश को ठुकरा दिया क्योंकि फिल्मों के लिये गीत लिखना वह अच्छी बात नहीं समझते थे।

जिगर मुरादाबादी ने मजरूह सुल्तानपुरी को तब सलाह दी कि फिल्मों के लिये गीत लिखना कोई बुरी बात नहीं है।
गीत लिखने से मिलने वाली धन राशि में से कुछ पैसे वह अपने परिवार के खर्च के लिये भेज सकते हैं।
जिगर मुरादाबादी की सलाह पर मजरूह सुल्तानपुरी फिल्म में गीत लिखने के लिये राजी हो गये।
संगीतकार नौशाद ने मजरूह सुल्तानपुरी को एक धुन सुनायी और उनसे उस धुन पर एक गीत लिखने को कहा।

मजरूह सुल्तान पुरी ने उस धुन पर .. जब उनके गेसू बिखराये बादल आये झूम के .. गीत की रचना की।
मजरूह के गीत लिखने के अंदाज से नौशाद काफी प्रभावित हुये और उन्होंने अपनी नयी फिल्म ..शाहजहां .. के लिये गीत लिखने की पेशकश की।

फिल्म शाहजहां के बाद महबूब खान की ..अंदाज.. और एस फाजिल की ..मेहन्दी.. जैसे फिल्म मे अपने रचित गीतों की सफलता के बाद मजरूह सुल्तानपुरी बतौर गीतकार फिल्म जगत मे अपनी पहचान बनाने मे सफल हो गये।
अपनी वामपंथी विचार धारा के कारण मजरूह सुल्तानपुरी को कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।
कम्युनिस्ट विचारों के कारण उन्हें जेल भी जाना पड़ा।
मजरूह सुल्तानपुरी को सरकार ने सलाह दी कि यदि वह माफी मांग लेते हैं तो उन्हें जेल से आजाद कर दिया जायेगा लेकिन मजरूह सुल्तानपुरी इस बात के लिये राजी नहीं हुये और उन्हें दो वर्ष के लिये जेल भेज दिया गया।

जेल मे रहने के कारण मजरूह सुल्तानपुरी के परिवार की माली हालत काफी खराब हो गयी।
राजकपूर ने उनकी सहायता करनी चाही लेकिन मजरूह सुल्तानपुरी ने उनकी सहायता लेने से मना कर दिया।
इसके बाद राजकपूर ने उनसे एक गीत लिखने की पेशकश की।
मजरूह सुल्तान पुरी ने ..एक दिन बिक जायेगा माटी के मोल ..गीत की रचना की जिसके एवज मे राजकपूर ने उन्हें एक हजार रूपये दिये।
वर्ष 1975 में राजकपूर ने अपनी फिल्म धरम-करम के लिये इस गीत का इस्तेमाल किया।

लगभग दो वर्ष तक जेल मे रहने के बाद मजरूह सुल्तानपुरी ने एक बार फिर से नये जोशो-खरोश के साथ काम करना शुरू कर दिया।
वर्ष 1953 में प्रदर्शित फिल्म फुटपाथ और आर-पार में अपने रचित गीतों की कामयाबी के बाद मजरूह सुल्तानपुरी फिल्म इंडस्ट्री मे पुन: अपनी खोई हुयी पहचान बनाने मे सफल हो गये।

मजरूह सुल्तानपुरी के महत्वपूर्ण योगदान को देखते हुये वर्ष 1993 में उन्हें फिल्म जगत के सर्वोच्च सम्मान दादा साहब फाल्के पुरस्कार से नवाजा गया।
इसके अलावा वर्ष 1964 मे प्रदर्शित फिल्म ..दोस्ती .. में अपने रचित गीत ..चाहूंगा मै तुझे सांझ सवेरे ..के लिये वह सर्वश्रेष्ठ गीतकार के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किये गये।

मजरूह सुल्तान पुरी ने चार दशक से भी ज्यादा लंबे सिने कैरियर मे लगभग 300 फिल्मों के लिये लगभग 4000 गीतों की रचना की।
अपने रचित गीतों से श्रोताओं को भावविभोर करने वाले महान शायर और गीतकार 24 मई
2000 को इस दुनिया को अलविदा कह गये।

 

शादी

शादी के बाद खाना बनाने में एक्सपर्ट हो गयी हैं सोनम : अनिल कपूर

मुबई 22 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता अनिल कपूर का कहना है कि उनकी बेटी सोनम कपूर शादी के बाद खाना बनाने में एक्सपर्ट हो गयी हैं।

जवानी

जवानी जानेमन से डेब्यू करेंगी पूजा बेदी की बेटी अलिया फर्नीचरवाला

मुंबई 22 नवंबर (वार्ता) जानी मानी अभिनेत्री पूजा बेदी की बेटी अलिया फर्नीचरवाला फिल्म ‘जवानी जानेमन’ से बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रही है।

जैकलीन

जैकलीन और विक्की को सबसे खराब को-स्टार मानती है तापसी !

मुबई 22 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री तापसी पन्नू, विक्की कौशल और जैकलीन फर्नांडीस को सबसे खराब को-स्टार मानती है।

जर्सी

जर्सी के लिए क्रिकेट की ट्रेनिंग ले रहे हैं शाहिद कपूर

मुंबई 22 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड के चॉकलेटी हीरो शाहिद कपूर अपनी आने वाली फिल्म ‘जर्सी’ के लिये क्रिकेट की ट्रेनिंग ले रहे हैं।

पटना,गोरखपुर

पटना,गोरखपुर में स्थापित हो एनएसडी केन्द्र: रविकिशन

नयी दिल्ली, 22 नवंबर (वार्ता) भोजपुरी सिनेमा के मेगास्टार और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद रवि किशन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात कर उनसे पटना और गोरखपुर में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) का केन्द्र स्थापित करने का आग्रह किया है।

भारतीय

भारतीय सिनेमा के गांधी थे वही शांताराम

पणजी, 21 नवंबर (वार्ता) महान फिल्मकार वही शांताराम के पुत्र किरण शांताराम को इस बात का गहरा दुख है कि केंद्र सरकार ने उनके पिता की विरासत एवं स्मृति को सुरक्षित करने के लिए कोई उल्लेखनीय कार्य आज तक नही किया।

महिलाओं

महिलाओं की फिटनेस के लिए कैटरीना का नया अभियान

नयी दिल्ली, 21 नवंबर(वार्ता) फिटनेस और जीवनशैली के अग्रणी ब्रांड रीबाक ने ब्रांड एंबेसडर कैटरीना कैफ के साथ ‘शी गाट री’ नया अभियान शुरु किया है।

रियल

रियल लाइफ में बेहद स्वीट इंसान हैं ऋषि कपूर : इमरान हाशमी

मुंबई, 21 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता इमरान हाशमी का कहना है कि ऋषि कपूर रियल जिंदगी में गुस्सैल नही बल्कि बेहद स्वीट इंसान हैं।

सलमान

सलमान ने तानाजी: द अनसंग वॉरियर के ट्रेलर की तारीफ की

मुंबई, 21 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान ने अजय देवगन की आने वाली फिल्म तानाजी: द अनसंग वॉरियर के ट्रेलर की तारीफ की है।

आमिर

आमिर खान को पसंद आया ‘गुड न्यूज’ का ट्रेलर

मुंबई, 21 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान को अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म ‘गुड न्यूज’ का ट्रेलर बेहद पसंद आया है।

पटना,गोरखपुर में स्थापित हो एनएसडी केन्द्र: रविकिशन

पटना,गोरखपुर में स्थापित हो एनएसडी केन्द्र: रविकिशन

नयी दिल्ली, 22 नवंबर (वार्ता) भोजपुरी सिनेमा के मेगास्टार और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद रवि किशन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात कर उनसे पटना और गोरखपुर में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) का केन्द्र स्थापित करने का आग्रह किया है।

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

नयी दिल्ली 15 जनवरी (वार्ता) दिल्ली में भी फिल्म उद्योग स्थापित करने के मकसद से पहले डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह एवं विपणन 2019 की कल रात यहां देश-विदेश के फिल्मी जगत के लोगों की मौजूदगी में शुरूआत हुयी।

image